Bhopal Road Mishap: काश सिस्टम में ऐसे अफसर हमेशा सक्रिय रहें…

Share

Bhopal Road Mishap: पूरे परिवार की मदद कर दी लेकिन नाम पूछा तो अफसर के पसीने छूट गए

Bhopal Road Mishap
सांकेतिक चित्र

भोपाल। (Bhopal Crime News In Hindi) युवा अफसर काफी सक्रियता से काम करते हैं। यह सच भी है लेकिन कुछ तकनीकी चूक वे वाहवाही बटोरने में कर जाते हैं। ताजा मामला मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के रातीबड़ इलाके का है। इस इलाके के थाना प्रभारी भारतीय पुलिस सेवा के अफसर है। फिलहाल कुर्सी परीवीक्षाधीन अवधि की है। इसलिए उन्होंने सड़क दुर्घटना (Bhopal Road Mishap) के एक मामले में उनकी काफी सक्रियता रही। लेकिन, यह सक्रियता नाम पूछने पर टांय—टांय फिस्स हो गई। इधर, एक अन्य सड़क दुर्घटना में मौत (Bhopal Road Accident) हुई है। जिसमें पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है।

पूर्व डीजीपी के स्कूल के पास हुई घटना

रातीबड़ स्थित भुवन भारती स्कूल के पास दो दिन पहले 407 मिनी ट्रक के चालक ने टक्कर मार दी थी। यह स्कूल मध्य प्रदेश के डीजीपी रहे एसके राउत का है। थाना प्रभारी आईपीएस अफसर अभिषेक आंनद (IPS Abhishek Anand) ने बताया कि दुर्घटना रात 10 बजे हुई थी। उस वक्त गश्त पर था। घायल को हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया। हमने एम्बुलेंस का इंतजार नहीं किया। एफआरवी की मदद से हमीदिया अस्पताल में जख्मी को भर्ती करा दिया गया। जख्मी बाइक पर सवार था। परिजनों की जानकारी लगने पर उन्हें बुला लिया गया। परिजन उसको हमीदिया अस्पताल से जेके अस्पताल ले जा रहे थे। तभी 27 नवंबर को उसकी मौत हो गई।

यह पूछने पर नियम गिना दिए

थाना प्रभारी अभिषेक आनंद अपनी वाहवाही में सबकुछ बताते चले गए। लेकिन, जैसे ही मरने (Bhopal Road Mishap) वाले का नाम पूछा गया तो कहने लगे हमें अभी डॉक्टरों ने नाम नहीं बताया है। डॉक्टर की रिपोर्ट मिलने के बाद हम आपको बता देंगे। पुलिस ने मिनी ट्रक के ड्रायवर को गिरफ्तार कर लिया है। ड्रायवर के नाम का भी खुलासा पुलिस नहीं कर सकी है। पुलिस का कहना है कि दुर्घटना के बाद ड्रायवर वाहन को लावारिस छोड़ गया था।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: लॉक डाउन में एसिड भी बीयर नजर आई, मौत

शराब कंपनी में काम करने वाले की मौत

इधर, खजूरी सड़क थाना क्षेत्र स्थित भौरी जोड़ पर बूलेट सवार को कार ने टक्कर मार दी। दुर्घटना 27 नवंबर की शाम पांच बजे हुई थी। जख्मी को चिरायु अस्पताल में भर्ती कराया गया। जख्मी की पहचान रोहित राठौर (Rohit Rathor) पिता दिलीप राठौर उम्र 27 साल निवासी एपीएच कॉलोनी मछली मार्केट बैरागढ़ के रुप में हुई। इलाज के दौरान रोहित राठौर की शुक्रवार—शनिवार की दरमियानी रात लगभग सवा एक बजे मौत हो गई। वह शराब कंपनी में काम करता था। घटना के वक्त वह अकेला था और वह अपने घर जा रहा था। पुलिस को दुर्घटना वाली कार मिल गई है। जिसको जब्त कर लिया गया है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

 

 

Don`t copy text!