MP PHQ News: डीएसपी ठाकुर फिंगर प्रिन्ट ब्यूरो के डायरेक्टर बने

Share

MP PHQ News: राज्य पुलिस सेवा के तकनीकी संवर्ग के अधिकारी को मिली यह सौगात, पुरस्कार और प्रयोग के कारण मिली यह जिम्मेदारी

MP PHQ News
मध्यप्रदेश पुलिस मुख्यालय भवन- फ़ाइल फोटो

भोपाल। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक एससीआरबी चंचल शेखर ने डीएसपी गणेश सिंह ठाकुर (DSP Ganesh Singh Thakur) को फिंगर प्रिंट ब्यूरो का डायरेक्टर बनाया है। यह आदेश जारी करने से पहले डीजीपी सुधीर सक्‍सेना (MP PHQ News) से एडीजी ने चर्चा की थी। राज्य पुलिस सेवा में तकनीकी संवर्ग में यह पोस्टिंग काफी अहम मानी जा रही है। दरअसल, तकनीक को ज्यादा प्रभावी तरीके से मैदान में पहुंचाने का लक्ष्य डीजीपी ने रखा है। जिसके तहत यह प्रयोग कारगर माना जा रहा है।

इस कारण मिली यह जिम्मेदारी

फिंगर प्रिन्ट ब्यूरो में चोरी, अंधे हत्याकाण्डों के साथ ही व्यापमं और प्रतियोगी परिक्षाओं से संबंधित फर्जी परीक्षार्थियों की पहचान कर विवेचना में सहयोग किया जाता है। संपत्ति संबंधित विवादित मामलों के निराकरण अज्ञात शव की पहचान कर हत्यारों तक पहुंचने में भी फिंगर प्रिन्ट की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। वर्तमान में नेशनल आटोमेटिक फिंगर प्रिन्ट आयडेन्टिफिकेशन सिस्टम (नेफिस) के उपयोग से अपराधों की पतासाजी करने में तीव्रता आई है। सिवनी में प्राप्त एक अज्ञात शव की फिंगर प्रिन्ट से पहचान कर उज्जैन के हत्यारे को गिरफ्तार करने में महती भूमिका का निर्वहन किया जा चुका है। जिसके लिए जबलपुर के फिंगर प्रिन्ट अधिकारी को पुरुस्कृत किया गया था।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

MP PHQ News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Molestation: भोपाल में छेड़छाड़ के दो मुकदमे दर्ज
Don`t copy text!