Bhopal Oxygen Crisis: जेपी अस्पताल में कुछ घंटों का ऑक्सीजन, शहर में बिगड़े हालात

Share

Bhopal Oxygen Crisis: वायुसेना की मदद से गुजरात के जाम नगर से बुलाई जा रही ऑक्सीजन

Bhopal Oxygen Crisis
भोपाल के भेल स्थित गेट के बाहर लगी लंबी कतार। यह नजारा कल जैसा आज भी बना हुआ है। ।- File Photo

भोपाल। मध्य प्रदेश के कई शहरों से ऑक्सीजन की कमी के समाचार मिल रहे हैं। जबलपुर में गैलेक्सी अस्पताल में ऑक्सीजन न मिलने से पांच मरीजों की मौत की जानकारी सामने आई है। वहीं भोपाल ताजा समाचार हैरानी करने वाला है। यहां के जय प्रकाश अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी (Bhopal Oxygen Crisis) से पिछले चौबीस घंटों से जूझ रहा है। यहां गुरुवार को फिर हालात बिगड़ गए थे। ऑक्सीजन कमी को देखते हुए एमपी सरकार ने गुजरात के जाम नगर से ऑक्सीजन कैप्सूल टैंकर को वायु सेना से लिफ्ट करके इंदौर लाया जा रहा है।

एम्स ने भर्ती करने से इंकार किया

Bhopal Oxygen Crisis
एम्स भोपाल—फाइल फोटो

भोपाल अपडेट न्यूज करने के लिए द क्राइम इंफो ने शहर के कई अस्पतालों के हालातों पर फिर से नजर दौड़ाई। इसमें पता चला कि भोपाल के एम्स अस्पताल (Bhopal AIIMS Hospital News) में नए मरीजों को भर्ती करने से इंकार कर दिया गया है। यहां हरदा से एक मरीज को लेकर आए परिजनों को मायूस होना पड़ा। हालांकि यह बात मीडिया में लीक हुई तो एम्बुलेंस में ही इलाज करना शुरु कर दिया गया। इधर, कलेक्टर अविनाश लवानिया ने ऑक्सीजन सिलेंडर आडिट कराने के लिए कमेटी बना दी है। यह कमेटी निगम अधिकारी सीपी बोहल (CP Bohal) की निगरानी में काम करेगी। भोपाल में इस वक्त 100 टन ऑक्सीजन की मांग प्रतिदिन आ रही है। जबकि सप्लाई 80 टन हो रही है।

यह भी पढ़ें: अस्पताल में तो ऑक्सीजन आज नहीं तो कल पहुंच जाएगा लेकिन यह जो तस्वीरें आ रही है उसे कोई भी इतनी आसानी से नहीं भूल सकता

यह भी पढ़ें:   Attempt To Murder: शरारती पड़ोसी को टोकना पड़ा महंगा

जेपी में अफरा—तफरी मची

Bhopal Oxygen Crisis
जेपी अस्पताल, भोपाल- फाइल फोटो

ऑक्सीजन की कमी से भोपाल प्रायवेट कोविड अस्पताल के अलावा सरकारी अस्पताल भी जूझ रहे हैं। गुरुवार की ही तरह शुक्रवार को भी जेपी अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म होने की खबरें फैली। जिसके बाद आनन—फानन में यहां ऑक्सीजन के इंतजाम किए गए। सूत्र बता रहे हैं कि यह अपर्याप्त है। यहां 140 मरीज भर्ती है। इस मामले में प्रभारी सिविल सर्जन डॉक्टर परवेज खान (Dr Parvez Khan) ने बताया कि माइक्रो सिलेंडर तत्काल में मुहैया करा दिए गए हैं। हालांकि यह कितनी देर चलेंगे के सवाल पर वे निरुत्तर हो गए। इधर, भेल से की जा रही ऑक्सीजन सप्लाई बदस्तूर जारी है। यहां एक किलोमीटर की लंबी लाइन लगी है। जिन्हें कई घंटों बाद ऑक्सीजन मिल रहा है।

Don`t copy text!