Bhopal News: आईएएस पति के खिलाफ थाने पहुंची आईआरएस पत्नी 

Share

Bhopal News: हाई—प्रोफाइल मामले को मीडिया से दबाया, बिना नाम लिए अखबारों में हुई रिपोर्टिंग, क्या पीड़िता को वाकई न्याय दिला सकेगी पुलिस

भोपाल। मध्यप्रदेश कैडर में भारतीय प्रशासनिक सेवा में 2011 बैच के अफसर की पत्नी ने भोपाल (Bhopal News)  के महिला थाने में आवेदन दिया है। जिसके आधार पर पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया है। पीड़ित पत्नी भारतीय राजस्व सेवा संवर्ग की अफसर हैं। दोनों के बीच घरेलू विवाद के चलते कलह होती थी। इस पूरे घटनाक्रम पर महिला थाना पुलिस के अधिकारियों ने चुप्पी साधी। एफआईआर टीआई अजीता नायर ने दर्ज की थी। जिन्होंने प्रकरण दर्ज होने के बाद सवाल—जवाब से बचने मोबाइल पर किसी तरह का रिस्पांस नहीं दिया। इसके अलावा मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट में किसी भी अफसर के हवाले से जानकारी नहीं दी गई है। ऐसे में सवाल यह खड़ा होता है कि बेहद हाई प्रोफाइल इस मामले में कार्रवाई बिना भेदभाव और दबाव के हो सकेगी।

तीन साल तक चली थी पेशी

जानकारी के अनुसार यह मुकदमा 94/2022 धारा 498—ए/323/506/34 (प्रताड़ना, मारपीट, धमकाना और एक से अधिक आरोपी का प्रकरण) 27 अप्रैल को दर्ज किया गया। यह प्रकरण पुलिस के अफसरों को भेजी जाने वाली प्रतिदिन प्रतिवेदन रिपोर्ट से भी गायब है। इस मामले में आरोपी मोहित बुंदस (IAS Mohit Bundas) , उनकी मां पुष्पा बुंदस, दो बहनें सुनीत बुंदस और सविता बुंदस हैं। दोनों परिवार प्रशासनिक सेवा में काफी दखल रखता है।  मोहित बुंदस वन विभाग में डिप्टी सेक्रेटरी हैं। शिकायत शोभना मीना बुंदस (IRS Shobhna Meena Bundas) ने दर्ज कराई है। उन्होंने बताया कि इससे पहले पति—पत्नी का जयपुर की कोर्ट में परिवाद लगा था। लेकिन, तीन साल के बच्चे के भविष्य को देखते हुए काउंसलिंग कराई गई थी। यहां मोहित बुंदस ने सुलह करते हुए साथ रहने की सहमति दी थी। शादी 2012 में हुई थी। शोभना बुंदस का यह भी आरोप है कि उनकी एक ननद सविता बुंदस (IRS Savita Bundas) भी भारतीय राजस्व अधिकारी हैं। जबकि दूसरी ननद सुनीत बुंदस (Dr Suneet Bundas) डॉक्टर है। यह पूरी जानकारी प्रकाशित समाचारों से लिए गए अंश हैं। जिसमें थाना पुलिस बोलकर रिपोर्ट दी गई है। पूरे मामले में आधिकारिक बयान किसी भी अफसर ने नहीं दिया है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Health News: हमीदिया अस्पताल से रेमडेसियर इंजेक्शन चोरी
Don`t copy text!