Bhopal Suspicious Death: बच्चादानी ऑपरेशन के बाद महिला की मौत

Share

Bhopal Suspicious Death: नगर निगम के पूर्व अध्यक्ष सुरजीत सिंह चौहान की थी रिश्तेदार, हंगामे के बाद डॉक्टर को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया

Bhopal Suspicious Death
यह है माउंट अस्पताल जहां महिला की मौत हुई

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के एक निजी अस्पताल में बच्चादानी के ऑपरेशन के बाद महिला की मौत (Bhopal Suspicious Death) हो गई। परिवार ने इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाकर हंगामा भी किया। जिसके बाद पुलिस अस्पताल में पहुंच गई। पुलिस ने अस्पताल के संचालक को पूछताछ के लिए हिरासत (Bhopal Private Hospital Negligence News) में ले लिया। जिस महिला की मौत हुई वह भोपाल नगर निगम के पूर्व अध्यक्ष की रिश्तेदार भी है। मौत की खबर मिलने पर वह भी अस्पताल में पहुंचे थे। पुलिस ने फिलहाल मर्ग कायम किया है।

दर्द में कराह रही थी रस्सी से बांध दिया

बागसेवनिया थाना क्षेत्र में माउंट अस्पताल (Mount Hospital) है। इसमें शुक्रवार दोपहर लगभग दो बजे 42 वर्षीय मीना बाई चौहान पिता भगवत सिंह चौहान को भर्ती कराया गया। वह रायसेन जिले के औबेदुल्लागंज (Obedullahaganj) स्थित तामोट गांव में रहती थी। उनके तीन बच्चे हैं। उन्हें बच्चे दानी में तकलीफ थी। मीना बाई चौहान (Meena Bai Chouhan) का शाम लगभग 6 बजे ऑपरेशन किया गया। उसके बाद नर्स की निगरानी में वार्ड में भर्ती कर लिया गया। शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात लगभग दो बजे उन्हें तकलीफ होना शुरू हुई। इंजेक्शन लगाने से राहत नहीं मिली। वह दर्द से छटपटा रही थी तो अस्पताल के कर्मचारियों ने उन्हें रस्सी से पलंग में बांध दिया।

यह भी पढ़ेंः इस अस्पताल के डॉक्टर इलाज करना छोड़कर भाग गए थे अब बचाव के लिए भागते फिर रहे

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: कैरियर कॉलेज के छात्र पर जानलेवा हमला

डॉक्टर को इसलिए हिरासत में लिया

Bhopal Suspicious Death
File Image

मीना बाई चौहान के परिजनों ने बताया कि जब उनकी सुबह माौत (Bhopal Woman Suspicious Death News) हो गई तो बताया गया कि उनकी मौत हार्ट अटैक से हो गई है। जबकि परिजन मौत को ऑपरेशन में लापरवाही का बताकर हंगामा करने लगे। खबर निगम के पूर्व अध्यक्ष सुरजीत सिंह चौहान (Bhopal BJP Leader Surjeet Singh Chouhan) को भी लगी। वे भी माउंट अस्पताल पहुंच गए। पुलिस भी आ गई और उसने हंगामा होता देख अस्पताल के संचालक डॉक्टर नरेन्द्र पाल (Dr Narendra Pal) को हिरासत में ले लिया। उन्हें पूछताछ के लिए थाने लाया गया।

यह भी पढ़ें: दिल्ली के इस एसीपी की वर्दी वाली तस्वीर की कहानी जिसको भोपाल के लोग आसानी से भूल नहीं पाए

एमसीआई की रिपोर्ट का इंतजार

एसडीओपी मिसरोद संभाग अमित कुमार मिश्रा (SDOP Misrod Amit Kumar Mishra) ने बताया कि अभी मर्ग कायम किया गया है। पीएम की प्रारंभिक रिपोर्ट मिली है। जिसमें मौत की वजह अत्यधिक मात्रा में खून बहना बताया गया है। विस्तृत रिपोर्ट मिलने के बाद मेडिकल काउंसिल से रिपोर्ट मांगी जाएगी। जिसके आधार पर पुलिस कार्रवाई करेगी।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।
Don`t copy text!