Unlock Part-2 : मुफ्त में तीन महीने मिलेगा गेहूं—चावल और चना

Share

Unlock Part-2  में सावधानी बरतने की अपील करते हुए 16 मिनट में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देशवासियों से यह कहा

PM Modi ka Sambodhan
नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 30 जून की अपरान्ह 4 बजे देश वासियों को संबोधित (Unlock Part-2) किया। उन्होंने कहा है कि देश के नागरिकों को गेहूं—चावल और चना मुफ्त में मिलता रहेगा। इसके लिए उन्होंने पूरी जानकारी देशवासियों से साझा की। उन्होंने इशारों ही इशारों में चीन के खिलाफ अभियान जारी रखने का भी कहा। लोकल के लिए वोकल और आत्मनिर्भर भारत अभियान के जारी रखने का संकेत दिया।

मौसम बदल रहा है

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि मौसम बदलने वाला है। इसलिए देश के नागरिकों से अपील है कि (Unlock Part-2) अपना ध्यान रखे। इस मौसम में सर्दी—जुकाम खांसी होती है। देश में कोरोना मृत्यु दर के नजरिए से भारत संभली हुई स्थिति में है। भारत में लाखों लोगों का जीवन बचाया है। लेकिन, यह भी देखने को मिल रहा है। मास्क और दो गज की दूरी को लेकर हाथ धोने को लेकर पहले सतर्क थे। अब ज्यादा सतर्कता की आवश्यकता है। यह लापरवाही चिंता बढ़ा सकती है।

कंटेनमेंट जोन को फोकस करने अपील

लॉक डाउन के दौरान बहुत गंभीरता से नियमों का पालन लोगों ने किया। अब सरकारों को स्थानीय निकाय की संस्थाओं को देश के नागरिकों को फिर से उसी तरीके की सतर्कता दिखाना चाहिए। कंटेनमेंट जोन पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए। जो भी व्यक्ति नियम का पालन नहीं करता है तो उसको टोकना होगा। रोकने के साथ उसको समझाना भी होगा। एक देश के प्रधानमंत्री पर 13 हजार रुपए का जुर्माना इसलिए लगा था क्योंकि वे सार्वजनिक स्थान पर बिना मास्क पहने थे। स्थानीय प्रशासन को इसी चुस्ती से काम करना चाहिए। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उस देश का नाम नहीं लिया।

सही समय और संभलकर फैसला

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश को संबोधित अपने भाषण में कहा कि हमें 130 करोड़ जनता की जान बचाने के लिए ऐसा किया जाना आवश्यक है। गांव हो या देश का प्रधान हो वह नियमों से उपर नहीं है। लॉक डाउन के दौरान देश की सर्वोच्च प्राथमिकता यह रही कि गरीब के घर में चूल्हा जले। इसके लिए केंद्र और राज्य सरकार और​ सिविल सोसायटी के लोगों ने पूरा प्रयास किया था कि गरीब भूखा न सोए। देश हो या व्यक्ति समय और संवेदनशीलता के साथ फैसला लेने से मुकाबला करना आसान हो जाता है।

यह भी पढ़ें : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जिस महात्मा गांधी की मूर्ति का अनावरण किया उसको तोड़ा गया

यह भी पढ़ें:   Bhopal Road Mishap: बाइक में पीछे बैठा मारा गया, चलाने वाला घर पहुंचा

लॉक डाउन की उपलब्धि गिनाई

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना लेकर आई थी। इसके तहत पौने दो लाख करोड़ रुपए का पैकेज दिया गया। पिछले तीन महीनों में 20 करोड़ गरीब परिवारों के जनधन खाते में 31 हजार करोड़ रुपए जमा कराए गए। इसी तर​ह किसानों को भी 18 हजार करोड़ रुपए दिए गए। गांव में श्रमिकों को काम देने का अभियान तेज कर दिया गया। इसके लिए सरकार ने 50 हजार करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है।

