कांग्रेस में युवा नेतृत्व को लेकर शुरु हुआ झगड़ा ! ट्विटर पर ट्रेंड हुए जीतू पटवारी

Share

नकुलनाथ के बयान के बाद, युवा नेताओं के बीच छिड़ी नेतृत्व की जंग

Jitu Patwari
सांसद नकुलनाथ, पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह और जीतू पटवारी

भोपाल। मध्यप्रदेश कांग्रेस (MP Congress) के सामने एक बड़ी मुसीबत खड़ी होती दिखाई दे रही है। कांग्रेस में युवा नेतृत्व को लेकर झगड़ा शुरु हो गया है। पार्टी के अंदर शुरु हुई खींचतान जगजाहिर हो गई हो गई है। ट्वीटर पर पूर्व मंत्री जीतू पटवारी (Jitu Patwari) ट्रेंड कर रहे है। उनके कथित समर्थक उपचुनाव की जिम्मेदारी जीतू पटवारी के हाथ सौंपे जाने की मांग कर रहे है। मध्यप्रदेश में 27 सीटों पर उपचुनाव से पहले कांग्रेस में शुरु हुई उठापटक के कई मायने निकाले जा रहे है। राजनीतिक गलियारों में चर्चा तेज हो गई है कि युवा अब किसे अपना नेता माने ? ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने के बाद से जगह खाली हुई है। जानकारों का कहना है कि इसी जगह को भरने के लिए युवा नेताओं के बीच जंग छिड़ी हुई है। हालांकि कांग्रेस का कहना है कि गुटबाजी की कोई बात नहीं है। ये भाजपा की साजिश है।

बड़े नेताओं से युवा नेताओं तक पहुंची गुटबाजी

हमेशा खेमों में बंटी नजर आने वाली कांग्रेस की गुटबाजी एक बार फिर खुलकर सामने आने लगी है। अब तक कमलनाथ, दिग्विजय सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया, सुरेश पचौरी के समर्थकों के बीच गुटबाजी दिखाई देती थी। लेकिन अब बदलाव के वक्त में युवा नेता भी टकराते नजर आ रहे है। अंदरखाने में गहरी जंग छिड़ती नजर आ रही है। खबर है कि नेतापुत्रों और युवा नेता के बीच गुटबाजी तेज हो गई है।

नकुलनाथ के बयान से शुरु हुई खीचतान

खींचतान की शुरुआत पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के पुत्र और सांसद नकुलनाथ के बयान से हुई है। इस बयान में नकुलनाथ ने कहा था कि ‘युवा नेताओं का नेतृत्व वह करेंगे। पूर्व मंत्री रहे जीतू पटवारी, जयवर्धन सिंह, हनी बघेल, ओमकार सिंह मरकाम मेरे नेतृत्व में काम करेंगे। अपने-अपने क्षेत्र में ये सारे नेता मेरे नेतृत्व में काम करेंगे’। हालांकि इस बयान को कांग्रेस नेता एडिटेट वीडियो बताते रहे है। द क्राइम इन्फो भी इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: पत्नी को लेने आए पति को ससुर ने किया लहुलूहान

देखें वीडियो, सुनिए क्या कहा था नकुलनाथ ने

कांग्रेस सांसद नकुलनाथ के इस बयान से शुरु हुई खीचतान !

Gepostet von The Crime Info am Montag, 27. Juli 2020

न राजा, न व्यापारी अबकी बार जीतू पटवारी

Jitu Patwari
वायरल हो रहा ये पोस्टर

जी हां। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ट्विटर पर ट्रेंड कर रहे है। उनके समर्थक लिख रहे है कि न राजा, न व्यापारी, अबकी बार जीतू पटवारी। यहां राजा का मतलब जयवर्धन सिंह से जोड़कर देखा जा रहा है। वहीं व्यापारी को नकुलनाथ के तौर पर पेश किया जा रहा है। साथ ही समर्थक मांग कर रहे है कि जीतू पटवारी को उपचुनाव की कमान सौंपी जाए।

इससे पहले लगे थे जयवर्धन के पोस्टर

राजधानी भोपाल में कुछ दिनों पहले मंत्री जयवर्धन सिंह के जन्मदिन पर पोस्टर लगाए गए थे। इन पोस्टर्स में जयवर्धन सिंह को भावी मुख्यमंत्री बताया गया था। हालांकि बाद में जयवर्धन सिंह ने पोस्टर लगाने वालों की निंदा करते हुए। एफआईआर दर्ज करने की मांग की थी।

विधायक कुणाल चौधरी का बयान

वहीं इस पूरे मामले पर कांग्रेस के युवा विधायक और युवा कांग्रेस के अध्यक्ष कुणाल चौधरी ने द क्राइम इन्फो से बात की। उन्होंने बताया कि ट्विटर ट्रेंड कराने की ये साजिश भारतीय जनता पार्टी ने रची है। भाजपा मूल मुद्दों से ध्यान भटकाना चाहती है। किसानों, बेरोजगारों की बात करने की बजाए, ऐसे षड़यंत्र रचे जा रहे है।

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का तंज

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने तंज कसा है। उन्होंने कहा था कि बुजुर्ग नेताओं का नेतृत्व कमलनाथ करेंगे। युवा नेताओं का नेतृत्व नकुलनाथ करेंगे। बाकि कांग्रेस अनाथ है। इसके जवाब में नकुलनाथ ने कहा कि “अनाथ” प्रदेश को “नाथ” चाहिए… “कमल” नहीं “कमल नाथ” चाहिए।

यह भी पढ़ेंः ‘कोरोना को मजाक में न लेते तो बचे रहते शिवराज’

यह भी पढ़ें:   मध्यप्रदेश पर दिल्ली का असर, उठी पेट्रोल-डीजल की कीमत कम करने की मांग

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!