MP Vidhansabha: चार दिन सरकार के लिए होंगे मुश्किल भरें, जानिए क्यों

Share

MP Vidhansabha: मानसून सत्र के लिए अधिसूचना जारी, तीसरी लहर की संभावनाओं को देखते हुए बनेगी गाइड लाइन

MP Vidhansabha
मध्य प्रदेश विभानसभा— फाइल फोटो

भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा (MP Vidhansabha) का मानसून सत्र एक महीने की देरी से शुरु होने जा रहा है। यह सत्र अगले महीने चार दिनों तक चलेगा। तीसरी लहर की संभावनाओं के बीच आयोजित हो रहे इस सत्र की गाइडलाइन विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम (Girish Gautam) की तरफ से बनाई जाएगी। इस संबंध में मंगलवार को सरकार ने अधिसूचना जारी कर दी है। सत्र में सवाल पूछने की अंतिम तारीख 24 जुलाई रखी गई है। इस सत्र में कोरोना महामारी के इंतजामों को लेकर सरकार पर विपक्ष घेराबंदी कर सकता है। वहीं पेट्रोल—डीजल पर टैक्स को भी लेकर विपक्ष घेर सकता है।

तीसरी लहर का रखा जाएगा ख्याल

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा (Homeminister Narrottam Mishra) ने कहा कि कोरोना एमपी में फिलहाल काबू में है। प्रदेश में 284 एक्टिव केस बचे हैं। रिकवरी रेट 95 फीसदी पर है। प्रदेश में मंगलवार को 74 हजार टेस्ट हुए थे। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि कांग्रेस कमजोर पार्टी हो गई है। इसलिए वह पीके की शरण में हैं। उसे लगता है कि ऐसा करने से पंजाब में चल रहा घमासान थम जाएगा। वर्षाकालीन विधानसभा सत्र शुरु करने का निर्णय लिया गया है। यह सत्र चार दिवसीय होगा जो 09 से 12 अगस्त तक चलेगा। इसमें अनुपूरक अनुमान, ध्याानाकर्षण, शून्यकाल, विधेयक प्रश्नकाल के विषय पर चर्चा होगी। विधानसभा अध्यक्ष कोरोना की संभावित तीसरी लहर की सुरक्षा को मद्देनजर निर्णय लेंगे।

कमलनाथ ने काफी देर से भेजा आयोडेक्स

MP Vidhansabha
आवास पर मीडिया से बातचीत करते मंत्री नरोत्तम मिश्रा फ़ाइल पिक्चर

ओबीसी आरक्षण के सवाल पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने जितनी भी घोषणाएं हुई उसमें से एक भी पूरी नहीं हुई। सिर्फ कागज में घोषणाएं की गई। ओबीसी आरक्षण बिल का ड्राफ्ट ही गलत तैयार किया गया। इसलिए वह अदालत से खारिज हो गया। तब कमलनाथ की ही सरकार थी। ऐसे ही किसान और बेरोजगारों को लेकर भी कांग्रेस भ्रम पैदा करती रही है। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर प्रदर्शन के दौरान वॉटर केनन छोड़े जाने के सवाल पर कहा कि एनएसयूआई को यह बात तीन दिन बाद पता चली। जबकि वे उनकी पार्टी के बुजुर्ग नेता है। उनके साथ अन्याय हुआ है तो युवाओं को यह पता करने में तीन दिन लग गए। उन्होंने तंज कसते हुए यह भी कहा कि कमलनाथ ने भी काफी देरी से उन्हें आयोडेक्स भेजा है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Loot Case: टीचर का पर्स लुटेरे ने झपटा

यह भी पढ़ें: पुलिस कह रही है महिला सड़क दुर्घटना में जख्मी हुई थी, परिवार का दावा है कि उसकी पुलिस ने ही हत्या की है

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal Political News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!