Jabalpur Cyber Crime: मराठी लड़कियां होती थी निशाने पर जानिए क्यों

Share

Jabalpur Cyber Crime: इस्तांबुल के फर्जी डॉक्टर को दबोचा, मेट्रोमोनियल साइट पर फंसाने के लिए अपलोड कर रखा था बायोडाटा

Jabalpur Cyber Crime
सायबर क्राइम टीम के हत्थे लगा शातिर जालसाज जो दूल्हा बनने का सपना दिखाकर युवतियों के बैंक खाते खाली कर देता था

जबलपुर। शादी के लिए मेट्रोमोनियल साइट में अपना बायोडाटा अपलोड करके केवल मराठी लड़कियों को निशाने में लेता था यह जालसाज। इसको जबलपुर सायबर क्राइम (Jabalpur Cyber Crime) की टीम ने स्टेशन के पास से गिरफ्तार किया है। आरोपी से पूछताछ का क्रम अभी जारी है। लेकिन, जो खुलासे किए है वह काफी चौका देने वाले हैं। उसका कहना था कि मराठी लड़कियों को अपनी काबिलियत की दम पर झांसे (Jabalpur Cheating Case) में ले लेता था। मध्य प्रदेश के जबलपुर शहर में गिरफ्तार जालसाज (Jabalpur Fake NRI Doctor) के संबंध में पुलिस उसका पुराना रिकॉर्ड खंगाल रही है।

ऐसे पहुंचा मामला

जबलपुर की एक युवती ने मेट्रोमोनियल साइट पर अपना बायोडाटा अपलोड किया था। जिसके बाद एनआरआई डॉक्टर ने उससे संपर्क किया। उसने इस्तांबुल तुर्की शहर का रहने वाला बताया। रिश्ते से पहले युवती से उसने बहुत अच्छी दोस्ती कर ली। उसने प्रभावित करने के लिए लंदन समेत कई अन्य शहरों की तस्वीरें साझा की। जिसके बाद युवती को रिश्ते से इनकार नहीं था। वह इतना यकीन कर चुकी थी कि वह उसको अपने खाते से दो लाख रुपए भीे दे चुकी थी।

कई जगह मिला बायोडाटा

जालसाज ने महाराष्ट्र यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंस नासिक महाराष्ट्र का ग्रेजुएट बताया था। आरोपी ने एवं लंदन मे सर्जन (London Fake Surgeon) के कार्य का अनुभव का किया था। उसका दावा था कि वहां उसको डेढ लाख डॉलर हर साल सैलरी भी मिलती है। जब जालसाजी का पता चला तो उसकी प्रोफाइल चैक की गई। जांच में पता चला कि उसने अलग अलग फर्जी मैट्रीमोनियल प्रोफाइल (Fake Matrimonial Profile Case) बन रखी है। वह शादी करने का झांसा देकर लड़कियों को निशाना बनाता था।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Stolen: एक्टिवा रोकी और आस—पास देखने के बाद गमले ले भागा

यह भी पढ़ें: एक कारोबारी की पत्नी की मौत वह दस दिन में कई बार बची और कई बार उसकी मौत होने से बची पर आखिर में ऐसे गई जान

खंडवा—इंदौर समेत कई शहर बदले

आरोपी अपने आपको डॉक्टर बताता था। जांच में पता चला कि वह लंदन मे रहकर डेंटिस्ट असिस्टेंट का कोर्स कर चुका है। इसलिए आरोपी को विदेशी रहन–सहन, बोलचाल व मेडिकल शब्दावली का ज्ञान है। आरोपी अंग्रेजी—हिन्दी के अलावा मराठी भाषा का जानकार है। इसीलिये आसानी से मराठी भाषी लड़की को बड़ी आसानी से निशाना बना लेता था। आरोपी जगह बदलने में भी माहिर है। वह मुंबई, पुणे, जलगांव, खंडवा, इंदौर और देवास में रह चुका है। इन शहरों में उसके बैंक खाते भी पता चले हैं।

ऐसे चढ़ा पुलिस के हत्थे

आरोपी के कब्जे से कई एटीएम कार्ड्स, बैंक पासबुक्स, चेकबुक्स के अलावा पांच मोबाइल जब्त हुए हैं। वह ठगी के पैसों से होटलों मे रुकता था। आरोपी ने डॉक्टर व्रुशाल कर्वे (Vrushal Karve) नाम से जीवनसाथी डॉट कॉम (Jeevansathi.com) पर फर्जी प्रोफाइल लोड की थी। आरोपी की पहचान वैभव सतीश कपले (Vaibhav Satish Kaple) के रूप में हुई है। उसके कोटक महिन्द्रा बैंक, यूनियन बैंक में खाते मिले हैं। आरोपी वैभव सतीश कपले (Cheater Vaibhav Satish) ने बताया कि वह मुंबई मे डाटा एंट्री ऑपरेटर का काम करता था। लंदन मे डेंटिस्ट असिस्टेंन्ट का डिप्लोमा भी कर चुका है। आरोपी मोबाइल बदलकर ठगी को अंजाम देता था।

यह भी पढ़ें: चैनल मालिक जिसने रातों—रात अमीर बनने के लिए गरीबों को छोड़ अमीरों की वह दुखती नस पकड़ने की कोशिश की जिसमें वह फंस गया

यह भी पढ़ें:   Bhopal Suicide: मजदूर को काम नहीं मिला तो लगाई फांसी

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!