पूर्व मंत्री अजय विश्नोई ने सीएम से पूछा- क्यों वीआईपी चिरायु में जाने को मजबूर

Share

‘मुख्यमंत्री इलाज के साथ-साथ देखें भी कि चिरायु में ऐसा क्या है’

Ajay Vishnoi
अजय विश्नोई, पूर्व मंत्री

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोविड-19 सेंटर बनाए गया चिरायु हॉस्पिटल (Chirayu Hospital) चर्चाओं में बना हुआ है। प्रायवेट हॉस्पिटल को डेडिकेटेड कोरोना हॉस्पिटल बनाए जाने पर सवाल उठ रहे है। मंगलवार को ही डॉ राजन सिंह (Dr. Rajan Singh) नाम के युवक ने चिरायु अस्पताल को लेकर सवाल उठाए थे। हालांकि गंभीर आरोप लगाने के बाद डॉ. राजन के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई। लेकिन आज तो पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और भाजपा विधायक अजय विश्नोई (Ajay Vishnoi) ने ही चिरायु अस्पताल को लेकर तंज कस दिया। जानकारों का कहना है कि विश्नोई ने इशारों-इशारों में साठगांठ की तरफ इशारा भी किया है।

अजय विश्नोई का ट्वीट

‘मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी चिरायु अस्पताल में स्वास्थ्य लाभ कर रहे हैं। मेरी शुभकामना है, शीघ्र स्वस्थ होकर वापस लौटे। साथ ही माननीय मुख्यमंत्री जी से अनुरोध है, चिरायु अस्पताल में रहते हुए यह भी देखें कि चिरायु में ऐसा क्या है जो हम नो लिमिट बजट और सतत मॉनिटरिंग के बाद भी प्रदेश के एक भी शासकीय मेडिकल कॉलेज 4 माह में नहीं बना पाए। क्यों प्रदेश के सभी वीआईपी चिरायु की शरण में जाने मजबूर है।‘

मंत्रिमंडल विस्तार और विभागों के बंटवारे को लेकर अजय विश्नोई ने कहीं थी ये बात

कांग्रेस का कटाक्ष

अजय विश्नोई के ट्वीट से एक बार फिर कांग्रेस को निशाना साधने का मौका मिल गया है। कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी ने अजय विश्नोई के ट्वीट को ही रिट्वीट करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से सवाल पूछा। उन्होंने लिखा कि- चिरायु अस्पताल से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सरकार का अतिशय प्रेम और सरकारी अस्पताल के प्रति पूरी केबिनेट की बेरुखी को लेकर भाजपा के वरिष्ठ नेता अजय विश्नोई ने कुछ सवाल किया है। उम्मीद है माननीय मुख्यमंत्री शिवराज जी इसका जवाब अतिशीघ्र देंगे।

यह भी पढ़ें:   MP Politics : मंत्रिमंडल का गठन टला, भाजपा ने बनाई टास्क फोर्स

पढ़िएः डॉ राजन सिंह ने मुख्यमंत्री और चिरायु अस्पताल को लेकर ऐसा क्या कह दिया जो केस दर्ज हुआ

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।
Don`t copy text!