Bhopal Dowry killing : चार लाख मिलने के बाद कार की चाहत

Share

Bhopal Dowry Killing:मुंहबोले चाचा और मां ने खोला एक सप्ताह पहले हुई घटना का राज

Bhopal Dowry Killing
सांकेतिक चित्र

भोपाल। (Bhopal Crime News In Hindi) आपने बचपन में सोने की मुर्गी के अड्डे की कहानी पढ़ी होगी। इस कहानी में एक सोने के अड्डा मिलने पर उसका मालिक पूरी मुर्गी को मार (Bhopal Crime News) देता है। कुछ ऐसा ही मामला मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से सामने आया है। यह घटना दहेज लोभी पति से जुड़ी है। उसको ससुराल (Bhopal Dowry Killing) वालों ने खुशी—खुशी चार लाख रुपए से अधिक की रकम दी थी। जिसको पाने के बाद दहेज लोभी पति को लगा कि यदि वह कार की डिमांड करेगा तो अब वह भी मिल जाएगी। लेकिन, ऐसा हुआ नहीं और उस पति की जिद के कारण उसकी पत्नी को खुदकुशी (Bhopal Suicide Case) करना पड़ा। पुलिस ने जांच के बाद दहेज लोभी पति समेत छह लोगों के खिलाफ दहेज हत्या (Bhopal Dowry Suicide Case) का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

ऐसे तय हुआ था रिश्ता

कोलार थाना पुलिस ने बताया कि श्वेता सिंह (Bhopal Sweta Singh Suicide Case) पिता नरेंद्र सिंह उम्र 19 साल निवासी राय पिंक सिटी कोलार रोड़ पर रहती थी। परिजनों ने उसकी शादी कृष्णा कॉलोनी बैरागढ़ निवासी शेर सिंह राजपूत के बेटे भरत सिंह राजपूत (Bharat Singh Rajput) उम्र 32 साल से तय हुई थी। दोनों परिवारों में दहेज को लेकर सारी बातचीत हो चुकी थी। लड़की के परिवार ने हैसियत से ज्यादा दहेज दिया था। रिश्ता तय होने के बाद जून, 2019 में श्वेता और भरत की शादी हुई थी।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Gaban Case: नई मोपेड की खाई मिठाई, ट्रायल के बहाने ले भागा

शादी वाले दिन

परिजनो ने बताया कि श्वेता और भरत की शादी में सोने—चांदी जेवरात, कपड़े, गृहस्थी के सामान समेत करीब 4 लाख रूपए नकद दिए थे। बेटी की विदाई में ससुराल वालों की नजरें कार को तलाश रही थी। हालांकि ससुराल वालों ने कार की बजाय बाइक के लिए नकद 50 हजार दिए थे। श्वेता के ससुराल पहुंचते ही उसको कार के लिए यातनाएं (Bhopal Crime Against Sweta Singh) दी जाने लगी। सास सुनीता सिंह, ननद सुषमा सोलंकी, अनीता सोलंकी, जेठानी अंजु सिंह, जेठ कमलेश, पति भरत कार को लेकर ताने मारा करते थे। उसको गर्म चिमटे से जलाया जाता था। जिसके शरीर में निशान भी पीएम में मिले हैं।

ऐसा किया श्वेता ने

परिजनो ने बताया कि श्वेता आए दिन उसके साथ हो रही मानसिक और शारीरिक प्रताड़ना से तंग आ चुकी थी। तंग आकर उसने 10 जुलाई, 2020 को जहर पी लिया। तबीयत बिगड़ने पर उसको जेके अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां इलाज के दौरान 12 जुलाई की रात साढ़े दस बजे उसने दम तोड़ (Sweta Dowry Suicide Case) दिया। इस मामले में पुलिस ने मर्ग कायम किया था। जिसकी जांच सीएसपी हबीबगंज संभाग भूपेन्द्र सिंह कर रहे थे। जांच रिपोर्ट में उन्होंने आरोपों को प्रमाणित पाया।

चाचा—मां ने खोला राज

मामले की जांच कर रही कोलार पुलिस ने मृतका के परिजनों के बयान लिए तो उसकी मां और मुंह बोले चाचा ने उसके साथ हुई ससुराल वालों की प्रताड़ना का शिकार बताया था। जिसके बाद पुलिस ने पति समेत 6 लोगों के खिलाफ धारा 498ए/304बी/34 प्रताड़ना, दहेज हत्या और एक से अधिक आरोपी होने का मुकदमा दर्ज कर लिया है। फिलहाल आरोपियों की गिरफ्तारी के संबंध में कोलार थाना पुलिस ने कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी है।

यह भी पढ़ें:   MP Crime : शादी से चंद घंटों पहले दुल्हन की हत्या, ब्यूटी पार्लर गई थी

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!