UP Crime : नाबालिग का यौन शोषण करता था मौसा, हो गई गर्भवती

Share

डरा धमकाकर किया रिश्तों का कत्ल, इलाज कराते वक्त हुआ खुलासा

Uttar Pradesh Crime
सांकेतिक फोटो

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में नाबालिग लड़की से बलात्कार (Minor’s Rape) का मामला सामने आया है। पुलिस ने बताया कि पीड़िता के गर्भवती (Pregnant)  होने से मामला खुला और लड़की के मौसा पर ही बलात्कार करने का आरोप है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) दिनेश कुमार पी ने बताया कि एक व्यक्ति ने रामपुर मनिहारान थाने में तहरीर देकर कहा है कि उसका साढ़ू छह महीने पहले उसके 18 वर्षीय पुत्र को इलाज कराने के नाम पर अपने घर ले गया था। गत 27 जून को वह उसकी 13 साल की बेटी को भी अपने साथ ले गया, ताकि वह अपने भाई की देखभाल कर सके। एसएसपी ने बताया कि आरोप है कि उसके साढ़ू ने किशोरी को डरा धमका कर दुष्कर्म किया। गत आठ नवम्बर को उसकी पुत्री सहारनपुर वापस आ गई। दो दिन पूर्व जब उसकी पुत्री को चिकित्सक को दिखाया गया तो उसके गर्भवती होने का पता चला। उन्होंने बताया कि मामले की रिपोर्ट दर्ज कर ली गई। पुलिस फरार आरोपी की तलाश कर रही है।

मंगेतर को जिंदा जलाने वाले को उम्रकैद

बहराइच जिले की एक अदालत ने अपनी मंगेतर की जलाकर हत्या करने के दोषी एक युवक को उम्र कैद तथा जुर्माने की सजा सुनाई है। अभियोजन पक्ष के अनुसार जरवलरोड थाना क्षेत्र के जरवल कस्बा निवासी लल्लन की बेटी की शादी पड़ोस में रहने वाले जाने आलम से 15 अक्तूबर 2017 को होनी तय हुई थी। तय तारीख से पूर्व आलम ने शादी से इनकार कर दिया था और उसने 15 अक्तूबर को लल्लन के घर में घुसकर उसकी बेटी पर मिट्टी का तेल छिड़क कर उसे आग लगा दी और घटनास्थल से भाग गया। गंभीर रूप से झुलसी युवती की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी । लल्लन ने इस मामले में थाने में आलम और उसके परिवार के तीन अन्य सदस्यों के विरुद्ध मामला दर्ज कराया था। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सुभाष चंद्र ने इस मामले में आलम को दोषी करार देते हुए शनिवार को उसे आजीवन कारावास तथा 22 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई। मामले के बाकी तीन आरोपियों के खिलाफ कोई सुबूत ना मिल पाने की वजह से उनके विरुद्ध आरोप पत्र दाखिल नहीं किया गया था।

यह भी पढ़ें:   Jail Break : जेल की दीवार फांदने में हुआ कामयाब लेकिन चलती रेल में नहीं चढ़ सका कैदी, हुई मौत
Don`t copy text!