Bhopal Molestation Case: पूर्व गृहमंत्री की सिफारिश पर दर्ज हुई छेड़छाड़ की एफआईआर

Share

Bhopal Molestation Case: महिला लैब टेक्निीशियन को कर रहा था मनचला परेशान, पुलिस नहीं कर रही थी सुनवाई

Bhopal Molestation Case
                            सांकेतिक चित्र

भोपाल। देश में महिलाओं से जुड़ी घटनाओं को लेकर सरकार संवेदनशील होने का दावा करती है। इसको लेकर शहर में हर चौराहों पर पोस्टर चिपकाएं गए है। लेकिन, मैदानी हकीकत दूसरी है। घटना मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से सामने आई है। यहां एक व्यक्ति महिला लैब तकनीशियन को परेशान कर रहा (Bhopal Molestation Case) था। जब वह थाने पहुंची तो उसको नजरअंदाज किया गया। नतीजतन, पीड़ित परिवार को पूर्व गृहमंत्री (Former Home Minister) से मदद लेना पड़ी। जहां से हुए फोन के बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया।

कार का पीछा करके कर रहा था परेशान

टीटी नगर थाना पुलिस ने बताया 32 वर्षीय महिला ने गुरूवार रात 10:30 बजे थाने में छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज (Bhopal Bulling Case) कराया है। महिला थाना क्षेत्र की रहने वाली है। पति प्रायवेट जॉब करता है। महिला लैब शिवाजी नगर स्थित एक बड़े अस्पताल में तकनीशियन है। गुरुवार रात आठ बजे महिला पति और बच्चे के साथ घर जा रही थी। परिवार कार में सवार था। तभी बाइक सवार एक व्यक्ति उनका पीछा करने लगा। आरोपी महिला को अश्लील इशारे कर रहा था। यह उसने कार के कांच में देखा। महिला ने उसकी हरकतों को नजरअंदाज कर दिया था। लेकिन, वह लगातार उसकी गाड़ी का पीछा कर रहा था। महिला ने पति को इस बारे में बताया और माता मंदिर चौराहे पर गाड़ी खड़ी कर दी।

यह भी पढ़ें: पॉलिसी के बहाने ऐंजेट को कमरे में बुलाया फिल किया ऐसा काम

आरोपी हुआ दोनों पर हावी

महिला ने बताया आरोपी से जब पति ने उससे परेशानी पूछी तो वह बदतमीजी करने लगा। कार चालक पति से बोला तुम्हारी पत्नी इतनी भी सुंदर नहीं कि मैं उसे इशारे करूंगा। बातों—बातों में दोनों के बीच विवाद छिड़ गया। आरोपी गाली—गलौज करने लगा। महिला ने गाली देने के मना किया तो आरोपी ने उसे धक्का देकर जमीन पर गिरा दिया। इसी बात पर दोनों के बीच सड़क पर मारपीट शुरू हो गई।

यह भी पढ़ें:   Rameshwar Sharma : सुनिए वह ऑडियो जिसके कारण दर्ज हुई एफआईआर

गाड़ी के नंबर से पता चला नाम

महिला ने बताया इसी बीच वहां लोगों की भीड़ जमा हो गई थी। भीड़ में से एक व्यक्ति आया और आरोपी का नाम मोनू पुकारा। उसने विवाद खत्म करने के लिए बोला। महिला के पति का फोन जमीन पर गिर गया। उसी फोन को उठाकर महिला ने आरोपी की बाइक का फोटो खींच लिया। यह देख आरोपी गाड़ी उठाकर मौके से भाग गया। गाड़ी नंबर के आधार पर आरोपी का नाम कौशलेश मौर्य दिखा रहा था। महिला थाने पहुंची तो पुलिस ने शिकायत लिखने से इंकार कर दिया।

ऐसे दर्ज हुआ मामला

महिला ने बताया टीटी नगर थाना पुलिस ने शिकायत दर्ज करने से इंकार कर दिया। उसे वहां से जाने को बोला गया। साथ ही महिला पुलिस कर्मी का बोलना था आप क्या करोगी शिकायत करके आरोपी तो आराम से छूट जाएगा। महिला को दो घंटे थाने में बैठे रहना पड़ा। महिला को पूर्व मंत्री उमा शंकर गुप्ता (Former Home Minister Uma Shankar Gupta) को फोन करना पड़ा। पूर्व मंत्री के फोन पहुंचते ही पुलिस ने मोनू उर्फ कौशलेश मौर्य के खिलाफ धारा (354घ/509/294/323 छेड़छाड़, धमकी, गाली—गलौज और मारपीट) का मुकदमा दर्ज किया।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Molestation Case: एक्सीलेंस कॉलेज की छात्रा से कैम्पस में छेड़छाड़

 

Don`t copy text!