Update CM Defamation: कागज में “डॉक्टर” ने किया हेर—फेर

Share

Update CM Defamation: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की कोरोना रिपोर्ट को लेकर भ्रामक जानकारी देने वाले आरोपी के खिलाफ क्राइम ब्रांच का शिकंजा

CM Defamation Case
भोपाल क्राइम ब्रांच में गिरफ्तार मानहानि मामले का आरोपी डॉक्टर राजन सिंह (बीच में) File Photo

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Update CM Defamation) की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट को लेकर भ्रामक बयान जारी करने वाले व्यक्ति के खिलाफ क्राइम ब्रांच ने शिकंजा कस दिया है। उसके खिलाफ भोपाल क्राइम ब्रांच (Bhopal Crime Branch News) ने पहले मानहानि का मुकदमा दर्ज किया था। अब इस मुकदमे के बाद क्राइम ब्रांच ने दूसरा मुकदमा जालसाजी (Bhopal Fraud Case) का दर्ज किया है। कथित डॉक्टर राजन सिंह (Dr Rajan Singh Case) के कांग्रेस नेता होने और उसकी डिग्री को लेकर यह मुकदमा दर्ज हुआ है।

लोन लेकर हड़प लिया

क्राइम ब्रांच ने बताया है कि आरोपी रिवेयरा टाउन में किराए से रहता है। उसकी आय का स्रोत पता लगाया जा रहा है। आरोपी डॉक्टर उर्फ राजन सिंह ([email protected] Singh) पिता लक्ष्मण सिंह उम्र 21 है। वह मूलत: बिहार का रहने वाला है। जांच में पता चला है कि राजन सिंह ने एम्स नर्सिग स्टाफ में तैनात आदित्य (Aditya Nursing Staff) से दोस्ती करके उसको एचडीएफसी से 10 लाख रुपए का लोन दिलाया था। इस लोन की रकम में से उसने 8 लाख रुपए हड़प (HDFC Loan Fraud Case) लिए थे। लोन लेने के लिए आदित्य के दस्तावेजों का इस्तेमाल किया गया था।

सोशल मीडिया पर गलत जानकारी

क्राइम ब्रांच ने बताया कि सोशल मीडिया पर राजन सिंह की दी गई जानकारी गलत (Rajan Singh Fake Information) है। फर्जी दस्तावेजों की मदद से वह अलग—अलग पार्टी का कार्यकर्ता होने का दावा करता था। राजन सिंह ने दिल्ली यूनिवर्सिटी से संबंद्ध आर्यभट्ट कॉलेज (Arya Bhatt College) से ग्रेजुएशन का दावा करता था। जबकि हकीकत यह है कि अंतिम सेमेस्टर की परीक्षा में नियमों की वजह से वह परीक्षा में शामिल नहीं हो सका। राजन ने कुपोषण समिति का पूर्व अध्यक्ष बताया था। जबकि इस तरह की कोई संस्था पंजीकृत नहीं है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Cheating Case: मेट्रीमोनियल साइट का धोखेबाज "हस्बेंड"

यह भी पढ़ें: चिरायु अस्पताल की छत में चल रहा डांस बता रहा है कि कोरोना के वायरस को लेकर मरीज अब नहीं घबराते

इसलिए सुर्खियों में आया राजन

डॉक्टर राजन सिंह ने पिछले दिनों मीडिया में सनसनीखेज बयान दिया था। उसने दावा किया था कि चिरायु अस्पताल (Chirayu Hospital News) ने आईसीएमआर की गाइड लाइन का उल्लंघन किया है। अस्पताल ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan Covid-19 Bulletin Houmour News) की कोविड रिपोर्ट पर जानकारी छुपाई। राजन सिंह कथित आरोप था कि मुख्यमंत्री कोरोना पॉजिटिव नहीं है। यह राजनीतिक ड्रामा बताकर उसने मध्य प्रदेश की राजनीति में तहलका मचा दिया था। जिसके बाद भोपाल क्राइम ब्रांच ने उसके खिलाफ जालसाजी (Dr Rajan Singh Cheating Case) का मुकदमा दर्ज किया था। इस मुकदमे के बाद क्राइम ब्रांच ने उसको शांति भंग की आशंका में गिरफ्तार किया था।

यह भी पढ़ें: पुलिस से एफआईआर मांगी तो बुजुर्ग को भूखे सोने के लिए मजबूर कर दिया

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!