Bhopal Death Case: 15 दिन से 3 थाने में भटक रही 2 मौत की फाइल

Share

Bhopal Death Case:मध्य प्रदेश पुलिस के सरकारी सिस्टम की कलई उजागर करती यह रिपोर्ट

Bhopal Death Case
सांकेतिक चित्र

भोपाल। मध्य प्रदेश में पिछले दिनों ही तख्तापलट हुआ है। इस तख्तापलट के बाद नए गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Narottam Mishra) बने हैं। उन्होंने अपने कार्यकाल में ही कई प्रयोग कराने के दावे किए। लेकिन, उसकी मैदानी सच्चाई क्या है यह उन्हें भी पता नहीं होगी। मामला मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल का ही है। बेहद संगीन यह घटना बताती है कि मध्य प्रदेश पुलिस सिस्टम (Bhopal Death Case) में अभी भी काफी सुधार की आवश्यकता है। घटना दो मासूम बच्चों की मौत (Bhopal Suspension Death Case) की कहानी से जुड़ी है। जिसको लेकर 15 दिन में पुलिस का सिस्टम कुछ भी तय नहीं कर पा रहा।

नदी की लहरों में उलझी कहानी

मिसरोद थाना पुलिस ने बुधवार रात 1 बजे दो मर्ग कायम किए हैंं। इन मर्ग की केस डायरी उन्हें एसपी कार्यालय से मिली। इसमें मृतक जावेद आलम (Javed Aalam Death Case) पिता कलाम शरीफ अंसारी उम्र 16 साल निवासी मंडीदीप का रहने वाला था। दूसरे की पहचान रचित सिंह राजपूत (Rachit Singh Rajput Death Case) पिता संतोष उम्र 15 साल निवासी सिलवानी के रुप में हुई थी। हालांकि मिसरोद थाना पुलिस दोनों ही शव और उसकी घटना से अनजान बता रही है। जांच मेंं पुलिस को पता चला है कि दोनों दोस्त थे। उनकी 13 जुलाई को केरवा नदी रेलवे ब्रिज के पास लाश (Bhopal 2 Baccho Ki Laash) मिली थी। मंडीदीप थाना पुलिस ने शव बरामद कर पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया था।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: मामूली विवादों में भिड़े परिवार के सदस्य

अब तक नहीं मिला तट

लेकिन नदी का एक हिस्सा कोलार तो दूसरा हिस्सा मिसरोद इलाके में भी आता है। इसलिए मंडीदीप पुलिस ने मर्ग जीरो पर दर्ज कर लिया। केस डायरी कोलार थाने भेज दी गई। कोलार पुलिस ने स्पॉट को देखने के बाद डायरी यह बोलकर मिसरोद थाने को पहुंचा दी कि यह उसका क्षेत्र नहीं है। अब मिसरोद पुलिस मर्ग कायम करके अपनी सरहद तय करेगी। मतलब साफ है कि डायरी दूसरे थाने भी ट्रांसफर अभी भी की जा सकती है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!