Bhopal Suspicious Death: दो दिन पहले लिखाई एफआईआर, पटरी पर मिली लाश

Share

Bhopal Suspicious Death: मारपीट से जोड़कर देखा जा रहा मामला, पुलिस ने अरोपों को बताया अफवाह

Bhopal Suspicious Death
मुकेश अहीरे जिसकी ट्रैक पर लाश मिली थी

भोपाल। संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत (Bhopal Suspicious Death) का एक मामला सामने आया है। घटना मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल की है। पुलिस को लाश पटरी पर मिली थी। शव की पहचान जिस व्यक्ति के रूप में हुई उसने मारपीट का रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इस जानकरी के बाद यह बोलकर चर्चा चर पड़ी कि उसी मामले के आरोपी उसको धमका रहे थे। हालांकि जांच कर रही पुलिस ने इन बातों को अफवाह बताया है। पुलिस का दावा है कि मौत की प्राथमिक जांच में वजह घरेलू कलह पता चर रही है।

ऐसे मिली थी लाश

हबीबगंज जीआरपी पुलिस ने बताया कि दो लड़के किसी व्यक्ति को खोजते हुए हबीबगंज रेल्वे स्टेशन पहुंचे थे। पूछताछ चल ही रही थी कि एक व्यक्ति की लाश गणेश मंदिर से सामने पटरी पर मिलने की खबर आई। पुलिस टीम के साथ दोनों लड़के भी घटना स्थल पर पहुंचे। व्यक्ति की पहचान मुकेश अहीरे पिता एकनाथ उम्र 34 साल निवासी जय भीम नगर पंचशील नगर के रुप में हुई। पुलिस ने शव हमीदिया अस्पताल पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था।

इस कारण दर्ज कराया था मुकदमा

Bhopal Suicide Case
सांकेतिक चित्र

टीटी नगर थाना पुलिस ने बताया बुधवार रात साढ़े दस बजे काउंटर केस दर्ज किया गया था। एक पक्ष की तरफ से मुकेश अहीरे (Mukesh Ahire) ने आरोपी अमन बाग, शुभम बाग और आनंद के खिलाफ शिकायत दर्ज की थी। वहीं दूसरी तरफ से अमन बाग (Aman Bag) ने मुकेश अहीरे और एकनाथ के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। इस मामले की जांच कर रहे एसआई रमेेेश यादव ने बताया दोनों पक्ष एक ही कॉलोनी में रहते हैं। मुकेश (Mukesh Ahire Suicide Case) प्रायवेट जॉब करता था। उसके पिता एकनाथ दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी है। पिता शराब पीकर मोहल्ले में लोगों के साथ गाली—गलौज करता था।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Dog Bite: नौ साल के बच्चे को कुत्ते ने बुरी तरह नोंचा

बेटी की सुनी थी बात

जांच अधिकारी एसआई रमेेेश यादव (SI Ramesh Yadav) ने बताया पिता की हरकतों के कारण दोनों पक्षों में मारपीट हुई थी। सभी को चोटें आई थी। पुलिस ने मेडिकल कराने के बाद दोनों को समझाईश देकर छोड़ दिया था। तभी मुकेश को बोलते हुए सुना था कि पिता के कारण पूरे मोहल्ले में बदनामी हो गई है। वह मर जाएगा लेकिन, दूसरा पक्ष उन्हें जान से मारने की धमकी नहीं दे रहा था। जांच अधिकारी ने कहा कि पूरे मामले में जबरिया अफवाह फैलाई जा रही है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!