Bhopal Brutal Murder: 24 घंटे में तीन कत्ल की एफआईआर, क्या यह राजधानी है

Share

Bhopal Brutal Murder: जादू का शक पर सस्पेंस एमबीए कर रही लड़की पर जाकर टिका

Bhopal Brutal Murder
फाइल फोटो — थाना बागसेवनिया, भोपाल

भोपाल। बात कड़वी है पर मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal Brutal Murder) में यह कही जा रही है। पिछले 24 घण्टों में तीन लोगों की निर्मम तरीके से हत्या की तीन एफआईआर दर्ज हुई है। दो हत्यायें एक ही मिसरोद संभाग में हुई है। यहां शाहपुरा के बाद ताजा हत्या की घटना बागसेवनिया थाना क्षेत्र में हुई है। जादू—टोने का शक जताते हुए हत्या करने की बात बताई जा रही है। हालांकि सस्पेंस से एमबीए की छात्रा के बयानों से पर्दा उठेगा। शहर में हत्या करने का सिलसिला मंगलवार रात से शुरु हुआ था। पुलिस के अफसर भी हैरान हैं और उनके पास कोई ठोस जवाब भी नहीं है।

किराए से रहती थी महिला

बागसेवनिया थाना पुलिस के अनुसार हत्या करने की घटना बुधवार रात लगभग साढ़े ग्यारह बजे हुई। इलाके में संत आशाराम नगर में ज्योति गोयल (Jyoti Goel) का परिवार रहता है। ज्योति गोयल बच्चों को संभालने का काम करती है। उसकी बेटी सुहानी है जो एमबीए कर रही है। परिवार यहां राखी भाई अनिल शिंदे (Anil Shinde) के साथ रहता है। हत्या करने वाला आरोपी हितेश सरिया है। उसके पिता रेलवे में तकनीशियन हैं। आरोपी के घर में करीब 7 साल पहले ज्योति गोयल का परिवार किराए से रहता था। आरोपी हितेश ने अनिल शिंदे के शरीर पर चाकू के करीब पांच वार करके उसकी निर्मम तरीके से हत्या कर दी।

यह भी पढ़ें: इस वर्दी पहने दिल्ली के एसीपी के झांसे में न आना, वरना पूरे परिवार को पड़ेगा पछताना

यह भी पढ़ें:   MP Warehouse Scam: आलोक सारडा के खिलाफ दूसरी एफआईआर

दराते वाला चाकू खरीदा

Bhopal Brutal Murder
सांकेतिक चित्र

हितेश सरिया (Hitesh Sariya) हत्या की योजना बहुत पहले बना चुका था। उसने दराते वाला चाकू खरीदा था। उसने अनिल शिंदे के पीठ—सीने में पांच जगह घातक वार किए थे। वार इतना घातक तरीके से किया गया कि चाकू का मुठ निकल गया था। हत्या करने के बाद आरोपी ने अपने कपड़े भी जला दिए थे। ताकि पुलिस को कोई सुराग नहीं मिल सके। पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया है। शव पीएम के लिए भेज दिया गया है।

कारण पर बना हुआ है सस्पेंस

हत्या (Bhopal Brutal Murder) के पीछे ठोस वजह अभी सामने नहीं आई है। एएसपी राजेश सिंह भदौरिया (ASP Rajesh Singh Bhadouriya) ने बताया कि आरोपी हितेश सरिया को लगता था कि उसके घर में अनिल शिंदे जादू—टोना करता है। दरअसल, कुछ समय पहले हितेश के घर पर नींबू जैसी चीजें मिली थी। इधर, थाना पुलिस को लगता है कि हत्या के पीछे सुहानी (Suhani Mehra) कुछ राज की बातें जानती है। पुलिस उससे भी हत्या के पीछे वजह का पता लगाने के लिए पूछताछ करेगी। बहरहाल सुहानी की मां की शिकायत पर पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़ें: भोपाल के पूर्व महापौर जिस दल के हैं वह हिंदू समाज को लेकर आगे रहती है, लेकिन मंदिर को लेकर वे कौन सी राजनीति कर रहे

बटालियन का कॉन्सेटबल गिरफ्तार

Bhopal Brutal Murder
सातवीं बटालियन का निलंबित सिपाही अजीत चौहान

शाहपुरा इलाके में सरकारी राइफल से हत्याकांड को अंजाम देने वाले अजीत चौहान (Ajeet Chouhan) को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसने मंगलवार रात रीतेश धाकड़ (Ritesh Dhakad) की एसएलआर से गोली मारकर हत्या कर दी थी। वह मंगेतर रिंकी धाकड़ से विवाद करने उसके घर पहुंचा था। दोनों की मई में शादी होनी थी। घटना ईश्वर नगर के नजदीक सब्जी फार्म के पास हुई थी। इस हत्याकांड में आरोपी से चली गोली में मंगेतर की माँ जानकी भी जख्मी हुई थी। डीआईजी ने सातवीं बटालियन के सिपाही को सस्पेंड कर दिया था। उसके साथ चन्द्र भूषण पाराशर जो गार्ड कमांडर था उसको भी निलंबित किया था।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Suicide: मजदूर को काम नहीं मिला तो लगाई फांसी

यहां दर्ज हुई हत्या की एफआईआर

शाहपुरा, बागसेवनिया थाने के अलावा हत्या की धारा बजरिया थाना पुलिस ने भी बढ़ाई है। दरअसल, चांदबड़ इलाके में फास्ट फूड दुकान में घूरने की बात पर विवाद हुआ था। यह विवाद 1 फरवरी को हुआ था। जिसमें आरोपी कमलेश परिहार, शुभम मालवीय, शैलेंद्र परिहार, नरेंद्र परिहार, आदित्य और एक बाल अपचारी के खिलाफ मारपीट का मुकदमा दर्ज किया था। हमले में 25 वर्षीय प्रदीप अहिरवार (Pradeep Ahirwar Murder Case) जख्मी था। जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। पुलिस हमलावरों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।

Don`t copy text!