MP Crime: ज्यादती के बाद हत्या के मामले में सरकार का सिस्टम फैल, मंत्री से लेकर अफसर खामोश

Share

परिवार के साथ पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान देंगे धरना, 8 महीने बाद भी डीएनए रिपोर्ट नहीं मिली

MP Crimeभोपाल। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh Crime) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime) के यह हालात है। सिस्टम कितना फैल हो चुका है इसकी बानगी पता चलती है। मामला भोपाल (#Bhopal Crime) के कोहेफिजा इलाके में ज्यादती के बाद हत्या का है। इस मामले को आठ महीने बीत चुके हैं। लेकिन, पुलिस आज तक डीएनए रिपोर्ट ही हासिल नहीं कर सकी है। अब इस मामले में राजनीति तेज हो गई है। परिवार के साथ पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Ex CM Shivraj Singh Chouhan) ने धरने का ऐलान कर दिया है। इधर, सरकार और पुलिस अफसरों ने अब तक चुप्पी नहीं तोड़ी है।

जानकारी के अनुसार परिवार इस मामले में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi), मुख्यमंत्री कमलनाथ (CM Kamalnath) से लेकर कई अफसरों के दरवाजे पर जाकर मिन्नते कर चुका हैं। परिवार फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाने की मांग कर रहा है। आरोपियों ने 12 साल की बच्ची के साथ गैंग रेप करने के बाद उसकी निर्मम तरीके से हत्या (Bhopal Rape And Murder) कर दी थी। घटना मध्यप्रदेश (#Madhya Pradesh Rape And Murder) की राजधानी भोपाल (#Bhopal Rape And Murder) के मनुआभान टेकरी पर हुई थी। इस घटना को 8 महीने बीत चुके हैं। पुलिस ने इस मामले में दो आरोपी अविनाश साहू (Avinash Sahu) और जस्टिन भले (Justin Bhale) को गिरफ्तार किया था। बच्ची घटना वाले दिन अपनी बुआ और उसके ब्याय फ्रेंड अविनाश के साथ मनुआभान की टेकरी आई थी।

यह है पुलिस की कार्रवाई
पुलिस को घटना के दूसरे दिन लाश मिली थी। यह लाश तब मिली थी जब बच्ची के बुआ से पुलिस ने पूछताछ की थी। उसका सिर पत्थर से कुचला हुआ था। पुलिस ने इस मामले में 45 गवाह बनाए हैं। जिसमें से अब तक केवल पांच गवाहों के पुलिस बयान दर्ज करा सकी है। पुलिस ने इस मामले में 16 जून, 2019 को कोर्ट में चालान पेश किया था। पुलिस का कहना है कि डीएनए रिपोर्ट अभी नहीं मिली है। यह रिपोर्ट सागर (Sagar Lab) लैब भेजी गई थी। वहां रिपोर्ट नहीं बनने की जानकारी मिलने पर उसको हैदराबाद की लैब (Hyderabad Forensic Lab) में भेजा गया।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Rape Case: मां को बीमार बताकर युवती को बुलाया, घर ले जाकर लूट ली आबरु

विपक्ष परिवार के साथ सरकार कह रही यह राजनीति
इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Former CM Shivraj Singh Chouhan) कई बार अपनी प्रतिक्रिया दे चुके हैं। इसके बावजूद पुलिस प्रशासन से लेकर सरकार गंभीर दिखाई नहीं दी। अब पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा है कि वे बेटी को न्याय दिलाने के लिए रोशनपुरा पर सोमवार को धरना देंगे। कांग्रेस के मीडिया समन्वय नरेंद्र सलूजा (Narendra Saluja) का इस धरने को लेकर दावा है कि पूर्व मुख्यमंत्री इस मामले में राजनीति कर रहे हैं। उन्हें ऐसा करने का हक नहीं हैं। पूर्व मुख्यमंत्री के कार्यकाल में प्रदेश की जो स्थिति थी वह छुपी नहीं हैं।

Don`t copy text!