Sunil Namdeo Murder News: विजय सलगांवकर एक नहीं दो—दो निकल आए

Share

Sunil Namdeo Murder News: भोपाल के चर्चित सुनील नामदेव हत्याकांड का पूरा सच, लेकिन परिवार के अभी भी गले नहीं उतर रही फिल्मी कहानी

Sunil Namdeo Murder News
सुनील नामदेव जिसकी बेरहमी से हत्या की गई— ग्राफिक डिजाइन टीसीआई।

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में बहुचर्चित सुनील नामदेव हत्याकांड आपको बखूबी याद होगा। इस मामले में नेता…नेता… चल रहा था अचानक पूरे मामले का खुलासा होते ही वह अभिनेता जैसा निकल आया। यह हम नहीं बल्कि पुलिस की जांच में बाहर निकलकर आए बिंदु बता रहे हैं। आपको 2015 में अजय देवांगन अभिनीत फिल्म ‘दृश्यम’ याद होगी। इसमें वे कत्ल करते हैं और लाश को छुपाते हैं। जिसमें यह थ्रिलर फिल्म लाश और उसके आस—पास घुमती है। इस फिल्म में लाश आखिर तक नहीं निकलती है। लेकिन, भोपाल के सुखी सेवनिया में हुए सुनील नामदेव हत्याकांड (Sunil Namdeo Murder News) में पुलिस ने सबूत खोदकर निकाल लिए हैं। इस हत्याकांड में पुलिस ने आधा दर्जन लोगों को आरोपी बनाया है।

यह था मामला जिसमें हुई गिरफ्तारी

सुखी सेवनिया थाना पुलिस के अनुसार आरोपी नीलेंद्र उर्फ लीलेंद्र मीणा पिता विनोद सिंह मीणा 26 साल निवासी पिपलिया बाज खां, उसके छोटे भाई शुभम मीणा पिता विनोद सिंह मीणा उम्र 19 साल, उसके चाचा खुमेर सिंह मीणा पिता अंजन सिंह मीणा उम्र 40 साल निवासी पिपलिया बाज खां, वलीम उर्फ बिल्लू पिता मोहम्मद नईम उम्र 20 साल निवासी हमीदी भाई का किराए का मकान दानिश कॉलोनी निशातपुरा और मोहम्मद शाहरुख खान पिता सलीम खान उम्र 25 साल निवासी राजीव कॉलोनी निशातपुरा को गिरफ्तार किया। इन सभी आरोपियों की गिरफ्तारी 25—26 नवंबर की दरमियानी रात दर्ज 462/21 धारा 302 के मामले में की गई है। आरोपियों ने मिलकर पिपलिया जाहिर पीर निवासी सुनील नामदेव पिता कैलाश नामदेव उम्र 26 साल की निर्मम तरीके से हत्या कर दी थी।

एक अन्य आरोपी को हिरासत में लिया गया

Sunil Namdeo Murder News
सुखी सेवनिया थाना, जिला भोपाल— फाइल फोटो

पुलिस ने बताया कि हत्याकांड के मामले में नीलेंद्र मीणा की कार एमपी—04—सीवाए—2010 जब्त की गई है। इसी कार में पीछे से सुनील नामदेव की बाइक टकरा गई थी। जिस कारण आरोपियों ने मिलकर हत्या की थी। घटना के वक्त कार में शुभम मीणा सवार था। वह कार ड्राइव कर रहा था। उसके साथ वलीम खान उर्फ बिल्लू और मोहम्मद शाहरुख खान भी सवार थे। कार टकराने के बाद नीलेंद्र मीणा ने सुनील नामदेव को माफी नहीं मांगने पर तमाचा मार दिया था। सुनील नामदेव भी कद काठी में अच्छा था। उसने विरोध किया तो वलीम खान और मोहम्मद शाहरुख खान ने धारदार हथियार से हमला किया। इस हत्याकांड में पुलिस ने पांच आरोपियों को 28 नवंबर के दिन हिरासत में लिया था। जिसके बाद हुई पूछताछ के बाद 30 नवंबर को तरुण कलावत को गिरफ्तार किया गया। वह भी पिपलिया बाज खां में रहता है।

