MP Minor Girl Rape Case: यदि आप मोबाइल पर पोर्न मूवी देखते हैं तो यह पढ़ लीजिए

Share

MP Minor Girl Rape Case: बच्चे ने देख ली थी पोर्न फिल्म, खेल समझकर चार साल की बच्ची से कर दी चौदह साल के बच्चे ने ज्यादती

MP Minor Girl Rape Case
सांकेतिक चित्र

भोपाल। यदि आप एंड्रायड मोबाइल में इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं तो इस घटना से आपको भी सबक लेना चाहिए। एक बड़े व्यक्ति के मोबाइल के कारण बालक बुरी तरह से फंस गया। उसने बचपन में ही वह घिनौना अपराध कर दिया जिसको सुनकर लोग सहम जाते हैं। मामला मध्य प्रदेश (MP Minor Girl Rape Case) के रीवा जिले से सामने आया है। मामला चार साल की बच्ची से हुई दरिंदगी (Rewa Hata Rape Case) का है। आरोपी पड़ोस में रहने वाला चौदह साल का बालक है। पुलिस ने उसको किशोर न्यायालय में पेश कर सुधार गृह में भेज दिया है।

इलाहाबाद में मजदूर है पिता

घटना रीवा जिले के हनुमना थाना क्षेत्र की है। यहां हटा इलाके में एक किसान परिवार रहता है। उसी परिवार के नजदीक पीड़ित चार साल की बच्ची का परिवार रहता है। परिवार का मुखिया इलाहाबाद में मजदूरी करता है। हनुमना थाना प्रभारी गौरव नेमा (SI Gaurav Nema) ने बताया कि पीड़ित बालिका की मां और उसकी दादी 8 जनवरी को एक निमंत्रण पर गए थे। घटना के वक्त बच्ची दूसरे बच्चों के साथ खेल रही थी। तभी बाल अपचारी जिसकी उम्र लगभग 14 साल है वह आया। उसने दूसरे बच्चों को उससे अलग करके उसके साथ दरिंदगी की। परिवार के आने पर पूरी कहानी उजागर हुई।

यह भी पढ़ें: दिल्ली के इस एसीपी की वर्दी वाली तस्वीर की कहानी जिसको भोपाल के लोग आसानी से भूल नहीं पाए

यह भी पढ़ें:   Ludhiana Brutal Murder Case: कुल्हाड़ी मारकर एक ही परिवार के 4 सदस्यों की निर्मम हत्या

सीडब्ल्यूसी को बताई कहानी

MP Minor Girl Rape Case
सांकेतिक चित्र

बाल अपचारी से सादी वर्दी में बाल अधिकारी और सीडब्ल्यूसी के अधिकारियों ने बातचीत की। उसने बताया कि घर पर रिश्तेदार का मोबाइल था। जिसमें वह पोर्न मूवी देख रहा था। इस कारण फिल्म के अनुसार काम करने को लेकर उत्सुक था। घटना से पहले भी उसने फिल्म देखी थी। पुलिस उस मोबाइल धारक के संबंध में जानकारी जुटा रही है। इस मामले में फिलहाल बलात्कार, पॉक्सो एक्ट का मुकदमा (Rewa Minor Girl Rape Case) दर्ज कर लिया गया है। बच्ची को मेडिकल के लिए भेजा गया है। बाल अपचारी को किशोर न्यायालय में पेश करने के बाद बाल सुधार गृह भेज दिया गया है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।
Don`t copy text!