Bhopal Suicide Case: मौत से तीन बार बचा लेकिन आखिर में ऐसा हुआ

Share

Bhopal Suicide Case: चौबीस घंटों के दौरान आत्महत्या के तीन मामले, पीएम के लिए भेजे गए शव

Bhopal Suicide Case
सांकेतिक चित्र

भोपाल। मौत से तीन बार बचते रहे व्यक्ति की आखिरकार ऐसे मौत (Bhopal Suicide Case) हो गई। उसे परिवार वालों ने कई बार बचाया था। परिवार उस पर चौकसी भी रखता था। घटना मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal Hanging Case) की है। इधर, चौबीस घंटों के भीतर आत्महत्याओं के दो अन्य मामले भी सामने आए हैं। शव पीएम के बाद परिजनों को सौंप दिए गए है।

शराब पीने का था आदी

छोला मंदिर थाना पुलिस ने बताया शुक्रवार रात आठ बजे लक्ष्मण ठाकुर पिता हीरालाल उम्र 45 साल ने आत्महत्या की है। जांच अधिकारी एसआई विनोद कुमार पंत ने बताया लक्ष्मण शिव नगर इलाके का रहने वाला था। उसके दो बेटे है। पत्नी घरों में सफाई का काम करती है। दोनों बेटे गोविंदपुरा इलाके में मजदूरी करते है। लक्ष्मण पेशे से हलवाई था। वह शराब पीने का आदी था। शराब के नशे में लक्ष्मण पहले भी आत्महत्या का प्रयास कर चुका था। लेकिन, परिजनों ने उसे हर बार बचाया। शुक्रवार रात परिजन घर पर नहीं थे। तभी लक्ष्मण ठाकुर ने साड़ी का फंदा बनाकर फंदे पर झूल गया।

यह भी पढ़ें: दिल्ली पुलिस के इस वर्दीधारी एसीपी की भोपाल पुलिस गुपचुप तरीके से कर रही है तलाश, जानिए क्यों

पेट दर्द से रहता था परेशान

ईटखेड़ी थाना प्रभारी करन सिंह ने बताया ओम प्रकाश पिता नन्हे लाल उम्र 45 साल ने पेड़ पर लटककर आत्महत्या की है। मृतक मूलत: बरेली में भार्गव कॉलोनी का रहने वाला हैं। उसको पेट दर्द की शिकायत रहती थी। तीन दिन पहले पत्नी के साथ काला पीपल झाड़फूंक के लिए गया था। ओम प्रकाश का छोला इलाके में ससुराल है। रात को तबीयत बिगड़ी तो ससुर ने उसके होशंगाबाद में रहने वाले साडू संतोष से मदद मांगी। दरअसल, उनके घर के सामने मालवीय अस्पताल है। जिसके डॉक्टर से साड़ू का अच्छा परिचय है।

यह भी पढ़ें:   MP IPS Transfer: डीआईजी और एआईजी के बीच कार्य विभाजन

बेटे से बुलवाए इलाज के पैसे

Bhopal Suicide Case
सांकेतिक फोटो

थाना प्रभारी ने बताया शुक्रवार सुबह पत्नी के साथ आॅटो से होशंगाबाद के लिए निकला। लेकिन, वहां नहीं जाकर परिवार एलबीएस अस्पताल पहुंच गया। पत्नी को बाहर टेबल पर बैठाकर अस्पताल में अंदर चला गया। उसके बाद वह गायब हो गया। भटकती हुई पत्नी पिता के पास पहुंची और सारी बात बताई। परिजन सारा दिन उसे तलाशते रहे। दोपहर में आत्महत्या करने वाले ओम प्रकाश ने बेटे भारत को फोन लगाया था। यह जांच में पुलिस को पता चला है। बेटे ने बताया कि उससे पिता ने इलाज के लिए पैसे बुलाए थे। रकम लेकर भारत दोपहर दो बजे भोपाल आ गया। इसी बीच रात में पुलिस को सूचना मिली की ग्राम बीनापुर स्थित अंजली धाम मंदिर के पास एक व्यक्ति की लाश फंदे पर लटकी है। जिसकी सूचना पुजारी ने दी थी। शव की पहचान ओम प्रकाश के रुप में है।

दस्तावेज से हुई पहचान

थाना प्रभारी ने बताया जेब में मृतक ओम प्रकाश का पता मिला था। पता बरेली का था इसलिए वहां के टीआई मनोज दुबे से संपर्क किया गया। टीआई ने बताया कि सारा परिवार भोपाल गया हुआ है। मनोज दुबे से मृतक के बेटे का नंबर लेकर घटना की जानकारी उसको दी। शनिवार सुबह पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। इधर, कोलार थाना पुलिस ने बताया विक्रम पिता राजमल मीणा उम्र 20 साल ने टीन शेड से लटककर रस्सी से फांसी लगा ली है। पुलिस ने मर्ग कायम कर शव पीएम के लिए भेज दिया है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Loot: बुजुर्ग महिला से छीनी चेन

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!