Pyare Miyan Case : नाबालिग बच्चियों का पोर्न वीडियो बनाता था प्यारे मियां

Share

Pyare Miyan Case : पुलिस ने अदालत से वीडियो और सीडी बरामदगी के लिए मांगा 14 दिन का रिमांड

Pyare Miyan Case
भोपाल स्थित राजा भोज विमान तल में पुलिस टीम के साथ मेहरुन शर्ट में प्यारे मियां File Photo

भोपाल। प्यारे मियां (Pyare Miyan Case) का नाबालिगों के साथ बलात्कार का मामला चाइल्ड पोर्नग्राफी (Pyare Miyan Child Pornography Case) से जुड़ता जा रहा है। प्यारे मियां को भारी सुरक्षा बंदोबस्त के बीच जिला अदालत (Bhopal Court News) में पेश किया गया। यहां अदालत के समक्ष पुलिस ने कहा कि चाइल्ड पोर्नग्राफी से संबंधित सीडी और वीडियो जब्त की जाना है। इसलिए रिमांड पर सौंपा जाए। उसकी तरफ से पैरवी कर रहे वकील ने उम्र और बीमारी का हवाला देकर विरोध किया। दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद अदालत ने प्यारे मियां को पांच दिन पूछताछ के लिए रिमांड पर सौंप दिया। हालांकि पुलिस ने 14 दिन का रिमांड मांगा था।

पुलिस बचने के लिए पार्टी बन गई

प्यारे मियां को भोपाल पुलिस (Bhopal Cop News) श्रीनगर से लेकर आई है। उसको गुरुवार को अदालत में पेश किया गया था। लेकिन, कोर्ट कोरोना महामारी के चलते जल्दी बंद हो गया था। इसलिए शुक्रवार सुबह उसको कोर्ट ले जाया गया। कोर्ट ले जाने से पहले उसकी कवरेज के लिए मीडियाकर्मी तैनात थे। पुलिस का पीछा भी किया जा रहा था। इसके लिए पुलिस ने चालाकी का तरीका अपनाया। उसने प्यारे मियां को पुलिस विभाग की कैप पहना दी। ताकि मीडिया का ध्यान भटक जाए। लेकिन, ऐसा करना उसके लिए ही किरकिरी बन गया। अदालत के गेट के सामने तैनात मीडिया के कैमरे में प्यारे मियां के सिर से कैप हटाते हुए वह कैद हो गई।

बूढ़ा और बीमार है प्यारे मियां

जिला अदालत में विशेष अपर सत्र न्यायाधीश एट्रोसिटी न्यायाधीश मुंशी सिंह चंद्रावत (Judge Munshi Singh Chandravat) की अदालत में आरोपी प्यारे मियां को पेश किया गया। जांच अधिकारी ने अदालत को बताया कि आरोपी के वाहन, चाइल्ड पोर्नग्राफी की वीडियो—सीडी और अन्य दस्तावेज जब्त किया जाना है। इस जांच में करीब 14 दिन का वक्त लग सकता है। प्यारे मियां के वकील ने इस बात पर आपत्ति जताते हुए कहा कि उसकी उम्र 68 साल है। कैंसर के अलावा अन्य बीमारियां भी है। दोनों पक्ष सुनने के बाद अदालत ने उसको 14 दिन की रिमांड पर सौंप दिया।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: जेके अस्पताल की सुरक्षा में तैनात रंजिश रखने वाले सिक्योरिटी गार्ड

बीयर पिलाकर डांस कराया

Bhopal Rape Case
नाबालिगों से ज्यादती के मामले में फरार प्यारे मियां का घर जिसमें यह आलीशान डांस बार बना हुआ था File Photo

आरोपी प्यारे मियां (Rapist Pyare Miyan) को कोर्ट ने 22 जुलाई तक रिमांड पर सौंप दिया है। आरोपी ने 11 जुलाई की रात को बर्थ डे पार्टी आयोजित की थी। इस पार्टी में नाबालिगों को बीयर पिलाकर डांस (Bhopal Minor Girl Sex Party) भी कराया गया था। प्यारे मियां पर आरोप है कि इस दौरान छेड़छाड़ के साथ अलग—अलग नाबालिगों से ज्यादती भी की गई थी। यह सारा घटनाक्रम शाहपुरा स्थित विष्णु हाईटेक सिटी (Vishnu Hightech City Case) के फ्लैट में हुआ था। इसी मामले में प्यारे मियां को 15 जुलाई को श्रीनगर की होटल से गिरफ्तार किया गया था।

यह था मामला

प्यारे मियां (Pyare Miyan Rape Case) के खिलाफ आधा दर्जन नाबालिगों ने शाहपुरा और कोहेफिजा थाने में बलात्कार (Bhopal Minor Girl Rape Case) का मुकदमा दर्ज कराया है। सबसे पहले रातीबड़ थाना पुलिस ने 11—12 जुलाई की रात को गश्त के दौरान पांच नाबालिगों को पूछताछ के लिए रोका था। वह नशे की हालत में थी। इसलिए उनसे चाइल्ड लाइन सदस्यों ने पूछताछ की थी। इसी पूछताछ में प्यारे मियां के कारनामों की कलई उजागर हुई थी। प्रकरण दर्ज होते ही प्यारे मियां भोपाल से फरार हो गया था। जिला प्रशासन ने उसके फ्लैट और शादी हॉल को भी तोड़ा था।

यह भी पढ़ें : कच्छा अच्छा नहीं बना तो दर्जी ने पुलिस की जग हंसाई करा दी

अखबार का ऐसा मालिक

प्यारे मियां शहर के जाने—माने व्यक्ति रहे हैं। उनका नाम उनके पेशे की बदौलत ज्यादा लिया जाता रहा है। प्यारे मियां उर्दू का अखबार चलाते हैं। इस कारण उनके अधिमान्यता और सरकारी बंगला भी अलॉट हुआ था। हालांकि इस प्रकरण के उजागर होने के बाद बंगला और मान्यता रद्द करने के आदेश हो गए हैं। जिस नाम से प्यारे मियां का अखबार अफकार (Afkar Newspaper) चलता था वह उर्दू का शब्द है। जिसका हिंदी में मतलब होता है चिंतन। इसके अलावा प्यारे मियां भोपाल उत्सव मेला समिति के पदाधिकारी भी थे। जिनके अध्यक्ष मनमोहन अग्रवाल (Manmohan Agrawal) ने भी उन्हें हटा दिया है।

यह भी पढ़ें:   Video : मोस्ट वांटेड विकास दुबे महाकाल मंदिर से गिरफ्तार, गृह मंत्री का बयान

यह भी पढ़ें : मध्य प्रदेश में चार महीने में ऐसा वायरस फैला कि कांग्रेस विधायक मुक्त होने लगी

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!