हत्याकांड वाले दिन शराब पार्टी हुई थी

पुलिस को इस हत्याकांड में सुलझाने सीसीटीवी कैमरे से बहुत मदद मिली। इस कैमरे से नीलेंद्र मीणा की कार पहचान में आई थी। पूछताछ में नीलेंद्र मीणा और उसके भाई शुभम मीणा ने बकायदा रटी हुई फिल्म स्क्रीप्ट बताई। यहां से पुलिस को शक गया था। फिर जब उसके चाचा खुमेर सिंह मीणा को हिरासत में लिया गया तो पूरा मामला खुल गया। नीलेंद्र मीणा ने बताया कि वह 25 नवंबर को निशातपुरा स्थित राजवंश होटल के नजदीक शराब पार्टी कर रहा था। उस पार्टी में मोहम्मद शाहरुख खान और वलीम खान भी थे। उसको ज्यादा नशा हो गया था। इसलिए शुभम मीणा को फोन करके कार लाने के लिए बोला था। जिसमें वह सवार होकर सुखी सेवनिया स्थित गांव पिपलिया बाज खां पहुंचे थे। तभी सुनील नामदेव के साथ विवाद हुआ था।

यह भी पढ़ें:   Madhya Pradesh : ग्रीन, ऑरेंज, रेड, सभी जोन में खुलेंगी शराब दुकानें

भाजपा नेता ने काफी मदद पहुंचाई

Sunil Namdeo Murder News
जहां सुनील की लाश मिली थी वह जगह दिखाते हुए उसके पिता कैलाश नामदेव। ग्राफिक डिजाइन टीसीआई।

पहले सवालों के घेरे में गुरुनानक मंडल के अध्यक्ष राजेश कुकरेजा से ही पुलिस पूछताछ करती रही। जब उन्होंने पुलिस के सामने अपने बेगुनाही के सबूत पेश किए तो पूरी जांच की दिशा ही घुम गई। इस काम में उन्होंने पुलिस की भरपूर मदद की। जबकि जिस दिन घटना हुई उस दिन भी वे महज पंद्रह मिनट में हमीदिया अस्पताल में पहुंच गए थे। जनहित में सामाजिक सेवा करके अपनी पहचान बनाने वाले राकेश कुकरेजा ने आर्थिक रुप से कमजोर सुनील नामदेव को अपनी तरफ से बाइक भी मुहैया कराई थी। घटना के वक्त उनकी दी हुई बाइक से आरोपियों की कार टकराई थी। सुनील नामदेव उनका वाहन चलाता था। वह पहले नौकरी छोड़ छुका था। फिर उसको कुछ महीने पहले ही उन्होंने दोबारा अपने यहां रखा था। राकेश कुकरेजा ने द क्राइम इंफो से बातचीत में कहा कि वह मिलनसार था। इसलिए मैं दो दिन काफी दुखी भी रहा। इसलिए मैं लोगों से बातचीत करने के लिए उपलब्ध नहीं हो सका। मैंने अपना एक अच्छा साथी खो दिया है। यह दुख मेरे स्टाफ में भी है।

