MP Farmer Gift News: किसान भाईयों आप केवल अपना खाता देखो: मुख्यमंत्री

Share

MP Farmer Gift News:  चौथे साल का एक साल पूरा होने के बाद लॉक डाउन के फैसले पर मुख्यमंत्री की ऐसी है राय

MP Farmer Gift
आगर में सभा को संबोधित करते सीएम शिवराज

भोपाल। मध्य प्रदेश (MP Farmer Gift News) की राजधानी भोपाल और इंदौर में बढ़ रहे कोरोना मरीज को देखते हुए रविवार से लगा लॉक डाउन की सख्ती का असर मैदान में दिखने लगा है। इस सख्ती के असर से बाजार सूने होने लगे। इस बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने कई तरह के ऐलान किए। उन्होंने कहा कि लॉक डाउन लगाना नहीं चाहता। कोरोना की बीमारी को लेकर घबराए नहीं बल्कि सावधान रहे। चौथे कार्यकाल में एक वर्ष पूरा होने पर चौहान ने कहा कि सरकार हर क्षेत्र के लिए काम कर रही है। उन्होंने किसानों से कहा कि आप घबराओ नहीं जब तक मामा जिंदा है तब तक कुछ नहीं होगा। आप तो बस अपना खाता देखते रहो।

सूदखोरों तक गरीब नहीं गया

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा की है कि निरीक्षकों को डीएसपी बनाया जाएगा। इससे पहले आरक्षक, प्रधान आरक्षकों को पदोन्नत किया गया था। उन्होंने कहा कि प्रदेश के हर कर्मचारियों को लाभ पहुंचाया जा रहा है। कोरोना में हर वर्ग प्रभावित हुआ। हर छोटा कारोबारी बीमारी की वजह से उसका कारोबार चौपट हुआ। हमारी सरकार ने स्ट्रीट वेंडरों को 3 लाख 33 हजार से ज्यादा वेंडरों को 10—10 हजार रुपए का भुगतान किया गया। हमारी सरकार ने सूदखोरों के पास जाने से गरीब को रोका। सरकार कई तरह की रोजगार मूलक विषयों पर काम कर रही है।

किसानों के लिए कभी कमी नहीं

MP Farmer News
शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री मध्य प्रदेश शासन— फाइल फोटो

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि गेहूं, धान, ज्वार, सरसो खरीदी कर चुका है। खेती पर सब्सिडी दी गई। जीरो प्रतिशत पर किसानों को कर्जा दिलाया। मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना में 6 हजार से अधिक किसानों को अनुदान दिया गया। हमारी सरकार ने अब तक एक साल में 88 हजार करोड़ रुपए से अधिक की रकम प्रदेश के किसानों के खाते में डाल चुकी है। उन्होंने कहा कि किसानों को घबराने की आवश्यकता नहीं हैं। फसल कटाई के बाद असमय बारिश से हुए नुकसान में राहत की राशि दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने किसानों से कहा कि आप तो केवल खाता देखों उसमें रकम आई कि नहीं। अभी बीमा की राशि भी आपके खाते में डालना है। सरकार के लिए किसानों को कभी भी कमी आने नहीं दूंगा।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Dowry Case: दहेज के लिए मारपीट करते थे पति, देवर और सास, थाने पहुंची महिला

यह भी पढ़ें: दिल्ली के इस एसीपी की वर्दी वाली तस्वीर की कहानी जिसको भोपाल के लोग आसानी से भूल नहीं पाए

लॉक डाउन से टैक्स मिलना बंद

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (MP Farmer Gift News) ने कहा कि कोरोना का संकट अभी समाप्त नहीं हुआ है। कोरोना खत्म नहीं हुआ है। इसका वायरस अभी भी हवा में घूम रहा है। इंदौर, जबलपुर भोपाल के बाद अब ग्वालियर में कोरोना के मरीज ज्यादा हो रहे हैं। इस बीमारी से बचने के उपाय बताते हुए कहा कि नाक—मुंह ढंककर रखे। इसके लिए मास्क पहने। मास्क सबसे ज्यादा प्रभावकारी कदम है। मास्क पहनकर, दूरी बनाकर रहे। मैं लॉक डाउन नहीं चाहता। इससे अर्थव्यवस्था चौपट हो जाती है। मेरी शपथ के अगले दिन ही लॉक डाउन लग गया था। खजाने में पैसा आना बंद हो गया था। सामान बिकना बंद हो गया था। इस कारण सरकार को टैक्स मिलना बंद हो गया था।

हमने प्रीमियम दिलाने का काम किया

MP Farmer Gift
शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री फाइल तस्वीर

शिवराज सिंह चौहान ने गोविंद सिंह राजपूत की तरफ इशारा करते हुए सवा साल यह भी पूर्व सरकार में मंत्री रहे। पुरानी सरकार में अव्यवस्थाओं का आलम था। मजदूर नहीं थे, अनाज (MP Farmer Gift News) खरीदी केंद्र सूने हो गए। हमने पंजाब को पीछा छोड़ दिया। पिछली सरकार ने प्रीमियम जमा नहीं किए थे। इसलिए किसानों के खाते में रकम नहीं पहुंची। मैंने आते ही यह काम पहले किया। फसल बीमा योजना के तहत 8800 करोड़ रुपए का भुगतान किया। सरकारी बैंक की स्थिति कबाड़ हो चुकी थी। सहकारी बैंकों को सरकार ने पैसा पहुंचाया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सरकार की तरफ से 6 हजार रुपए मिल रहे थे। हमने उसमें 4 हजार रुपए अतिरिक्त देकर हमने 10 हजार रुपए में उसको पहुंचा दिया।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime : पुलिस की बर्बरता पर अब राजनीति शुरू

यह भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में माफिया को दफनाने का दावा करने वाले मुख्यमंत्रीको राजधानी के इन हालातों पर सवाल अफसरों से जरुर पूछना चाहिए

उस वक्त काफी भय था

मिंटो हॉल में संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सरकार ने नई जिम्मेदारी की शुरुआत आज ही के दिन हुई थी। शपथ लेने के बाद सीधे वल्लभ भवन पहुंचकर अफसरों से निपटने के इंतजाम के बारे में जानकारी मांगी। अफसर कोई ठोस जानकारी नहीं दे पाए। चुनौती के संकट से निपटने के लिए मुझे पूर्व प्रधानमंत्री की कविता याद आई। उसको सोचने के बाद मुझे संबल मिला। मैंने धैर्य नहीं खोया और हिम्मत से काम करते हुए काम शुरु किया। उस वक्त मंत्री नहीं बने थे। इसलिए कोरोना के कारण कई मंत्री नहीं बने थे। कोरोना से भय होना चाहिए जो आज है। लेकिन, उस वक्त काफी ज्यादा भय था।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!