Delhi Suicide Case: कर्ज में डूबे सराफा कारोबारी भाइयों ने की आत्महत्या, धमकाते थे बाउंसर

Share

Delhi Suicide Case: लॉकडाउन की वजह से आई आर्थिक तंगी नहीं झेल पाए

Delhi Suicide Case
अंकित और अर्पित

दिल्ली। दिल्ली (Delhi News) में दो सगे भाइयों ने फांसी लगाकर जान (Delhi Suicide Case) दे दी। दोनों भाई सराफा कारोबारी थें, लॉकडाउन (Lock down) की वजह से आई आर्थिक तंगी झेल नहीं पाए। दोनों के ऊपर 60-70 लाख रुपए का कर्ज था। बुधवार को चांदनी चौक इलाके में ये घटना हुई। उनके शव मालीवाड़ा स्थित कारखाने के तीसरी मंजिल पर गर्डर से लटकते मिले। पुलिस को घटनास्थल से सुसाइड नोट (Suicide Note) भी मिला है। जिसमें दोनो भाइयों ने सुसाइड की वजह आर्थिक तंगी को बताया है। कर्ज ज्यादा हो गया था, लिहाजा फायनेंसर के बाउंसर धमका रहे थे। इसी वजह से दोनो भाइयों ने खुदखुशी कर ली। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें: नीट और जेईई को लेकर सरकार और विपक्ष में छिड़ा वार, दोनों को विद्यार्थियों की चिंता

ज्वेलरी का कारखाना है

बताया जाता है कि अंकित गुप्ता (Ankit Gupta) उम्र 47 साल और अर्पित गुप्ता (Arpit Gupta) 42 साल परिवार के साथ सीताराम बाजार, हौजकाजी इलाके में रहते थे। परिवार में बुजुर्ग पिता आदेश्वर गुप्ता उम्र 75 साल, अंकित की पत्नी और दो बच्चे हैं। अंकित और अर्पित का सबसे छोटा भाई कालकाजी इलाके में परिवार के साथ रहता है। दोनों भाइयों का चांदनी चौक के मालीवाड़ा में कृष्णा ज्वेलर्स के नाम से कारखाना है। जहां जेवरात बनाने का काम किया जाता है। पहली मंजिल पर पिता आदेश्वर ने प्रॉपर्टी डीलिंग का दफ्तर बनाया हुआ है।

कर्ज का था दबाव

मृतकों के पिता ने कहा कि व्यापार में घाटा हुआ था इसलिए दोनों ने मोटे ब्याज पर इलाके के ही फाइनेंसर से 60—70 लाख का कर्ज लिया था। लॉकडाउन की वजह से कारोबार और मंदा हो गया था। उधर फाइनेंसर ने अपने पैसे मांगने शुरू कर दिए थे। दोनो ने पैसे लौटाने के लिए थोड़ा और वक्त मांगा था। लेकिन फाइनेंसर के बाउंसर रोज आकर धमकाने लगे। इसी से परेशान होकर दोनों भाइयों ने आत्मघाती कदम उठा लिया। सूचना मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और जांच शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें:   Bhajanpura : पति-पत्नी और तीन बच्चों की लाशें बरामद

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!