उत्तर प्रदेश से कैद कर बिहार और छत्तीसगढ़ में होती थी सप्लाई, तस्करों से 500 तोते बरामद

Share

तस्करों ने बहराइच के जंगल से पकड़े थे तोते, 200-500 रुपए में बेच देते थे

तोता तस्कर गिरोह

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश पुलिस (UP Police)  की एसटीएफ (STF) टीम और वन विभाग (Forest Department) ने मिलकर शुक्रवार को तोतों की तस्करी करने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश कर छह लोगों को गिरफ्तार किया। उनके कब्जे से 500 से अधिक तोते (Parrot’s) बरामद किए हैं। गिरफ्तार लोगों में एक महिला भी शामिल है। इन सभी को नौशाद क्षेत्र में गिरफ्तार किया गया। हालांकि इनका एक साथी भागने में सफल रहा। पुलिस ने तस्करों के कब्जे से एक चार पहिया वाहन और एक मोटरसाइकिल भी बरामद की है। गोरखपुर (Gorakhpur) के उप वन अधिकारी टी.एन. सिंह (TN Singh) ने बताया कि वन विभाग की टीम और विशेष कार्य बल (एसटीएफ) ने छह तोता तस्करों (Parrot Smuggler) को गिरफ्तार किया है। उनके कब्जे से पांच सौ से अधिक तोते बरामद हुए हैं। तस्करी कर लाए गए तोते 200 से 500 रुपए मूल्य में बेचे जाते थे। पकड़े गए तस्करों की पहचान अब्दुल सईद, दिलशाद अहमद, अनीस अहमद, इरशाद अहमद, सलमा और अमजद के रूप में की गई है। एक तस्कर मौके से भागने में सफल रहा।

सिंह ने बताया कि तस्करों के कब्जे से स्विफ्ट डिजायर कार और एक मोटरसाइकिल भी बरामद की गई है। उनके खिलाफ वन्य जीव संरक्षण कानून के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। बरामद किए गए सभी पहाड़ी तोते हैं। इन तोतों को तस्कर छत्तीसगढ़, वर्धमान, बिहार सहित देश के विभिन्न क्षेत्रों में बेंचते थे। टीम ने सरगना समेत गिरोह के छह सदस्यों को गिरफ्तार किया है। गिरोह की सरगना सलमा पत्नी रमजान(54) राजघाट थाने के रायगंज की रहने वाली है।

यह भी पढ़ें:   UP Rape: छात्रा को बेहोश कर होटल के कमरे में बलात्कार

डब्लूसीसीबी (वाइल्ड लाइफ क्राइम कंट्रोल ब्यूरो) की टीम देश भर वन्य जीवों पर निगाह रखती है। यह उनके संरक्षण के लिए काम करती है। उसे सूचना मिली कि कुछ लोग गोरखपुर में विभिन्न जिलों से पहाड़ी तोता एकत्रित करके बिक्री करते हैं। टीम ने इसकी जानकारी एसटीएफ एसएसपी राजीव नारायण मिश्र को दी। एसटीएफ एएसपी सत्यसेन यादव के निर्देशन में लखनऊ एसटीएफ की एक टीम तस्करों के पीछे लगाई गई। टीम को पता चला कि इस बार गिरोह बहराइच से तोतों को एकत्रित कर रहा है।

Don`t copy text!