Bhopal Crime: दादा की सहूलियत बनी पोते की मौत का कारण

Share

आठ साल के बच्चे की हैरान कर देने वाली मौत से पुलिस विभाग भी परेशान

Bhopal Abhinav Tiwari Suicide Case
मृतक अभिनव तिवारी

भोपाल। बच्चे की मौत (Bhopal Minor Boy Death Case) का एक मामला पुलिस के लिए पहेली बन गया है। वह समझ नहीं पा रही है कि आखिर वह करे तो करे क्या। मामला मध्य प्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) का है। जिस बच्चे की मौत हुई वह दादा की सुविधा के लिए बांधी गई रस्सी पर फंस (Bhopal Minor Hanged) गया था। जिस कारण उसकी दम घुटने से मौत हो गई। पुलिस ने फिलहाल मर्ग कायम कर शव परिजनों को सौंप दिया है।

दर—दर भटका परिवार

अशोका गार्डन थाना पुलिस ने बताया कि यह घटना पुलिस को 19 जून की रात साढ़े दस बजे पता चली। हमीदिया अस्पताल से घटना बताई गई थी। अस्पताल ने बताया था कि अभिनव तिवारी (Abhinav Tiwari Death Case) पिता प्रदीप तिवारी उम्र 8 साल मृत हालत में लाया गया है। पुलिस ने परिजनों से संपर्क किया। परिवार ने बताया कि वह हमीदिया अस्पताल से पहले घर के आस—पास सभी निजी अस्पताल ले गए थे। लेकिन, चिकित्सकों ने इलाज करने से मना कर दिया था।

ऐसे हुई घटना

मामले की जांच कर रहे एसआई संतोष सेन (SI Santosh Sen) ने बताया कि अभिनव तिवारी के पिता प्रदीप तिवारी मजदूरी करते हैं। अभिनव का बड़ा भाई भी है जिसकी उम्र 12 साल है। प्रदीप तिवारी (Pradip Tiwari) के पिता को घुटने में समस्या है। इसलिए वह शौचालय में जाते हैं तो उठ नहीं पाते हैं। परिवार ने उनकी सुविधा के लिए शौचालय में उठने—बैठने के लिए रस्सी बांध दी है। इसी रस्सी में अभिनव तिवारी लटका (Rassi Par Bachha Latka Mila) मिला था।

यह भी पढ़ें:   भाजपा की तरह चुनाव आयोग का उम्र का फॉर्मूला
कैसे हुआ पता नहीं

जांच अधिकारी ने बताया कि अभिनव को लघुशंका आई थी। इसलिए उसके साथ दादी भी गई थी। बाहर से हल्की सटकनी अभिनव ने लगा दी थी। लेकिन, काफी देर तक वह बाहर नहीं आया तो दादी ने भीतर जाकर देखा था। वह दादा के लिए बांधी रस्सी पर लटका (Ashoka Garden Death Case) था। परिवार को लगा कि उसकी सांसे चल रही है। लेकिन, उसकी मौत हो गई थी। घटना की वजह से परिवार सदमे में है। इसलिए मौत को लेकर अभी विस्तृत बयान परिवार का लिया जाना बाकी है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!