MP IPS Transfer : एडीजी की जांच एसपी को सौंपी

Share

MP IPS Transfer : ज्योतिरादित्य सिंधिया के ओएसडी रहे मुकेश जैन बने ट्रांसपोर्ट ​कमिश्नर

Transport Commissioner Video
लिफाफा रखते पुलिस के अफसर और सादी वर्दी में ट्रांसपोर्ट कमिश्नर वी मधुकुमार File Photo

भोपाल। भारतीय पुलिस सेवा के अफसर व्ही मधुकुमार (V.Madhukumar Bribe Case) का मामला लोकायुक्त संगठन (Lokayukta Police News) ने संज्ञान में ले लिया है। लोकायुक्त जस्टिस एनके गुप्ता (Justice NK Gupta) ने मामले की जांच लोकायुक्त पुलिस संगठन को सौंप दी गई है। जांच उज्जैन एसपी शैलेन्द्र सिंह चौहान (SP Lokayukta Shailendra Singh Chouhan) करेंगे। शैलेन्द्र सिंह चौहान राज्य पुलिस सेवा के अफसर (MP State Police Officer) हैं। अब सवाल यही खड़ा हो रहा है कि इतने बड़े अफसर की जांच के मामले में राज्य पुलिस सेवा के अफसर कहां तक न्याय कर सकेंगे। इधर, सरकार ने मध्य प्रदेश पुलिस सेवा के अफसरों के तबादला आदेश (MP IPS Transfer) भी जारी किए हैं। इसमें अनंत कुमार सिंह (IPS Anant Kumar Singh) को लोकायुक्त संगठन में एडीजी बनाया गया है।

सिंधिया के खास होने पर मिला उपहार

ट्रांसपोर्ट कमिश्नर रहे व्ही मधुकुमार का सोशल मीडिया (MP IPS Bribe Viral Case) में एक वीडियो वायरल हुआ था। इस वीडियो में वह मैदानी अफसरों से एक—एक करके लिफाफे ले रहे थे। यह वीडियो सामने आने के बाद सरकार ने भारतीय पुलिस सेवा में 1991 बैच के अफसर व्ही मधु कुमार (IPSV.Madhukumar) को हटा दिया था। वीडियो उज्जैन आईजी (Former Ujjain IG News) रहने के दौरान बनाया गया था। अब राज्य सरकार ने व्ही मधुकुमार की जगह भारतीय पुलिस सेवा में 1989 बैच के आईपीएस मुकेश कुमार जैन (IPS Mukesh Kumar Jain) को ट्रांसपोर्ट कमिश्नर बना दिया गया है। जैन को भाजपा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (BJP Leader Jyotiraditya Scindia) का करीबी भी माना जाता है।

यह भी पढ़ें : भोपाल के एक थाने में ऐसे हैं दो नाम जिसको पुकारने में अफसर भी इन कारणों से झेंप जाते हैं

यह भी पढ़ें:   Bhopal Minor Murder: डीएनए रिपोर्ट की वजह से असली और नकली आरोपी में फंसी पुलिस

सीएम इसलिए हुए तैयार

परिवहन आयुक्त (MP Transport Commissioner) की दौड़ में भोपाल आईजी और 1991 बैच के आईपीएस एडीजी उपेन्द्र जैन (IPS Upendra Jain) का नाम भी था। हालांकि परिवहन आयुक्त मुकेश कुमार जैन बने। मुकेश कुमार जैन (IPS Mukesh Kumar Jain) भोपाल आईजी के भाई भी है। वहीं एक अन्य भाई दिलीप बिल्डकॉन (Dilip Buildcon) में नौकरी करते हैं। जिसके डायरेक्टर दिलीप सूर्यवंशी (Dilip Suryavanshi) मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) के बेहद करीबी भी है। उधर, मुकेश जैन भाजपा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के केंद्रीय मंत्री रहने के दौरान दिल्ली में संयुक्त सचिव भी रहे हैं। इसके अलावा मुकेश कुमार जैन सिंधिया के ओएसडी भी रहे हैं।

जांच पर न आ जाए आंच

व्ही मधुकुमार (V. Madhukumar Case) का मामला काफी संगीन है। लेकिन, इस मामले को लेकर आईपीएस लॉबी (MP IPS Lobby) में दो गुट बन गए हैं। इधर, उज्जैन एसपी शैलेन्द्र सिंह चौहान (SPS Shailendra Singh Chouhan) को यह जांच सौंपी गई है। शैलेन्द्र सिंह चौहान भोपाल, इंदौर समेत कई अन्य शहरों में तैनात रहे हैं। सवाल यह खड़ा हो रहा है कि राज्य पुलिस सेवा के अफसर भारतीय पुलिस सेवा के इतने बड़े अफसर की जांच सही तरीके से कर सकेंगे।

यह भी पढ़ें : मध्य प्रदेश के इस सिपाही ने सद्बुद्धि के लिए किया जाप तो अफसरों ने सरहद से बाहर फिकवा दिया

लोकायुक्त पुलिस संगठन में दो नियुक्ति

राज्य सरकार ने सोमवार रात भारतीय पुलिस सेवा के अफसरों के तबादला आदेश (MP IPS Transfer) जारी किए हैं। इन आदेशों में लोकायुक्त पुलिस संगठन को दो एडीजी स्तर के अधिकारी मिले हैं। इन अफसरों की सेवाएं सामान्य प्रशासन विभाग को सौंपी गई है। भारतीय पुलिस सेवा में 1990 बैच के आईपीएस केटी वाइफे (IPS KT Waife) को लोकायुक्त संगठन भेजा गया है। इसी तरह 1994 बैच के आईपीएस अनंत कुमार सिंह (IPS Anant Kumar Singh) को लोकायुक्त पुलिस संगठन में एडीजी बनाया गया है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: आईसीआईसीआई बैंक के रीजनल मैनेजर ने दर्ज कराई एफआईआर

सेमा को एसआईएसएफ भेजा गया

MP Ips Transfer
जी अखेतो सेमा, एडीजी, मध्यप्रदेश

एसएएफ में एडीजी भारतीय पुलिस सेवा में 1988 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार (IPS Arvind Kumar) को रेल एडीजी बनाया गया है। इसी बैच के आईपीएस अन्वेष मंगलम् (IPS Anvesh Manglam) को प्रशासन एडीजी बनाया है। वहीं प्रशासन में एडीजी रहे 1989 बैच के आईपीएस अजय कुमार शर्मा (IPS Ajay Kumar Sharma) को पुलिस हाउसिंग में एमडी बनाया गया है। भारतीय पुलिस सेवा में 1989 बैच के आईपीएस संजय व्ही माने (IPS Sanjay V. Mane) महिला अपराध में एडीजी बनाए गए हैं। एडीजी तकनीकी सेवा और भारतीय पुलिस सेवा में 1992 बैच के अफसर जी.अखेतो सेमा (IPS G.Akheto Sema)को एसआईएसएफ में एडीजी बनाया गया है। एडीजी राजाबाबू सिंह (IPS Rajababu Singh) जो भारतीय पुलिस सेवा में 1994 बैच के अफसर को संचालक पुलिस अकादमी भौंरी बनाया है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!