Indore Double Murder : माता-पिता की हत्या की साजिश रचने वाली नाबालिग, प्रेमी के साथ पकड़ाई

Share

पुलिस पूछताछ में किए सनसनीखेज खुलासे

Indore Double Murder Case
पुलिस गिरफ्त में आरोपी

इंदौर। 15 वीं बटालियन के कांस्टेबल ज्योति प्रसाद शर्मा (Constable Jyoti Prasad Sharma) और उनकी पत्नी नीलम (Neelam) की हत्या के आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। ज्योति शर्मा और नीलम की हत्या की साजिश उनकी नाबालिग बेटी ने ही रची थी। उसने प्रेमी के साथ मिलकर माता-पिता को ही मरवा दिया। 15 वर्षीय बेटी का धनंजय उर्फ डीजे नामक युवक के साथ प्रेम-प्रसंग चल रहा था। गुरुवार को सामने आए सनसनीखेज मामले में पुलिस को शुक्रवार को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है।

राजस्थान भाग रहे थे आरोपी

बुधवार-गुरुवार की दरमियानी रात आरोपियों ने वारदात को अंजाम दिया था। चाकू और दराते से ज्योति प्रसाद और नीलम को मौत के घाट उतारा था। जिसके बाद वो बाइक से फरार हो गए थे। बाइक से ही राजस्थान जाने की योजना बनाई थी। लेकिन एक्शन में आई पुलिस ने मंदसौर-नीमच रोड़ पर उन्हें धर दबोचा।

फोन करके डीजे को बुलाया था

आरोपी नाबालिग ने बताया कि उसने ही फोन करके प्रेमी धनंजय को बुलाया था। बेटी ने माता-पिता की हत्या की साजिश रची थी। उसने पुलिस को बताया कि घटना वाली रात ज्योति प्रसाद शराब पीकर आए थे। मम्मी नीलम घर पर सो रही थी। पुलिस पूछताछ में उसने बताया कि माता-पिता के बीच रोज झगड़ा होता था। जिससे वो तंग आ चुकी थी। पिता का मेरे प्रति व्यवहार भी ठीक नहीं था। धनंजय ने कहा कि वो नाबालिग से प्रेम करता है, जिसके चलते उसकी परेशानी देखी नहीं गई।

भागने की साजिश रची थी

पुलिस ने मौके से एक पत्र बरामद किया था। जिसमें उसने लिखा था कि पिता ज्योति प्रसाद उसके साथ गलत काम करता था, मां नीलम भी उसकी मदद करती थी। सूत्रों के मुताबिक पुलिस पूछताछ में भी नाबालिग ने यहीं बात दोहराई है। इन सभी कामों की वजह से ही नाबालिग के मन में माता-पिता के प्रति नफरत घर कर गई थी। उसने अपने प्रेमी के साथ भागने की प्लानिंग कर ली थी।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Suicide Case: डिब्बे की मदद से फंदे पर झूला

नींद की गोलियां भी दी थी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नाबालिग और धनंजय ने पहले माल बटोरने की साजिश रची थी। जिसके तहत धनंजय ने नींद की गोलियां खरीदकर नाबालिग को दी थी। नाबालिग ने खाने में वो गोलियां मिला भी दी थी, लेकिन वो असरकारक नहीं थी। दोनों ने सोचा की गोलियां असर कर रही है। लिहाजा वो माल बटोरने लगे। लेकिन खटपट की आवाज सुनकर ज्योति प्रसाद की नींद खुल गई।

दराते और चाकू से किए वार

नींद से जागे ज्योति ने डीजे को पकड़ने की कोशिश की। बचने के लिए डीजे ने दराते और चाकू से ज्योति पर ताबड़तोड़ वार कर दिए। आवाज सुनकर नीलम की नींद खुल गई। उसने बीचबचाव की कोशिश की तो उसे भी मौत के घाट उतार दिया। इस दौरान नाबालिग बेटी कुत्ते को घुमाने के बहाने घर से बाहर निकल गई, ताकि किसी को शक न हो।

हाईवे पर फेंक दिए हथियार

वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी बाइक पर सवार होकर भाग निकले। सुपर कॉरिडोर के पास हथियार फेंक दिए। दोनों ने एक लाख रुपए और कुछ जेवर बटोरे थे। उन्हें लेकर वो भाग रहे थे।

यह भी पढ़ेंः दुष्कर्म के बाद कॉलेज छात्रा को पांचवे माले से फेंका

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!