Serial Killer Arrest: तंत्र—मंत्र से ऐसे ली 10 लोगों की जान, प्रसाद में छिपा था राज

Share

धन—दौलत लेकर मौत के मुंह में अपनी मर्जी से जाते थे लोग, मर्डर—2, संघर्ष, मॉम जैसी फिल्मों की कहानियां साबित करती अपराधी की यह कहानी

Serial Killer Arrest
सायको किलर के प्रचलित सांकेतिक चित्र

अमरावती। पुलिस के जिस अफसर ने सुना वह हैरान (Shock News) हो गया। जिस व्यक्ति से वह पूछताछ कर रहे थे उसने 10 लोगों को मारा (Serial Killing) था। मामला आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh Serial Killing) के गोदावरी (Godawari Serial Killing Case) जिले का है। यह हत्याकांड (Psycho Killer) उसने 2 साल के भीतर अंजाम दिया था। उसने दादी—भाभी सेे लेकर मकान मालकिन को भी नहीं बख्शा (Andhra Pradesh Brutal Murder) था। उसका पूरा खुलासा किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं हैं। वह तंत्र—मंत्र का झांसा देकर लोगों को करिश्माई प्रसाद (Cyanide) खिलाता था। इस प्रसाद के अंदर वह होता था जिसका राज मेडिकल साइंस (Medical Science) भी आसानी से पता नहीं लगा सकता था।

आपने सीरियल किलिंग पर आधारित अभिनेता इमरान हाश्मी (Actor Imran Hashmi) की मर्डर—2 (Murder 2) और आशुतोष राणा (Ashutosh Rana) अभिनीत फिल्म संघर्ष (Sangharsh) तो जरूर देखी होगी। यह दोनों फिल्में सीरियल किलिंग (Serial Killing) पर बनी थी। आशुतोष राणा की फिल्म नरबलि पर बनी थी। वहीं इमरान हाशमी की फिल्म महिलाओं के सिलसिलेवार हत्या (Women Serial Killer) करने वाले एक व्यक्ति पर बनाई गई थी। कुछ इसी फिल्म की तर्ज पर एक व्यक्ति लगातार लोगों को मौत के घाट उतार रहा था। वह दो साल में एक—दो नहीं बल्कि 10 हत्याएं कर चुका था। जिन लोगों को उसने मौत के घाट उतारा था उसमें तीन महिलाएं भी थी। मामला आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh Brutal Murder) के गोदावरी जिले का है। आरोपी प्रायवेट गार्ड की नौकरी करता था। आरोपी का नाम सिमाध्री उर्फ शिवा (Simadhri @ Shiva) है। उसके खिलाफ राजमुंदरी और एलुरू थाने में चार लोगों की हत्या (4 Murder) करने का मामला दर्ज है। बाकी 6 हत्या जिनमें मरने वाले के नाम और उसकी पहचान करने की चुनौती पुलिस के सामने बनी हुई है। आरोपी को इन हत्याकांड पर कोई अफसोस भी नहीं हैं। उसको भारी सुरक्षा बंदोबस्त में रखा जा रहा है। उसके आस—पास पहरे के दौरान भी चौकसी रखी जा रही है। फिलहाल वह पूछताछ के लिए पुलिस रिमांड पर हैं। पुलिस आरोपी से संबंधित परिवार और उसका ब्यौरा जुटा रही हैं।

यह भी पढ़ें:   Rapist Encounter: डॉक्टर के साथ बलात्कार के बाद हत्या के चारों आरोपी भागने की कोशिश में मारे गए

हर दो महीने में एक को मारा
आरोपी शिवा गार्ड से रियल स्टेट (Real Estate) का कारोबारी बन गया था। शिवा काफी खतरनाक अपराधी है। उसने पूछताछ में जो खुलासे किए हैं उससे पुलिस भी हैरान है। शिवा ने जिन लोगों की हत्या की उसमें उसकी भाभी— दादी भी शामिल है। इसके अलावा वह एक मकान जहां किराए से रहता था उसकी मालकिन की भी हत्या कर चुका है। उसने पूछताछ में बताया है कि वह एक पुजारी को भी मार चुका है। आरोपी ने बताया कि उसने पहला कत्ल फरवरी, 2018 में किया था। इसके बाद वह हर दो महीने में सिलसिलेवार 10 कत्ल करते चला गया।

ऐसे देता था हत्याकांड को अंजाम
आरोपी गार्ड से रियल स्टेट का कारोबारी बन गया था। इसलिए लोगों को उसकी तरक्की देखकर हैरानी होती थी। वह लोगों के पूछने पर बताया था कि उसके पास जादुई शक्ति (Magical Power) हैं। जिसकी मदद से वह दूसरों को भी अमीर बना सकता है। वह अपने पास जादुई चावल, सिक्के और दो सिर वाला सांप होने का दावा करता था। इनकी मदद से लोगों के पास मौजूद संपत्ति दोगुनी होने का वह लोगों को झांसा देता था। झांसे में आने वाले लोगों को वह तांत्रिक क्रिया के दौरान करिशमाई प्रसाद देता था। लेकिन, यह प्रसाद अमीर बनने के लिए वह लोगों को नहीं देता था। बल्कि उसमें सायनायड (Cyanide) मिलाकर उन्हें खिला देता था। जिसकी वजह से लोगों की मौत हो जाती थी।

इस कारण देता था सायनायड
आरोपी शिवा ने कबूला है कि उसने आखिरी हत्याकांड को गोदावरी जिले में अक्टूबर में अंजाम दिया है। दरअसल, जहां उसने वारदात की थी उस व्यक्ति की मौत तुरंत हो गई थी। इस कारण यह सामने आ गया था कि घर से जेवर और नकदी गायब हैं। गोदावरी जिले के पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपी यह जानता था कि सायनायड देने से सीधे मौत नहीं होती है। उसको देने के बाद ब्रैन स्ट्रोक, ​हार्ट अटैक आता है। इस कारण पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उसकी करतूत उजागर नहीं हो सकती थी।

यह भी पढ़ें:   20 वीं युवती की हत्या के मामले में भी दोषी करार, जानिए कौन है साइनाइड मोहन
Don`t copy text!