Bhopal Cyber Fraud : गुगल पे का कस्टमर केयर बनकर एक लाख रुपए की जालसाजी

Share

Bhopal Cyber Fraud : सेवानिवृत्त पुलिस निरीक्षक के आवेदन की 21 महीने तक क्राइम ब्रांच में चल रही थी जांच, अब एसीपी कार्यालय ने एफआईआर दर्ज करने के लिए थाने भेजी केस डायरी

Bhopal Cyber Fraud
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। आम नागरिकों को कई मामलों में पुलिस विभाग से अच्छे अनुभव नहीं मिलते हैं। इसलिए वे अक्सर विभाग को कोसते भी है। हालांकि देरी हर कोई नहीं करता। कहीं न कहीं कोई प्रकरण पर संज्ञान ले ही लेता है। ऐसा ही एक देरी से संज्ञान में लिया गया मामला सामने आया है। इसमें पीड़ित पुलिस विभाग से ​सेवानिवृत्त निरीक्षक है। आवेदन जांच के नाम पर 21 महीने से लंबित पड़ा था। घटना भोपाल (Bhopal Cyber Fraud) सिटी के पिपलानी थाना क्षेत्र की है। इस मामले की जांच की फाइल भोपाल क्राइम ब्रांच के पास लंबित थी। अब इस आवेदन पर एफआईआर दर्ज करने का निर्णय लिया गया है। हालांकि केस डायरी पिपलानी थाना क्षेत्र की बोलकर भेज दी गई है।

पासवर्ड बताकर रकम भरा ली

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार प्रकरण सायबर फ्रॉड का है। यह घटना 15 सितंबर, 2020 को हुई थी। जिसकी जानकारी पीड़ित ने उसी दिन क्राइम ब्रांच को दे दी थी। शिकायत इंद्रपुरी स्थित छत्रसाल नगर फेज—1 भवानी परिसर निवासी राजेन्द्र कुमार राजपूत (Rajendra Kumar Rajput) ने दर्ज कराई है। वे पुलिस विभाग से सेवानिवृत्त कर्मचारी है। उन्होंने पुलिस को बताया था कि घटना वाले दिन बेटी का जन्मदिन था। इसलिए उसको गुगल पे से 3100 रुपए भेजे थे। यह रकम बेटी को नहीं मिली तो वे इंद्रपुरी स्थित भारतीय स्टेट बैंक पहुंचे। हालांकि उनका खाता टीटी नगर ब्रांच में था। बैंक कर्मचारियों ने बोला कि इस मामले में वे कोई मदद नहीं कर सकते। उन्हें गुगल पे के कस्टमर केयर को फोन लगाने बोला। राजेन्द्र कुमार राजपूत ने वैसा ही किया। उनके कॉल पर कोई रिस्पांस नहीं मिला। लेकिन, कूछ देर बाद दूसरे नंबर से उनके पास कॉल आया।

नए सिरे से दर्ज किए गए बयान

फोन करने वाले कर्मचारी ने गुगल पे का कस्टमर केयर बनकर बातचीत की। इस दौरान (Bhopal Cyber Fraud) उनसे एंड्रायड मोबाइल पर कुछ फंक्शन कराए। इसके बाद 99983 रुपए पासवर्ड बताकर लिखने के लिए बोला। यह लिखते साथ ही उनके खाते से रकम चली गई। इस प्रकरण की सायबर क्राइम में शुरुआती जांच एसआई रमन शर्मा (SI Raman Sharma) ने की। जिसे अब पिपलानी थाना पुलिस को जांच के लिए भेजा गया। पिपलानी थाना पुलिस ने 19 जून को 490/22 धारा 420 का प्रकरण दर्ज कर लिया है। इसमें पुलिस उन दो नंबरों की जांच कर रही है जिन्हें राजपूत ने कॉल किया था। इससे पहले रविवार को थाना पुलिस ने नए सिरे से बयान दर्ज किए थे।

यूक्रेन में महिला हिंसा की वह दास्तां जो दुश्मनी की वजह से रूसी सैनिकों के निशाने पर आईं

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: गर्भवती महिला की सुल्तानिया अस्पताल में मौत

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal Cyber Fraud
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!