कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ को बाहरी बताने में जुटी भाजपा

Share

मंत्री इमरती देवी ने कहा बंगाली

इमरती देवी, मंत्री, मध्यप्रदेश

भोपाल। मध्य प्रदेश की 28 सीटों पर होने जा रहा है उपचुनाव में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) के एक बयान पर सियासत तेज हो गई है। महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी (Imarti Devi) के संदर्भ में की गई टिप्पणी को भारतीय जनता पार्टी महिलाओं का अपमान बता रही है। डबरा की आम सभा में कमलनाथ के बयान को उप चुनाव का मुद्दा बनाने की तैयारी कर ली गई है। भाजपा का आरोप है कि कमलनाथ ने इमरती देवी को आइटम कहकर नारी शक्ति का अपमान किया है। वह इस बयान पर इमरती देवी ने भी पलटवार किया है। उन्होंने कमलनाथ को बाहरी बताया है। उनका कहना है कि कमलनाथ बंगाल के रहने वाले हैं। लिहाजा वो मध्य प्रदेश की महिलाओं का सम्मान नहीं कर सकते। साथ ही इमरती देवी ने पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के खिलाफ भी मोर्चा खोला। बता दें कि एक सभा में अजय सिंह ने इमरती देवी को जलेबी बाई कह दिया था।

भाजपा का ‘बाहरी’ मुद्दा

भारतीय जनता पार्टी के नेता पहले भी कई बार कमलनाथ को बाहरी बता चुके हैं। कमलनाथ बंगाल के रहने वाले हैं लिहाजा भाजपा जनता के बीच उनकी छवि बाहरी के तौर पर बनाने की कोशिश कर रही है। इमरती देवी से पहले पूर्व मंत्री और भाजपा विधायक रामपाल सिंह भी मंच से कमलनाथ को बंगाली कह चुके हैं। राजनीतिक जानकारों का कहना है कि कांग्रेस के कैंपेन बिकाऊ नहीं टिकाऊ चाहिए की काट की तौर पर भाजपा बाहरी वर्सेस मूलनिवासी का कार्ड खेलना चाहती है।

यह भी पढ़ें:   भाजपा अध्यक्ष को प्रेमचंद गुड्डू का जवाब ‘मैं भाजपा का सदस्य ही नहीं तो नोटिस क्यों दिया’

सिंधिया भी रखेंगे मौन व्रत

किसान कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश गुर्जर के बयान के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पलटवार किया था। सीएम शिवराज ने इस मुद्दे को पॉलिटिकल बनाते हुए स्वीकार किया था कि हां मैं नंगे भूखे परिवार से हूं। ठीक उसी तरह कमलनाथ के बयान को भाजपा जाया नहीं जाने देना चाहती। लिहाजा इमरती देवी के पक्ष में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भोपाल में मौन व्रत रखेंगे वहीं भाजपा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया इंदौर में गांधी प्रतिमा के सामने मौन व्रत रखकर विरोध जताएंगे।

कमलनाथ की चुप्पी

कमलनाथ के बयान पर भारतीय जनता पार्टी ने पुरजोर विरोध जताया है। लेकिन कई घंटों बीत जाने के बावजूद कमलनाथ की तरफ से कोई काउंटर सामने नहीं आया है। वहीं कांग्रेस के अन्य किसी भी बड़े नेता की तरफ से भी कोई टिप्पणी सामने नहीं आई है। हालांकि कांग्रेस प्रवक्ताओं ने यह कहकर पलटवार किया है की मंच से कमलनाथ में इमरती देवी का नाम भी नहीं लिया था। कयास लगाए जा रहे हैं कि जल्द ही कमलनाथ ट्वीट कर अपना जवाब देंगे।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।  

Don`t copy text!