Bhopal Suicide Case: भाषा के भंवर में उलझी पुलिस

Share

सीमा सुरक्षा बल की महिला जवान फंदे पर झूली

Bhopal Suicide Case
सांकेतिक चित्र

भोपाल। भाषा को लेकर ऐसा बताया जाता है कि वह हर 30 किलोमीटर में बदल जाती है। भारत कई भाषाओं का देश है। लेकिन, उसमें संकट तब खड़ा होता है जब मुश्किल घड़ी (Bhopal Crime News In Hindi) आती है। ताजा मामला मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल का है। यहां सीमा सुरक्षा बल की अकादमी में एक महिला ने फांसी लगा ली थी। महिला मूलत: तमिलनाडू (Tamilanadu Woman Suicide Case) की रहने वाली थी। इसलिए पुलिस को शुरुआती जांच में ही पसीना आ गया। पुलिस को अब तक कोई सुसाइड नोट भी नहीं मिला है। इसलिए पुलिस को ठोस नतीजे पर नहीं पहुंची है।

पति भी सीमा सुरक्षा बल में तैनात

परवलिया सड़क थाना पुलिस ने बताया कि जी.उमावती (G Umawati Suicide Case) पति सतीश उम्र 34 साल की लाश फंदे पर लटकी मिली थी। वह सीमा सुरक्षा बल अकादमी में रहती थी। मूलत: वह तमिलनाडू (Tamilanadu G Umawati Suicide Case) की रहने वाली थी। उसके दो बच्चे भी है। पति सतीश दिल्ली में केंद्रीय एजेंसी में जवान है। महिला यहां जवान के पद पर तैनात थी। महिला उसकी पांच साल की बच्ची के साथ रह रही थी।

पड़ोसियों ने पहले देखा

पड़ोसियों ने बताया कि जी.उमावती उसकी पांच साल की बच्ची के साथ अकादमी में रह रही थी। रविवार शाम करीब 4 बजे वह उसकी पांच साल की बेटी रोते हुए घर से बाहर निकली थी। पड़ोसियों ने बच्ची को रोता देख उसके पास पहुंचे। महिला को बाहर से आवाज लगाई थी। काफी देर तक आवाज नहीं आई तो घर में जाकर देखा था। महिला चुन्नी का फंदा बनाकर पंखे से झूल रही थी। मौके पर पहुंची पुलिस ने जब महिला के बारे में पड़ोसियों से बात—चीत की तो पता चला की वह तामिलनाडू की रहने वाली है। उसकी किसी से कोई बातचीत नहीं थी।

यह भी पढ़ें:   Bhopal City Celebrity: हर सप्ताह कभी ठेला ले जाते थे आज वह एक करोड़ सालाना कर चुका रहे

अकादमी से मिली मदद

पुलिस ने बताया कि महिला की भाषा और उसके परिजनों की भाषा वह समझ नहीं पा रहे थे। इस कारण उन्होंने वहां के अधिकारियों से मदद मांगी। महिला के परिजनों को घटना की जानकारी दे दी गई है। घटना स्थल से कोई भी सुसाइड़ नोट नहीं मिला है। पुलिस ने शव पीएम के बाद परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस का कहना है कि इस मामले में दुभाषिए की मदद लेकर वास्तविकता का पता लगाया जाएगा।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!