Mumbai Murder Mystery: गोद ली बेटी का यौन शोषण करता था बाप, काटकर सूटकेस में भरकर फेंका

Share

सूटकेस में मिले कपड़ों के टैग की मदद से कातिलों तक पहुंची क्राइम ब्रांच, हत्या करने के बाद तीन दिन तक शरीर के टुकड़े करते रहे कातिल

हत्या के मामले में गिरफ्तार आराध्या को मुंबई क्राइम ब्रांच अदालत में ले जाते हुए

मुंबई। कातिल अपने खिलाफ सबूत मौके पर छोड़ जाता है। बस उसको बारीकी से देखने की जरूरत है। अपराध शास्त्र  (Criminology) के इस सच को मुंबई (Mumbai Crime) की क्राइम ब्रांच ने साबित कर दिखाया। उसने भौतिक के साथ तकनीकी बिंदुओं की जांच का अनूठा उदाहरण पेश किया है। इसकी मदद से मुंबई पुलिस (#Mumbai Crime Branch) एक कठिन माने जा रहे हत्याकांड को कुछ दिनों में ही सुलझा (Mumbai Murder Mystery) लिया है। कातिलों ने एक व्यक्ति के शरीर के कई टुकड़े करके उसको सूटकेस में भरकर फेंक (Mumbai Brutal Murder) दिया था। पुलिस को यह सूटकेस माहिम (Mahim Beach) बीच पर तैरता हुआ मिला था। आरोपियों में एक युवती शामिल है जो उस व्यक्ति की दत्तक पुत्री थी जिसका शव सूटकेस के भीतर मिला था। युवती ने उसकी हत्या यौन शोषण (Mumbai Rape Case) करने के चलते की थी। इस मामले में युवती का साथ देने वाले उसके दोस्त को भी क्राइम ब्रांच ने दबोच लिया है।

जानकारी के अनुसार एक सप्ताह पहले माहिम समुद्र तट पर मुंबई पुलिस (Mumbai Police) को सूटकेस मिला था। यह सूटकेस खोला गया तो उसमें एक व्यक्ति की लाश मिली थी। लाश कई टुकड़ों में थी। पहचान कर पाना पुलिस के लिए बेहद मुश्किल था। पुलिस को लाश के अलावा सूटकेस से शर्ट, स्वैटर और पेंट मिली थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच मुंबई क्राइम ब्रांच (Mumbai Crime Branch) को सौंपी। क्राइम ब्रांच की टीम ने एक शर्ट पर टेलर का टैग देखा। उसको तलाशकर क्राइम ब्रांच उसके पास पहुंची। टेलर ने उस शर्ट का बिल निकाला। इसमें किसी रेबेलो नाम के व्यक्ति के हस्ताक्षर थे। मुंबई क्राइम ब्रांच रेबेलो को नहीं जानती थी। इसलिए उसने फेसबुक (Facebook) में मौजूद सारे रेबेलो को निकालकर टेलर को दिखाया। जिसमें से एक व्यक्ति को उसने पहचान लिया। उसका पता सांता क्रूज का निकला।

यह भी पढ़ें:   समय पर नहीं सोया 8 साल का बच्चा, मिली मौत की सजा

यह भी पढ़ें: करप्ट पुलिस कांस्टेबल का वीडियो में कबूलनामा जिसमें फंस गए हैं टीआई भी

मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम उसके घर पहुंची। घर पर ताला लगा हुआ था। आस—पास लोगों से पता लगाया गया तो बताया कि उसकी एक दत्तक पुत्री आराध्या जितेंद्र पाटील (Jitendra Patil) उर्फ रिया बेनेट (Riya Benet) रेबेलो रहती है। वह उसके पास अक्सर आता—जाता था। पुलिस दत्तक पुत्री (Adopt Daughter Killing) के फ्लैट पर पहुंची तो वहां ताला लगा था। पुलिस ने उसका नंबर हासिल किया और उसकी लोकेशन का पता लगाने का काम शुरू किया। कुछ दिन इंतजार के बाद दत्तक पुत्री की जानकारी पुलिस के हाथ लग गई। उसको पूछताछ के लिए बुलाया गया। उसने बताया कि रेबेलो संगीत कार्यक्रम के लिए कनाडा (Canada) गया हुआ है। रेबेलो संगीत कार्यक्रम (Mumbai Music Concern) आयोजित करने का काम करता था। पुलिस को उसकी बात का ऐतबार नहीं हुआ।
यह भी पढ़ें: पूर्व मंत्री का वीडियो शराब और शबाब के साथ हुआ वायरल तो कैस आया भूचाल

फ्लैट में रखी थी लाश
पुलिस ने आराध्या (Killer Aaradhya) से मुलाकात करने वालों का पता लगाया। जिसमें पता चला कि उसका एक 16 साल का दोस्त है। वह अक्सर उसके साथ आती—जाती है। पुलिस ने उसको पूछताछ के लिए तलब किया गया। जब पुलिस ने उससे सख्ती दिखाई तो वह टूट गया। उसने जो खुलासा किया उसके बाद आराध्या को हिरासत में ले लिया गया। पुलिस के सामने आराध्या ने खुलासा किया कि रेबेलो (Rebelo Benet) उसके साथ यौन शोषण करता था। इस बात से वह तंग आ चुकी थी। इसलिए 26 नवंबर को जब रेबेलो मेरे पास आया तो उसके सिर पर डंडा मारकर उसको बेहोश कर दिया। इसके बाद चाकू से उसके शरीर को गोद दिया। उसकी हत्या की जानकारी मैंने अपने दोस्त को दी। इसके बाद उसको ठिकाने लगाने का फैसला किया।

यह भी पढ़ें:   10 साल पुरानी बिल्डिंग गिरने से दो लोगों की मौत, 18 के दबे होने की आशंका

यहां फेंकी थी लाश
आराध्या ने बताया कि शव सूटकेस में भरकर फेंकने का निर्णय लिया। लेकिन, वह उसमें समा नहीं पा रहा था। इसलिए तीन दिन तक उसके शरीर के टुकड़े करते रहे। छोटे—छोटे हिस्से करने के बाद उसको सूटकेस में भरा गया। फिर उसको वकोला के पास मीठी नदी में फेंक दिया गया। नदी से यह सूटकेस समु्द्र में चला गया था। जिसको पुलिस ने चार दिन पहले माहिम समुद्र तट से बरामद किया था। मुंबई क्राइम ब्रांच ने हत्या के इस मामले में 19 वर्षीय आराध्या और 16 वर्षीय दोस्त को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों को अदालत में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है।

Don`t copy text!