Extramarital Affair का राज खुला तो पंचायत ने युवती को गांव से निकाला, दबाव डाल रहा युवक फंदे पर झूला

Share

आखिरी वक्त में शादीशुदा व्यक्ति ने प्रेमिका को फोन लगाकर दी थी आत्महत्या करने की जानकारी

Uttar Pradesh Suicide
सांकेतिक चित्र

मेरठ। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) केे मेरठ (Meerut) शहर में एक युवक ने पंखे से फांसी लगाकर आत्म हत्या (Meerut Suicide) कर लिया। वह शादीशुदा होने के बावजूद दूसरी युवती से प्यार करता था। जिस युवती से वह प्यार (Extra Marital Affair) करता था उसको पंचायत ने गांव से बेदखल (Social Boycott) कर दिया था। वह युवती पर गांव वापस आने का दबाव बना रहा था। फंदे पर लटकने से पहले उसने युवती को फोन भी किया था।
पुलिस ने बताया कि 30 वर्षीय युवक ने पंखे से लटककर फांसी (Meerut Hanging Case) लगा ली। घटना नौचंदी क्षेत्र के जयदेवी नगर की है। यहां रहने वाले रामू 30 साल पुत्र गुड्डू अपनी पत्नी के साथ विनोद रस्तोगी के मकान में रहता था। पुलिस ने शव को पंखे से उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। परिजनों से पूछताछ में पता चला कि मृतक शादीशुदा होने के बावजूद भी किसी और युवती के साथ उसका प्रेम संबंध (Love Affair) था। युवती उसी गांव की रहने वाली थी।  खुदकुशी करने वाले रामु की पत्नी ने पुलिस को बताया कि उसको युवती के कारण पति तलाक की धमकी देता था। इस के बाद पति ने उस युवती के कारण कामकाज भी छोड़ दिया था। हमारा घर खर्च चलना दूभर हो गया था। इसके बाद मैंने उस युवती से खुद जाकर बात की थी। मगर उसने मुझे बेइज्जत करके घर से निकाल दिया था।
उसके बाद सरपंच से इस बारे में बात करी थी। जिस पर गांव वालों ने मेरी बात सुनकर उस युवती और पति को पंचायत के सामने बुलाया था। पंचायत ने उस युवती को गांव से अलग भेजने का फैसला सुना दिया था। तब भी वह युवती ने मेरे पति का पीछा नहीं छोड़ा था। वह गांव से निकलने के बाद भी गांव के बाहर मिलती-जुलती थी। इस बात की खबर मुझे  गांव के लोगों ने बताई भी थी। पुलिस ने सूचना के आधार पर उस युवती को हिरासत में लिया था। जिसके बाद बयान में युवती ने पुलिस को बताया कि रामू अक्सर उससे गांव में वापस आने की बात करता था। हालांकि वह वापस नहीं आना चाहती थी। मृतक उसके साथ शादी करने को भी तैयार हो गया था। लेकिन, मेरी यह शर्त थी कि वह पहले अपनी पत्नी को तलाक दे उसके बाद ही उसके साथ शादी करूंगी। इस बात के लिए रामू तैयार नहीं था। जिसके बाद वह मुझे मरने की धमकी भी देने लगा था। उसके बाद मैंने रामू से बातचीत कम कर दी थी। घटना वाले दिन भी रामू ने मुझे फोन किया था। उसने मुझे बोला था कि मैं आखिरी बार पूछ रहा हूं की तुम वापस आओगी की नहीं। मैंने उसे मना कर दिया था। युवती के बयान के बाद पुलिस ने रामू के फोन की कॉल रेकॉर्डिंग निकाल रही है।

यह भी पढ़ें:   Dowry Case: दहेजलोभी परिवार ने नाबालिग की जबरिया तय कर दी शादी
Don`t copy text!