Bhopal Post Office News: पोस्ट ऑफिस के सीनियर सुपरिडेंट के खिलाफ प्रेसीडेंट से शिकायत

Share

Bhopal Post Office News: अनियमितताओं के खिलाफ बिगुल फूंकने वाले उप डाकपाल का शहर से ट्राइबल बेल्ट पर किया गया तबादला, चार्जशीट नहीं सौंपने समेत अन्य मांगों को लेकर हंगर स्ट्राइक की चेतावनी, प्रतिक्रिया देने की बजाय डाक विभाग के अफसर के निज स्टाफ ने कहानी सुनकर नहीं पहुंचाई आगे बात

Bhopal Post Office News
भोपाल डाकघर फाइल फोटो।

भोपाल। सरकारी विभाग में जमकर ​बंदरबाट चल रही है। यह बातें किसी व्यक्ति से छुपी नहीं है। लेकिन, उसको उजागर करने वाला भीतरी व्यक्ति हो तो वह सबसे बड़ा देशद्रोही होता है। मामला मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के डाकघर (Bhopal Post Office News) से जुड़ा है। यहां सीनियर सुपरिडेंट की कारगुजारियां उप डाकपाल उजागर कर रहे थे। इस बात से आहत डाकघर के अफसरों ने जांच करने की बजाय सच उजागर करने वाले उप डाकपाल का ही ट्रांसफर कर दिया। वहीं कई संगीन आरोप लगाकर निलंबित भी किया गया। जिसकी चार्जशीट विभाग अब तक उसे नहीं दे सका। अब उप डाकपाल खुलकर मोर्चा संभाल रहे हैं। उन्होंने प्रवर अधीक्षक के खिलाफ राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु से शिकायत करते हुए भूख हड़ताल की चेतावनी दी है।

शहर से 75 किलोमीटर दूर भेजा

जानकारी के अनुसार उप डाकपाल मनोज कुमार चौधरी (Manoj Kumar Chaudhry) है। वे भोपाल शहर के कटारा हिल्स में रहते हैं। उनकी पत्नी भी डाक विभाग में नौकरी करती है। इसलिए केंद्रीय नियमों के अनुसार पति—पत्नी को एक स्थान पर  तैनात करने की नीति कार्मिक विभाग ने बनाई है। लेकिन, मनोज कुमार चौधरी प्रवर अधीक्षक के खिलाफ शिकायत कर रहे हैं। इतना ही नहीं उनके कई मामले वे उजागर भी कर चुके थे। इन बातों से आहत प्रवर अधीक्षक ने उनका तबादला बैरसिया में स्थित ललरिया गांव में कर दिया है। यह गांव शहर से 75 किलोमीटर दूर पड़ता है। इतना ही नहीं यहां जाने के लिए शहर से सीधी परिवहन व्यवस्था भी नहीं हैं। चौधरी का आरोप है कि यह सोची—समझी रणनीति के तहत किया जा रहा है। जिसमें जिम्मेदार अफसर भी मूकदर्शक बने हुए हैं। इस कारण चौधरी ने अब राष्ट्रपति से मामले में हस्तक्षेप करने के लिए आवेदन लिखा है।

अफसर के बजाय निजी स्टाफ लेता है फैसला

मनोज कुमार चौधरी का आरोप है कि निलंबन अवैध था। वहीं कार्रवाई की चार्जशीट अब तक नहीं दी गई। इस घटना को आठ महीने बीत चुके हैं। जबकि नियमानुसार तीन महीने में उसे देना होता है। चौधरी का यह भी आरोप है कि उन्हें तीन महीने का वेतन नहीं दिया गया। उनकी शिकायतों पर प्रवर अधीक्षक को अब तक बचाया जा रहा है। इन्हीं बातों के खिलाफ 26 नवंबर को मनोज कुमार चौधरी ने आमरण भूख हड़ताल (Bhopal Post Office News) पर जाने की चेतावनी दी है। आरोपों को लेकर  इस मामले में चीफ पोस्टमास्टर बी.सारंगी (B Sarangi) से प्रतिक्रिया के लिए संपर्क किया गया। कार्यालय में निजी स्टाफ ने फोन उठाया। बातचीत सुधा तिमिल (Sudha Timil) नाम की एक महिला अधिकारी से हुई। उन्होंने पूरा घटनाक्रम जानने और समाचार सुनने के बाद रिपोर्टर का मोबाइल नंबर नोट कर लिया। इसके बाद सारंगी के चाहने पर प्रति​क्रिया देने की बात बोलकर फोन काट दिया गया। दूसरी बार सारंगी के पीए लक्ष्मीकांत चौधरी (Laxmikant Chaudhry) ने फोन उठाया। उन्होंने बताया कि चीफ पोस्ट मास्टर बैठक में व्यस्त है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal Post Office News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal CBI News: एफसीआई के मैनेजर समेत चार अफसर रिश्वत लेते गिरफ्तार
Don`t copy text!