Bhopal Cyber Fraud: तीन किस्त में खाते से निकाले 65 हजार रूपए

Share

Bhopal Cyber Fraud: आठ महीने बाद तो एफआईआर हुई है, जिनके पास केस डायरी पहुंची वे बोल रहे अभी पीड़ित से बातचीत करना बाकी, आगे मतलब आप निकाल लीजिए…

Bhopal Cyber Fraud
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। सायबर फ्रॉड के आवेदन यूं तो आसानी से थानों में लिए नहीं जाते। पीड़ितों को सबसे पहले सायबर क्राइम में जाने की सलाह दी जाती है। यह बात हो रही है भोपाल (Bhopal Cyber Fraud) शहर की। सायबर क्राइम में भी आवेदनों का अंबार इतना कि जांच दबी रह जाती है। ऐसा ही एक मामला फिर सामने आया है। यह घटना भोपाल शहर के कोहेफिजा थाना क्षेत्र की है। यहां थाने में सायबर फ्रॉड का मुकदमा दर्ज किया गया है। घटना आठ महीने पहले हुई थी। जिसमें जालसाज ने लिंक भेजकर खाते से 65 हजार रूपए निकाल लिए थे। उसके बाद हालत क्या है यह जिन्हें केस डायरी सौंपी गई उनके साथ हुई बातचीत से साफ पता चल जाती है। अफसर का कहना है कि उन्होंने अभी पीड़ित से बातचीत ही नहीं की है। डायरी सायबर क्राइम से आई थी इसलिए एफआईआर कर दी।

यह बोलकर जालसाज ने फंसाया

कोहेफिजा थाना पुलिस के अनुसार 14 अक्टूबर की शाम सात बजे 672/22 धारा 420 जालसाजी का मामला दर्ज किया गया है। जिसकी शिकायत बबलू रैकवार पिता मुरली रैकवार उम्र 28 साल ने दर्ज कराई है। वे कोहेफिजा स्थित सईद नगर में रहते है। घटना 19 फरवरी को हुई थी। बबलू रैकवार (Bablu raikwar) के पास जालसाज ने परिचत बनकर फोन किया। इसके बाद उसे मोबाइल पर एक लिंक भेज दी। जिसको क्लिक करते ही आरोपी ने तीन किस्त में 65 हजार रूपए निकाल लिए। इसकी शिकायत सायबर क्राइम में की गई। अब थाने में केस डायरी एएसआई बने सिंह पवार को मिली है। जिन्होंने क्या बोला यह आपको पता चल ही गया होगा।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal Cyber Fraud
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: दवा कंपनी के सेल्स मैनेजर को अगवा किया
Don`t copy text!