Bhopal Double Suicide: आधी रात फंदे पर लटकी मिली दो लड़कों की लाश

Share

Bhopal Double Suicide: समलैंगिक होने पर शंका, लव का ऐंगल भी सामने आया

Bhopal Double Suicide
सांकेतिक चित्र

भोपाल। आधी रात फंदे पर दो लड़कों की लाशें (Bhopal Double Suicide) लटकी मिली हैं। एक ही कॉलोनी में एक साथ लाश मिलने से तरह—तरह की बातें होने लगी। घटना मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal Double Hanging) की हैं। जांच में दोनों के बीच गहरी दोस्ती निकल आई। मामले ने नया मोड़ ले लिया। धीरे—धीरे बात परिवार तक पहुंची। फिर नई कहानी के साथ तथ्य पुलिस के सामने आ गया। उसमें बताया गया कि दोनों की गर्ल फ्रेंड थी जो अलग—अलग थी। बहरहाल, एक साथ दो आत्महत्या के इस मामले में अभी भी स्थिति साफ नहीं है। पुलिस ने दोनों युवकों के शव पीएम के बाद परिजनों को सौंप दिए हैं।

गरीब घरों में रहता है परिवार

पिपलानी थाना पुलिस ने बताया कि मंगलवार—बुधवार की दरमियानी रात दो लड़कों की लाश पेड़ में लटकी होने की सूचना थाने में मिली थी। जांच अधिकारी एसआई अरूण शर्मा ने बताया दोनों की पहचान राजा जाटव पिता स्वर्गीय जमना प्रसाद उम्र 20 साल और समीर बेन पिता अनिल बेन उम्र 20 साल के रूप में हुई हैं। दोनों पुराना शिव नगर के रहने वाले थे। राजा इंडस्ट्रीयल एरिया में गाड़ियां धोने का काम करता था। जबकि समीर बेन ने घर में सुअर पाल रखे थे। वह सुअरोें को चराने का काम करता था। दोनों का घर आस—पास ही था। इसलिए कॉलोनी में कई तरह की बातें हो रही थी।

यह भी पढ़ें: दिल्ली के इस आईपीएस अफसर के कारनामे, सेना के जवान का परिवार आ गया था झांसे में

यह भी पढ़ें:   Covid Medical Bulletin: भोपाल में पांच मरीज मिले, दो की पुष्टि हुई

सम पर विषम संकट

जोन—2 एएसपी राजेश सिंह भदौरिया ने बताया कि राजा जाटव और समीर बेन दोनों हम उम्र थे। लंबे समय से दोनों के बीच गहरी दोस्ती भी थी। लेकिन, जब समलैंगिक होने का सवाल पूछा गया तो एएसपी ने कहा अभी यह बोलना जल्दबाजी होगी। हालांकि हमारी जांच का एक बिंदु यह भी है। हमें पीएम रिपोर्ट मिलने का इंतजार है। जिसके बाद जांच के बिंदु तय किए जाएंगे। जबकि टीआई चैन सिंह रघुवंशी ने बताया कि दोनों के लड़कियों से प्रेम संबंध का पता चला है। लड़कियों के बयान होने के बाद ही घटना की स्थिति साफ होगी। घटना स्थल से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। दोनों घर से काम का बोलकर निकले थे।

पुलिस मांगती है रिपोर्ट

जब देर रात घर नहीं तो परिजनों ने दोनों की खोजबीन करना शुरू की थी। दोनों के शव पीएम के बाद परिजनों को सौंप दिए है। पीएम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस जांच के बिंदु तय करेगी। फोरेंसिक डॉक्टर अशोक शर्मा ने बताया कि समलैंगिक है अथवा नहीं का पता लगाने के लिए एनल क्वाइटर जांच करना होती है। यह जांच थाना पुलिस कहती है तो ही हम करते हैं। मौत होने की अवस्था में हमें तुरंत भी समलैंगिक होने के परिणाम नहीं मिलते हैं। लेकिन, लंबी जांच में यह साबित होता है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!