MP Public Prosecution News: अभियोजन में सुधार राज्य नहीं बल्कि राष्ट्रीय स्तर का  विषय: यादव

Share

MP Public Prosecution News: ज्यूडिशियरी और पुलिस के पुल को चौड़ा करने की आवश्यकता

MP Public Prosecution News
वे​बिनार को संबोधित करते हुए संचालक विजय यादव

भोपाल। पुलिस विभाग बहुत बड़ा है। यह न्याय पालिका के लिए ज्यादा उत्तरदायी है। लेकिन, समाज के लिए भी जवाबदारी (MP Public Prosecution News) बनती है। मध्य प्रदेश में ज्यूडिशियरी और पुलिस के बीच प्रॉसिक्यूशन एक पुल की तरह काम करता है। इस पुल को चौड़ा करने की आवश्यकता है। इसके लिए मंथन अभी से किया जाना चाहिए। यह राज्य की बजाय राष्ट्रीय स्तर पर होना (MP Li-gal News) चाहिए। यह विचार व्यक्त करते हुए अभियोजन संचालनालय के संचालक विजय यादव ने कहा कि जेंडर सेंसेटाइजेशन (Gender Sensitization) के लिए जागरुक होने की आवश्यकता है।

सीएपीटी में दूसरी बार आयोजन

भोपाल में तृतीय नेशनल कॉन्‍फ्रेंस का उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए संचालक विजय यादव ने कहा कि न्‍याय व्‍यवस्‍था का सबसे ज्यादा प्रभावी अंग अभियोजन है। ऐसा नहीं है कि काम नहीं हो रहा। यह किया जा रहा है पर उसमें मंथन होना चाहिए। सीएपीटी संचालक पवन श्रीवास्‍तव भी कॉन्‍फ्रेंस में मौजूद थे। भोपाल में दो नेशनल कॉन्‍फ्रेंस का आयोजन किया जा चुका है। कोविड को देखते हुए इस बार वेबिनार के जरिए संवाद किया गया। यादव ने कहा कि लोक अभियोजन पीडित व्‍यक्ति को उचित व समय पर न्‍याय दिलाने के लिए सं‍कल्पित है।

यह भी पढ़ें: दिल्ली के इस एसीपी की वर्दी वाली तस्वीर की कहानी जिसको भोपाल के लोग आसानी से भूल नहीं पाए

अभियोजन कैडर बनाना चाहिए

यादव ने कहा कि हम पुलिस और न्‍याय पालिका के मध्‍य पुल की भूमिका निभाते हैं। इसलिए इस पुल को व्‍यापक चौड़ा और मजबूत होने की आवश्‍यकता है। उन्‍होंने अपने उद्बोधन में इस बात पर भी बल दिया कि राष्‍ट्रीय स्‍तर पर अभियोजन अधिकारियों को जेण्‍डर सेंसेटाइजेशन के प्रति जागरूक किया जाना चाहिए। हर राज्‍य में अभियोजन प्रशिक्षण केन्‍द्र होना चाहिए। उन्‍होंने लोक अभियोजकों की नियुक्तियों को बढ़ाये जाने की आवश्‍यकता को रेखांकित किया। ताकि प्रत्‍येक न्‍यायालय में अभियोजक की नियुक्ति हो सके और समय पर उचित न्‍याय पीडि़त पक्ष को दिलाया जा सके।

यह भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में माफिया को दफनाने का दावा करने वाले मुख्यमंत्री को राजधानी के इन हालातों पर सवाल अफसरों से जरुर पूछना चाहिए

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।
यह भी पढ़ें:   अवॉर्ड वापसी पर कृषि मंत्री कमल पटेल का विवादित बयान, सुनिए क्या कहा
Don`t copy text!