Bhopal Suicide Case: मूर्तिकार ने फांसी लगाई

Share

Bhopal Suicide Case:  लॉक डाउन और कोरोना के चलते नहीं बिक पा रही थी मूर्तियां

Bhopal Suicide Case
यह है वह पंडाल जहां मूर्तिकार ने आत्महत्या की थी

भोपाल। मूर्तिकार समेत तीन व्यक्तियों ने खुदकुशी कर ली है। यह घटनाएं मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal Suicide Case) की है। मूर्तिकार लॉक डाउन से परेशान था। इस कारण उसकी मूर्तियां बिक नहीं पा रही थी। इसके अलावा वह किडनी रोग से भी जूझ रहा था। जिसमें उसको भारी खर्च आ रहा था। इसे अलावा दो अन्य खुदकुशी (Bhopal Hanging Case) केे मामले सामने आए हैं। जिसमें मर्ग कायम किया गया है।

मूर्तियों के बीच लटकी थी लाश

गोविंदपुरा थाना पुलिस के अनुसार घटना 21 दिसंबर की दोपहर की है। यहां हबीबगंज स्थित कालीबाड़ी के नजदीक मूर्तिकार का पंडाल है। जिसमें एक व्यक्ति की लाश लटकी मिली। यह सूचना पुलिस को हरिकिशन ने दी थी। शव की पहचान 60 वर्षीय निखिल चंद्र पाल (Nikhil Chandra Pal) के रुप में हुई है। वह अवधपुरी स्थित श्यामापल्ली में रहता था। वह पेशे से मूर्तिकार भी था। जांच में पता चला कि उसकी किडनी खराब थी। जिसमें उसको खर्च आ रहा था। वहीं कोरोना के चलते कारोबार भी ठप्प पड़ा था। इन्हीं बात को लेकर वह परेशान चल रहा था। मूर्तियों के बीच उसकी लाश लटकी मिली थी।

जेब से मिला सुसाइड नोट

Bhopal Suicide Case
सांकेतिक चित्र

इधर, श्यामला हिल्स थाना स्थित धर्मपुरी निवासी राजेन्द्र चावरिया पिता छन्नूलाल उम्र 45 साल ने फांसी लगा ली। राजेन्द्र चावरिया (Rajendra Chavariya Suicide Case) नगर निगम में दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी था। पत्नी किरण भी साथ में नौकरी करते थे। दोनों सफाई कर्मचारी का काम देखते थे। पुलिस को घटना की जानकारी 21 दिसंबर की सुबह साढ़े नौ बजे हजेला अस्पताल से मिली थी। उसको फंदे (BMC Employee Suicide) से उतारकर परिजन ले गए थे। अस्पताल में उसकी जेब से सुसाइड नोट मिला। जिसमें उसके खिलाफ श्यामला हिल्स थाने में दर्ज मुकदमे का जिक्र है। उसका अंसल अपार्टमेंट में रहने वाले रहवासियों से विवाद हुआ था।

यह भी पढ़ें:   MP Police Gossip: टीआई को रसूख दिखाना महंगा पड़ा

यह भी पढ़ें: दिल्ली के इस वर्दीधारी एसीपी ने भोपाल के लोगों को यह बोलकर माल बटोर लिया

पत्नी से विवाद के बाद फंदे पर झूला

इसके अलावा कोलार थाना क्षेत्र स्थित बीमाकुंज के नजदीक गणपति इंकलेव में एक मजदूर फंदे पर झूल गया। वह बंजारी इलाके में रहता था। उसने दो शादियां की थी। दोनों पत्नी एक ही कॉलोनी में आस—पास रहती थी। मजदूर की पहचान कैलाश बाल्मिकी (Kailash Balmiki) पिता मुकुंदी उम्र 52 साल के रुप में हुई है। आत्म हत्या की खबर चेतन ने 21 दिसंबर की सुबह साढ़े नौ बजे दी थी। पुलिस को जांच में पता चला है कि कैलाश बाल्मिकी की दूसरी पत्नी से कहासुनी हुई थी। पुलिस ने सभी मामलों में अभी मर्ग कायम किया है। पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिए गए हैं।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!