मध्यप्रदेश में पंजाब जैसा कांड, जहरीली शराब से 11 की मौत, बढ़ सकती है संख्या

Share

कमलनाथ का तीखा वार- सामने आए सरकार के माफिया प्रेम के परिणाम

Ujjain poisonous liquor
सांकेतिक चित्र

उज्जैन। (Ujjain) मध्यप्रदेश के उज्जैन (Ujjain) से दिल दहलाने वाली खबर सामने आई है। जिले में जहरीली शराब (poisonous liquor) पीने से 11 लोगों की मौत हो गई है। अलग-अलग इलाकों से आई मौत की खबरों से हड़कंप मच गया है। बुधवार को जहरीली शराब से 7 लोगों की मौत हुई थी। गुरुवार सुबह 2 और लाशे मिलने से मामला गर्माया। मरने वाले मजदूर वर्ग के युवक बताए जा रहे है। मामले में अब तक 10 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। घटना पर सियासत भी तेज हो गई है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और दिग्विजय ने सरकार पर तीखा निशाना साधा है। इससे पहले पंजाब से जहरीली शराब से 100 से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी। चार जिलों में जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या बढ़ते-बढ़ते 100 का आंकड़ा पार कर गई थी।

खाराकुआं थाना क्षेत्र में 7 की मौत

उज्जैन के अकेले खाराकुआं थाना क्षेत्र में जहरीली शराब पीने से 7 लोगों की मौत हुई है। वहीं महाकाल थाना इलाके के 2 लोगों की भी मौत हुई है। घटना पर एक्शन लेते हुए एसपी मनोज कुमार सिंह ने खाराकुआं थाना प्रभारी समेत 4 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है। सरकार ने जांच के लिए एसआईटी का गठन दिया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का कहना है कि दोषियों को बख्सा नहीं जाएगा। थाना प्रभारी खाराकुआं एमएल मीणा, बीट प्रभारी निरंजन शर्मा, आरक्षक शेख अनवर और नवाज शरीफ को निलंबित कर दिया गया है।

कमलनाथ का ट्वीट

उज्जैन में शराब माफिया ने 9 जाने लीन ली , 9 परिवार बर्बाद कर दिये। शिवराज जी , ये माफिया कब तक यूँ ही निर्दोषो की जान लेते रहेंगे ? हमने इन्हें कुचला था , हमारी सरकार जाते ही ये फिर बेख़ौफ़ हो गये , फिर सक्रिय हो गये ? आपकी सरकार का माफ़ियाओ से आख़िर इतना प्रेम क्यों ?

यह भी पढ़ें:   Sex Racket Expose : मंदसौर पहुंचे आईजी को अड्डे बताए, जाने के तीन दिन बाद बड़ी कार्रवाई

क्यों इन्हें बख्शा जा रहा है ? क्यों इन्हें संरक्षण दिया जा रहा है ? मृतकों के प्रति मेरी शोक संवेदनाएँ। पीड़ित परिवारो को न्याय मिले , उनकी हर संभव मदद हो , दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो।

यह भी पढ़ेंः आधी रात में सीएमएचओ की गाड़ी में क्या कर रही थी नर्स, करतूत ने ली जान

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!