Bhopal News: कोरोना ने बिगाड़े पुलिस के हालात, शहर में खल रही कमी

Share

Bhopal News: सर्वाधिक प्रभावित भेल में गोविंदपुरा थाना आधा खाली, पुलिस अफसर और कर्मचारियों के परिवार में दहशत

Bhopal News
पीपीई किट पहनकर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा पुलिस कर्मचारियों से मैनिट स्थित क्वारेंटाइन सेंटर में बातचीत करते हुए

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की ताजा न्यूज (Bhopal News) पुलिस विभाग से सामने आ रही है। वह कोरोना महामारी की भारी चपेट में आ गई है। भोपाल की खबरें है कि यहां पुलिस के मैदानी अफसर और कर्मचारी 200 से अधिक की संख्या में कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। इसकेे कई बुरे प्रभाव से अभी भोपाल पुलिस जूझ रही है। हालात यह है कि घटती संख्या से निपटने के लिए कई इलाकों को बैरीकेड करके छोड़ा गया है। ताकि जनता को सड़कों पर आने से रोका जाए। फोर्स की घटती संख्या ने पुलिस अफसरों के माथे में चिंता की लकीरें ​खींच दी हैं।

यह है मैदानी हकीकत

Bhopal News
कोरोना संक्रमण से मृत एसआई मोहन पटेल— फाइल फोटो

भोपाल में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में एक महीने के भीतर पुलिस विभाग अपने दो महत्वपूर्ण अफसरों को खो चुका है। गांधी नगर थाने में तैनात एसआई मोहन पटेल (SI Mohan Patel) का 28 अप्रैल को निधन हुआ। वे जून, 2020 में रिटायर होने वाले थे। पटेल जालसाजी के मामले में एफआईआर दर्ज करने में माहिर थे। इससे पहले निशातपुरा थाने में तैनात एएसआई बद्री प्रताप सिंह बघेल (ASI Badri Pratap Singh Baghel) का निधन हुआ था। वहीं बागसेवनिया थाने में तैनात रहे एएसआई कुंजीलाल सेन (ASI Kunjilal Sen) की भी कोरोना संक्रमण की चपेट में आकर निधन हुआ। यह तीनों निधन एक पखवाड़े के भीतर हुई है। इधर, ईओडब्ल्यू में तैनात सिपाही चंद्र प्रकाश चौहान (Constable Chandra Prakash Chouhan) की कोरोना संक्रमण की वजह से सिटी अस्पताल में 30 अप्रैल को मौत हो गई।

थानों के हाल बेहाल

Bhopal News
गोविंदपुरा थाना—फाइल फोटो

कोरोना संक्रमण ने कई थानों में हालात बिगाड़ दिए हैं। सर्वाधिक प्रभावित थाने नए शहर यानि दक्षिण भोपाल क्षेत्र (Bhopal News) के हैं। गांधी नगर थाने में कोरोना संक्रमित पुलिसकर्मी चार है यही संख्या निशातपुरा थाने में भी है। इसके अलावा ट्रैफिक थाने में 26 पुलिसकर्मी कोरोना सं​क्रमित हैं। गोविंदपुरा थाने में 69 स्वीकृत बल है। इसमें से कुछ अटैचमेंट में दूसरी जगह तैनात भी है। यहां 16 पुलिस अफसर और कर्मचारी संक्रमित हैं। पिपलानी थाने में 6 पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित हैं। लगभग यह हाल शहर के सभी थानों में बना हुआ है। राजधानी में 45 थाने हैं। इसके अलावा एफएसएल, फोटो, सीसीटीवी, डॉग स्क्वायड समेत एक दर्जन से अधिक यूनिट हैं। यहां भी कई पुलिसकर्मी संक्रमित हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: ब्रिज बना रही कंपनी के उपकरण चोरी

यह भी पढ़ें: कोई यकीन नहीं करेगा आज भी इस अफसर को थाने में याद किया जाता है

डीआईजी सिटी के ड्रायवर कोरोना संक्रमित

Bhopal News
कोरोना से निपटने भोपाल कंट्रोल रुम- File Photo

कोरोना की चपेट में आने की खबरों से शहर के कई अफसर परेशान चल रहे हैं। कर्मचारियों के मनोबल को बढ़ाने के लिए सड़कों पर अफसर उतरे हुए हैं। द क्राइम इंफो की भी अपील है कि पुलिस विभाग के अनुशासन में इस वक्त जनता को सहयोग करने की अपील है। यदि बैरीकेड लगे हैं तो उसे तोड़ने का प्रयास न करें। कोविड गाइड लाइन नियमों का पालन करें। सड़कों पर निकलने की बजाय घर में रहकर पुलिस विभाग को सहयोग करे। भोपाल आरआई दीपक पाटील की इस वक्त सराहनीय पहल भी चल रही है। वे संक्रमित पुलिसकर्मियों और उनके परिवार से लगातार संपर्क में हैंं। इसके अलावा पुलिस नियंत्रण कक्ष में दोपहर दो से पांच बजे के बीच कोरोना टेस्ट कराने की सुविधा बनाई गई है।