चोटी काटकर की थी निर्मम हत्या

सुनील नामदेव शाहजहांनाबाद स्थित राम नगर कॉलोनी में रहता था। पिता कैलाश नामदेव सब्जी मंडी में काम करते है। वह तीन भाईयों में सबसे छोटा था। बहन सोनम की शादी हो गई है। भाई कमल नामदेव की भी शादी हो चुकी हैं। सुनील और उससे बड़े भाई की शादी होना बाकी है। परिवार मई, 2021 में ही सुखी सेवनिया स्थित पिपलिया जाहिर पीर रहने के लिए पहुंचा था। कैलाश नामदेव ने ही सुनील नामदेव की बाइक 26 नवंबर की सुबह देखी थी। कुछ दूर वह खून से लथपथ हालत में पड़ा मिला था। उसको पीठ में दो गंभीर घाव, जांघ में हमला करने के अलावा पैर की एड़ी में काटा गया था। पिता कैलाश नामदेव ने बताया कि वह लंबे बाल रखता था। जिसकी वह चोटी बांधकर रखता था। वह चोटी भी आरोपियों ने काटी थी। उसकी मौत अत्यधिक मात्रा में खून बहने से होना शार्ट पीएम में आया है। वह ड्रिंक किया हुआ था यह भी शार्ट पीएम में सामने आया है। पुलिस ने उसका बिसरा जांच के लिए सुरक्षित रख लिया है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Cyber Crime News: ड्रा के नाम पर फ्रॉड रैकेट का ड्रामा

परिवार को अभी भी नहीं यकीन

Sunil Namdeo Murder News
फाइल फोटो : भोपाल कोर्ट

पुलिस ने इस हत्याकांड (Sunil Namdeo Murder News) में पांच आरोपियों नीलेंद्र मीणा, शुभम मीणा, खुमेर सिंह मीणा, वलीम खां, मोहम्मद शाहरुख खां को गिरफ्तार किया है। इनमें से तीन आरोपियों नीलेंद्र मीणा, वलीम खां और मोहम्मद शाहरुख खान को दो दिन की रिमांड पर लिया गया है। पुलिस ने शुभम मीणा के कपड़े जो हत्याकांड के वक्त पहने थे वह उसके घर से बरामद किए हैं। इसके अलावा आरोपियों में शामिल नीलेंद्र मीणा के कपड़े उसके खेत से बरामद किए हैं। खेत में यह कपड़े आरोपियों ने दृश्यम फिल्म की तरह दफना दिए थे। इस काम में चाचा खुमेर सिंह मीणा ने मदद की थी। इसलिए उसको भी आरोपी बनाया गया है। शुभम मीणा घटना के वक्त कार चला रहा था। इसलिए उसे भी आरोपी बनाया है। मुख्य आरोपी तीन हैं बाकी सबूत को मिटाने और छुपाने के आरोपी है। बहन सोनम को अभी भी पुलिस की कहानी पर भरोसा नहीं है।

लड़की की कहानी पर सस्पेंस…

निशातपुरा निवासी मोहम्मद शाहरुख खान के खिलाफ लूट का प्रकरण मिला है। वहीं वलीम खां चोरी के मामले में गिरफ्तार हो चुका है। आरोपियों के कब्जे से पुलिस को अभी जैकेट, टिफिन, मोबाइल और पर्स मिलना बाकी है। घटना वाले दिन खुमेर सिंह मीणा को हत्याकांड की वजह पता चल गई थी। वह ही अपनी कार से सुनील नामदेव के परिवार को हमीदिया अस्पताल ले गया था। यहां वह गेट पर परिवार को छोड़कर आ गया था। पुलिस ने जांच के दौरान एक महिला से भी पूछताछ की थी। हालांकि उसकी कोई भूमिका निकलकर सामने नहीं आई है। इस मामले में सीसीटीवी में ओमनी कार के फुटेज सामने आए थे। अभी इस मामले में तरुण कलावत को 1 नवंबर बाकी तीन आरोपियों के रिमांड समाप्त होने के साथ पेश करने की तैयारी की जा रही है। तरुण कलावत की अभी भूमिका सामने आना बाकी है।

यह भी पढ़ें: भोपाल के इस बिल्डर पर सिस्टम का ‘रियायती सैल्यूट’, परेशान हो रहे 100 से अधिक परिवार

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Sunil Namdeo Murder News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!