चंबल नदी में नाव पलटी, 11 की मौत, 25 लोगों को बचाया गया, देखें हादसे का वीडियो

Share

ओवरलोड थी नाव, बांध रखी थी 14 मोटरसाइकिल

Kota Chambal River
हादसे की तस्वीर

कोटा। राजस्थान के कोटा (Kota) जिले में बड़ा हादसा हो गया। चंबल नदी (Chambal River) में नाव पलटने से 11 लोगों की मौत हो गई। नाव नदी में जिस जगह पलटी वहां पानी करीब 40-50 फीट गहरा था। जर्जर नाव में ओवरलोड सवारी होने की वजह से हादसा हुआ। ज्यादा से ज्याद 20 लोगों की क्षमता वाली नाव में करीब 40 लोग सवार थे। ऊपर से ग्रामीणों ने नाव पर 14 बाइकें भी बांध रखी थी।

4 युवकों ने बचाई जान

हादसा कोटा जिले के इटावा में बुधवार सुबह 9 बजे हुआ। नाव को डूबता देख किनारे पर खड़े ग्रामीणों में हड़कंप मच गया। मदद के लिए चीख-पुकार की आवाज सुनकर चार युवकों ने नदी में छलांग लगा दी। जानकारी के नदी से बचकर निकले 25 लोगों में ज्यादातर को इन्हीं युवकों ने बचाया। मरने वालों में 6 पुरुष, 4 महिलाएं और एक बच्चा शामिल है।

कमलेश्वर धाम जा रहे थे

Kota Chambal River
हादसे की तस्वीर

नाव में सवार ज्यादातर लोग गोठड़ा कला गांव के रहने वाले थे। सभी लोग बूंदी जिले के कमलेश्वर धाम जा रहे थे। हादसा चाणदा और गोठड़ा गांव के बीच हुआ। घटना का वीडियो भी सामने आया है। जिसमें लोग मदद के लिए चिल्लाते सुनाई दे रहे है। बताया जा रहा है कि नाविक ने इतनी बड़ी संख्या में लोगों को बैठाने से इनकार किया था। लेकिन वो नहीं माने। हादसा होते ही नाव चलाने वाला तो तैरकर नदी के किराने पर आ गया और सवारी डूब गई।

हादसे के बाद लगभग सभी शव बरामद कर लिए गए है। एसडीआरएफ की टीम भी मौके पर पहुंच गई है। नदी का बहाव तेज होने की वजह से लोग बह गए थे। जानकारी के मुताबिक 3 लोगों की तलाश की जा रही है। 14  बाइक। 11 के शव बरामद। 22 का रेस्क्यू। नदी को पार करके बूंदी जिले जाते थे।

यह भी पढ़ें:   रिपोर्ट दर्ज कराने आई युवती पर डोली पुलिसवाले की नीयत, सुनसान जगह ले जाकर..

देखें वीडियो

कोटा में दुखद हादसा, चंबल नदी में पलटी नाव, पूरी खबर कमेंट बॉक्स में पढ़ें

Gepostet von The Crime Info am Mittwoch, 16. September 2020

सीएम अशोक गहलोत ने जताया दुख

‘कोटा में थाना खातोली क्षेत्र में चम्बल ढिबरी के पास नाव पलट जाने की घटना बेहद दुखद एवं दुर्भाग्यपूर्ण है। हादसे का शिकार हुए लोगों के परिजनों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं। कोटा प्रशासन से बात कर घटना की जानकारी ली है। तत्परता से राहत एवं बचाव के साथ ही लापता लोगों को शीघ्र ढूंढने के निर्देश दिए हैं। स्थानीय पुलिस एवं प्रशासन घटनास्थल पर मौजूद है। प्रभावित परिवारों को मुख्यमंत्री सहायता कोष से मदद के लिए निर्देश दिए हैं।’

यह भी पढ़ेंः वाटरफॉल में डूबे 6 युवक, बचाने की बजाए घर भाग गए साथी

Don`t copy text!