त्यौहारों का सीजन इसलिए महत्वपूर्ण

प्रधानमंत्री ने कहा कि लॉक डाउन के दौरान कई तरह की रियायत दी गई। इसमें मुफ्त में अनाज दिया था। बारिश के दौरान और उसके बाद कृषि क्षेत्र में ज्यादा काम होता है। दूसरे क्षेत्र में सुस्ती आती है। जुलाई से त्यौहारों का सीजन भी शुरु हो जाता है। यह सीजन जरुरत और खर्च भी बढ़ाता है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार किया जा रहा है। यह नवंबर महीने के आखिरी तक गरीबों को मुफ्त अनाज योजना बढ़ा दी गई है। सरकार ने इन पांच महीनों के लिए 80 करोड़ से अधिक जनता के लिए पांच किलो गेहूं या चावल मुफ्त मुहैया कराया जाएगा। प्रत्येक परिवार को एक किलो चना भी मुफ्त भी मिलेगा।

किसान और करदाताओं को श्रेय

इस योजना में भारत सरकार को 90 हजार करोड़ रुपए का खर्च आएगा। पिछले तीन महीनों का खर्च जोड़ने पर यह खर्च 150 लाख करोड़ रुपए हो जाएगा। कई राज्य अच्छा काम कर रहे हैं। देश में एक राष्ट्र और एक राशनकार्ड का इंतजाम किया गया है। इसका फायदा अपना गांव छोड़कर दूसरे राज्य में जाने वाले नागरिकों को मिलेगा। यह श्रेय सरकार का नहीं बल्कि किसान और ईमानदार कर चुकाने वाले नागरिकों की वजह से संभव हो पा रहा है। देश का अन्न भंडार भरपूर है। खजाना खाली भी नहीं होने का इशारा करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विपक्ष के नेताओं को जवाब दिया।

रेडियो के बाद टीवी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जनता से संवाद करने के लिए बहुत चर्चित हैं। वे जनता से सीधे संवाद करते हैं। इसके लिए टीवी रेडियो भी शामिल है। प्रधानमंत्री का जनता से संवाद करने वाला मन की बात (Man Ki Baat) बहुत चर्चित रहा है। देश की जनता को संबोधित करने के लिए पूरे कोरोना काल में आधा दर्जन से अधिक बार सामने आए हैं। इसमें से तीन बार रेडियो पर मन की बात के माध्यम से उन्होंने देश वासियों से चर्चा की थी। यह चर्चा 29 मार्च, 26 अप्रैल और 31 मई है। इसके अलावा हाल ही में 28 जून को उन्होंने मन की बात से देश को संबोधित किया था।

यह भी पढ़ें:   MP Suicide Case: लॉक डाउन में बिहार जाने को नहीं मिला तो फंदे पर झूला मजदूर

यह भी पढ़ें : मध्य प्रदेश में भाजपा की सरकार लेकिन विहिप नेता की हत्या पर किसी ने कुछ नहीं बोला

संबोधन से पहले यहां हुई मीटिंग

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लॉक डाउन का ऐलान 24 मार्च की रात को किया था। पहला लॉक डाउन 21 दिन का था। इससे पहले जनता कर्फ्यू लगाने की भी घोषणा टीवी में प्रधानमंत्री ने की थी। इधर, मंगलवार को गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने देश के नाम प्रधानमंत्री के संबोधन को लेकर ट्वीट भी किया। उन्होंने कहा यह संबोधन महत्वपूर्ण हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश को संबोधित करने से पहले देश में बन रही वैक्सीन के संबंध में जानकारी अफसरों से हासिल की। दरअसल, एक वैक्सीन को आईसीएमआर ने परीक्षण के लिए अनुमति दे दी है।

यह भी पढ़ें : मध्य प्रदेश में राजनीति में कुछ भीतर ही भीतर बड़ा होने के संकेत मिल रहे

विपक्ष के निशाने पर सरकार

यह संबोधन कई मायने में महत्वपूर्ण था। दरअसल, देश भर में चीन सीमा विवाद, चीनी उत्पादों के बहिष्कार और पेट्रोल डीजल के दामों को लेकर विपक्ष घेराबंदी कर रहा था। संबोधन को लेकर लोगों को आशा थी कि प्रधानमंत्री इन विषयों पर भी कुछ देश को बताएंगे। इसलिए कई मायनों में यह संबोधन को लेकर देशभर के बुद्धिजीवियों और विपक्षी दलों के नेताओं की भी नजर टिकी थी। देश में भाजपा सरकार को लेकर कांग्रेस नेता सोनिया गांधी (Soniya Gandhi), राहुल गांधी (Rahul Gandhi) से लेकर कई अन्य नेता ट्वीट और वीडियो सोशल मीडिया में वायरल कर रहे थे।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

 

Don`t copy text!