Political Crime: इंदौर के बल्लेबाज विधायक ने कहा खाली हाथ नहीं घूमता

Share

इंदौर के विधायक आकाश विजयवर्गीय ने खुलकर धमकाया, नीमच में विधायक ने कहा कि कांग्रेसी नेता घर आए तो जूते—चप्पल मारो

Political Crime
इंदौर से विधायक आकाश विजयवर्गीय और नीमच से विधायक अनिरूद्ध माधव मारू

भोपाल। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में राजनीतिक उठापटक (Political Debate) जारी है। विकास की बात पर भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janta Party) के नेता कांग्रेस (Congress) को कोसते हैं तो दूसरी तरफ कांग्रेस विपक्षी पार्टी पर ठीकरा फोड़ देती है। इसी तारतम्य में सोमवार को पूरे मध्यप्रदेश में भाजपा ने कलेक्टर कार्यालय के सामने विरोध प्रदर्शन (BJP Protest) किया था। यह प्रदर्शन किसानों (Farmer Issue) से किए गए वादों को पूरा न कर पाने का आरोप लगाकर आयोजित किया गया था। प्रदर्शन में सभा के दौरान इंदौर और नीमच के विधायकों ने कुछ ऐसा बोल दिया (Disputed Speech) कि मामले ने तूल पकड़ लिया।

इंदौर (Indore) में सभा को संबोधित करते हुए आकाश विजयवर्गीय (Akash Vijayvargiya ) ने कहा कि किसानों के मामले में कांग्रेस सरकार सिर्फ भ्रम फैला रही है। लेकिन, हम किसानों के हित और उनके अधिकारों को लेकर उनके साथ है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार के सारे मंत्री और विधायक मैदान में उतरकर किसानों की समस्याओं का पता लगाकर समाधान करें। विजयवर्गीय ने कहा कि गरीबों के बिजली बिल कम करें। उन्होंने मनोज नाम के एक कार्यकर्ता का नाम लेते हुए कहा कि कमरे में बंद करने की बात हुई। लेकिन, मैं यहां कहना चाहूंगा कि भई मैं खाली हाथ नहीं घुमता। दरअसल, उनका इशारा इंदौर में कुछ महीने पहले हुई घटना की तरफ था। उन्होंने नगर निगम के अफसर को बल्ले से पीटा था। यह समाचार पूरी दुनिया में चर्चा का विषय बन गया था। आलम यह है कि आकाश विजयवर्गीय को अब राजनीतिक गलियारों में बल्लेबाज विधायक के नाम से ज्यादा पहचाना जाने लगा है।

यह भी पढ़ें:   किसानों के समर्थन में प्रदेशभर में प्रदर्शन करेगी कांग्रेस, कमलनाथ ने पूछे सवाल

वीडियो में देखिए भाजपा विधायकों की धमकियां

YouTube video

इसी तरह दूसरा विवादित बयान नीमच (Neemuch) में मनासा क्षेत्र से विधायक अनिरूद्ध माधव मारू (Anirudh Madhav Maru) ने दिया। उन्होंने कहा कि यदि कोई कांग्रेसी आपके यहां लोक—लुभावन वादे लेकर आए तो उन्हें जूते—चप्पल से मारो। हालांकि इस बयान के बाद मारू ने माफी मांगी और कहा कि उनका उद्देश्य किसी पार्टी के खिलाफ हिंसा फैलाने को लेकर नहीं था। उन्होंने अपने दिए गए बयान पर माफी मांगते हुए वीडियो सोशल मीडिया पर भी पोस्ट किया।

Don`t copy text!