यह भी पढ़ें: भोपाल ही नहीं कई छोटे जिलों में फैल चुका है कोरोना जिसकी चपेट में आकर अफसरों का हुआ निधन

यह है चुनौती

Bhopal News
राजधानी भोपाल में कोरोना से निपटने तैनात पुलिस अधिकारी संदेश के साथ फाइल फोटो

कोरोना संक्रमण के भय के बीच शहर में कानून—व्यवस्था को बनाए रखने के लिए कई थानों ने अपने नगर सुरक्षा समिति के सदस्यों को सक्रिय कर दिया है। कई जगह उनकी मदद से सेवाएं की जा रही है। पुलिस को शहर में कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए एफआईआर करने के अलावा अपराध पर निगरानी करने की भी जिम्मेदारी है। दरअसल, इस महामारी के बीच शहर में इंजेक्शन, दवा समेत अन्य जरुरी उपकरणों की कालाबाजारी करने वालों की निगरानी की जिम्मेदारी है। पुलिसकर्मियों के लिए मैनिट कॉलेज में क्वारेंटाइन सेंटर बनाया गया है। जहां पिछले दिनों गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Narrottam Mishra) ने पीपीई किट पहन कर्मचारियों को भरोसा दिलाया था कि सरकार उनके साथ हैंं।

यह भी पढ़ें: कोरोना की पहली लहर भी पुलिस के लिए सुनामी बनकर आई थी, उस वक्त यह थे हालात

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: दो भाई ने मिलकर पीटा

दूसरे विभाग भी नहीं है अछूते

Bhopal News
भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया और डीआईजी सिटी इरशाद वली File Photo

भोपाल (Bhopal News) में कोरोना संक्रमण की चैन तोड़ने के लिए सरकारी प्रयास युद्धस्तर पर जारी है। हालांकि इतनी कवायद के बावजूद संक्रमण की संख्या घट नहीं रही है। वहीं मौत का आंकड़ा सरकारी और शमशान की लपटें चिंता में लोगों को डाल रही है। मध्य प्रदेश में कोरोना ड्यूटी के दौरान 726 शिक्षकों की मौत हो चुकी है। बिजली कंपनी के 150 से ज्यादा कर्मचारियों ने दम तोड़ा है। पुलिस विभाग के 24 कर्मचारियों के मौत होने का आंकड़ा सामने आया है। सर्वाधिक प्रभावित जिलों में इंदौर और भोपाल में यह संख्या काफी ज्यादा है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार भोपाल में सर्वाधिक 256 शिक्षकों की मौत हुई है।

यह भी पढ़ें: पिछले नौ महीनों से इस हंसी को तरस रहा है एमपी पुलिस की सीआईडी विंग

कितने संवेदनशील हैं अफसर

Bhopal News
पीपीई किट पहनकर गृहमंत्री मैदानी अफसरों से बात कर रहे हैं। भोपाल के अफसर फोन भी नहीं उठा पा रहे।

भोपाल पुलिस के इन बिगड़े हालातों की जानकारी तीन दिनों से लगातार मिल रही थी। इस संबंध में हम दो दिनों से लगातार पुलिस अफसरों से बातचीत करने का प्रयास कर रहे थे। ताकि उनके प्रयासों और पहल की जानकारी भी साझा की जाए। इसके लिए हमने डीएसपी सायबर नीतू ठाकुर से संपर्क किया। कई बार फोन मिलाने और मैसेज पर भी जवाब नहीं आया। भोपाल आरआई दीपक पाटील ने फोन तो उठाया पर सवाल के जवाब नहीं दे सके।  उन्होंने कहा एसपी मुख्यालय रामजी श्रीवास्तव से संपर्क करें। एसपी मुख्यालय से कई बार प्रयास किए गए। उन्होंने बताया कि भोपाल में आज की तारीख में 238 पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमण से ग्रसित हैं।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!