Bhopal Dowry News: डोरमेट से मारते और टाॅयलेट का पानी पिलाते थे ससुराल वाले

Share

Bhopal Dowry News: मायके वालों ने सर्च वारंट की मदद से तलाशी थी बेटी, पति और सास के खिलाफ मुकदमा दर्ज

Bhopal Dowry News
सांकेतिक चित्र

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal Dowry News) से एक दिल दहला देने वाली दहेजलोभी पति और सास की करतूत सामने आई है। मामला कोलार थाना क्षेत्र का है। पीड़िता की चार साल पहले शादी हुई थी। उसको पति और सास काफी प्रताड़ित करते थे। आलम यह था कि उसको डोरमेट से मारना और टाॅयलेट का पानी पीने के लिए मजबूर करते थे। यह यातना बताने के लिए उसका मोबाइल भी छीन लिया गया था। माता-पिता को जब बेटी नहीं मिली तो उन्होंने एसटीएम कोर्ट की मदद से उसकी सर्चिंग कराई थी। लंबी कवायद के बाद पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। लेकिन, गिरफ्तारी को लेकर कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किए गए हैं।

पंद्रह लाख की एफडी पर कब्जा

कोलार थाना पुलिस ने प्रताड़ना का मुकदमा गुरूवार को दर्ज किया था। इस मामले में धारा 498ए/323/504/506/34 (प्रताड़ना, मारपीट, अपमानित करने शब्द, धमकाना और एक से अधिक) के तहत प्रकरण दर्ज हुआ है। आरोपी मंदाकिनी परिसर में रहने वाला पति प्रकाश कैलोडिया और सास शकुंतला कैलोडिया (Shakuntala Kailodiya) है। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि प्रकाश कैलोडिया (Prakash Kailodiya) से शादी अप्रैल, 2016 में हुई थी। उनकी एक मासूम बेटी भी है। पति और सास उसको कम दहेज लाने को लेकर ताना भी मारते थे। मोबाइल मेरा पति ने छीन लिया था। मायका भोपाल में था इसलिए ससुराल कोई न आ जाए इस कारण उसको नीलबड़ में पति ने रखा था।

यह भी पढ़ें:   Raisen Road Mishap: पुलिया से टकराकर सिपाही की दर्दनाक मौत

यह भी पढ़ें: दिल्ली के इस एसीपी की वर्दी वाली तस्वीर की कहानी जिसको भोपाल के लोग आसानी से भूल नहीं पाए

काउंसलिंग के बाद भी नहीं सुधरा

Bhopal Dowry News
File Clip Courtesy

आरोपी पति ने उसके एसबीआई और पीएनबी बैंक में जमा 15 लाख रूपए की एफडी के कागज और एटीएम में कब्जा कर लिया था। मोबाइल नहीं होने की वजह से वह पीड़ा माता-पिता को नहीं बता पा रही थी। उसको एसडीएम कोर्ट में पति ने धमकाकर पेश कराया था। पीड़िता ने पुलिस को बयान में जानकारी दी है कि उसको डोरमेट से पीटा जाता था। टाॅयलेट का पानी पिलाया जाता था। हालांकि पुलिस का कहना है कि यह आरोप लगाए जरूर है लेकिन अभी जांच का विषय है। पीड़िता की हबीबगंज परिवार परामर्श केंद्र में भी काउंसलिंग हो चुकी है। लेकिन, उसकी हरकतों में कोई सुधार नहीं आया था। इसलिए पीड़िता ने पुलिस थाने में आवेदन दिया था।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!