कमलनाथ का दावा, लहराएगा कांग्रेस का परचम

Share

पूर्व मंत्री जीतू पटवारी बोले बीजेपी ने महापाप किया था

कमलनाथ , पूर्व मुख्यमंत्री, फाइल फोटो

भोपाल। मध्यप्रदेश की 28 सीटों पर हुए उपचुनाव में अलग अलग दावे सामने आ रहे है। दोनों ही प्रमुख दल जीत का दावा कर रहे है। कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ शुरुवात से ही बहुत कॉन्फिडेंट नजर आते है। जबकि कांग्रेस को सभी सीट्स जीतना जरूरी है। अगर सभी सीट कांग्रेस जीत भी जाएगी तब भी सरकार बनाने के लिए 1 सीट की जरूरत पड़ेगी। कांग्रेस के लिए सरकार बनाना मुश्किल है, लेकिन इस सवाल पर कमलनाथ कहते आए है कि ये उनका टेंशन है।

कमलनाथ का नया

28 उपचुनावों के महायज्ञ में अपनी आहुति देने वाले समस्त कांग्रेसजनो का ह्रदय से आभार।
जिन्होंने लोकतंत्र व संविधान की रक्षा के लिये , पार्टी की मज़बूती के लिये , जनमत के ग़द्दारों को सबक़ सिखाने के लिये , प्रदेश के भविष्य की सुरक्षा के लिये समर्पण भावना से अपना अमूल्य योगदान दिया।

कार्यकर्ताओं को संदेश

ध्यान रखे अभी यह लड़ाई ख़त्म नहीं हुई है , मतगणना तक हमें यूँ ही मैदान में डटे रहना है , सचेत रहना है।
भाजपा तमाम हथकंडे , षड्यंत्र रच सकती है।

अंत में जीत सच्चाई की ही होगी , कांग्रेस का परचम हर हाल में लहरायेगा।

बीजेपी ने महापाप किया था – जीतू पटवारी


पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि 2018 में राहुल जी ने, दो चेहरों के साथ हमें मध्य प्रदेश के चुनाव में भेजा था। पहला चेहरा कमलनाथ जी का था जो अध्यक्ष बने और दूसरे नम्बर पर ज्योतिरादित्य सिंधिया को प्रचार समिति का अध्यक्ष बनाया था। 15 साल भारतीय जनता पार्टी की यातनाओं को झेलते हुए कांग्रेस के कार्यकर्ता ने अटूट मेहनत की और हमारी सरकार आई लेकिन दूसरे नम्बर के चेहरे ने ही हमारी पीठ में लोकतंत्र की पीठ में छुरा घोप दिया। मध्य प्रदेश के एक-एक व्यक्ति ने यह देखा, कांग्रेस के कार्यकर्ता ने देखा, आम जन ने देखा भारतीय जनता पार्टी और आरएसएस के लोगों ने भी देखा। षड़यंत्र हुए, खरीदी-बिक्री हुई, प्रलोभन हुए, भ्रम, झूठ,पाखंड हर तरह का मायाजाल रचने का प्रयास हुआ। फिल्मों की तरह शिवराज सिंह चौहान और ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मिलकर किया यह सब मध्य प्रदेश की जनता ने देखा। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ऐसा कृत्य किया जैसे सोते हुए बच्चों को उसका पिता गोली मार दे। जिसको हम आगे लेकर आए उसी ने अपने अहम, अहंकार, घमंड में ऐसी परिस्थियां निर्मित की जिसमें उनके 200 साल का इतिहास पूरे प्रदेश को याद आ गया। उप चुनाव में कुर्सियां खाली रहने लगी, पहले टाइगर आया, फिर कौआ आया और फिर ऐसा शब्द बोला जो मुझे भी बोलने में शर्म आती है।

यह भी पढ़ें:   अयोध्या मामला: फैजाबाद में होगी मध्‍यस्‍थता के लिए बैठक, लेकिन नहीं होगी रिपोर्टिंग
Don`t copy text!