Bhopal Suspicious Mishap: लॉक डाउन में विधवा से बिल्डर करा रहा था मजदूरी

Share

Bhopal Suspicious Mishap: हादसे में हुई मौत के बाद घटनाक्रम को बदला गया, बिल्डर को पुलिस ने क्लीन चिट दी

Bhopal Suspicious Mishap
यह है सीसीटीवी कैमरा जिसको तोड़ा गया

भोपाल। रविवार को पूरे प्रदेश में लॉक डाउन रहता है। इसके बावजूद एक बिल्डर मजदूरी करा रहा था। इस दौरान हुए एक हादसे में विधवा महिला मजदूर की मौत (Bhopal Suspicious Mishap) हो गई। जिसको छुपाने के लिए घटनाक्रम बदला गया। मामला मध्य प्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) का है। यह पूरी घटना रीगल बिल्डर एंड डेवलपर्स (Regal Builder & Developers) की साइट की है। हालांकि देर रात तक पुलिस ने परिस्थितियां साफ की। जिसमें बिल्डर को क्लीनचिट दे दी गई। पूरे घटनाक्रम का दोषी जेसीबी के ड्रायवर को मान लिया गया। मौके पर सीसीटीवी भी तोड़े गए थे।

बिल्डर की सफाई पर जांच अधूरी

अवधपुरी स्थित रीगल बिल्डर एंड डेवलपर्स सिविक सेंटर का निर्माण कर रहे हैं। इसके संचालक केएल शर्मा (KL Sharma) है। यहां साइट पर वल्लभ नगर निवासी इंद्रा बाई पति कमल सिंह उम्र 50 साल काम कर रही थी। वह रेत हटा रही थी ऐसा दावा संचालक केएल शर्मा (Builder KL Sharma) ने किया है। उन्होंने कुछ मीडिया को ऐसा बयान दिया है। शर्मा का दावा है कि जेसीबी ड्रायवर दीपक बैन (Deepak Ben) उसको रिवर्स कर रहा था। तभी यह हादसा हुआ। घटना रविवार दोपहर लगभग साढ़े बारह बजे हुई थी। लेकिन, मामला शाम पांच बजे तब उजागर हुआ जब परिजनों ने हंगामा किया।

यह भी पढ़ें: डिप्टी रेंजर की बेटी की अस्मत लूटी, परेशान मां ने महिला अफसर से लिया सहारा

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: छह साल की बेटी और पत्नी को छोड़ भागा पति

घटना और सबूत बदले गए

Bhopal Regal Town
यहां लगा था कैमरा जिसको सीढ़ी लगाकर हटाया गया

इस पूरे मामले में केएल शर्मा को फिलहाल पुलिस ने क्लीन चिट दी है। दरअसल, इंद्रा को जेसीबी ड्रायवर ही अस्पताल ले गया था। किसी तरह की एम्बुलेंस नहीं बुलाई गई थी। अस्पताल में दीपक ने बताया कि वह सिविक सेंटर से गिरकर जख्मी हुई है। लेकिन, मौके पर घटना के दृश्य अलग थे। हालांकि पुलिस फिर भी खामोश रही। मामले में जब मीडिया सामने आया तो पुलिस ने सच बोला। दरअसल, साइट पर लगे कैमरों को तोड़ा भी गया था। हालांकि यह किसने तोड़ा इसकी जांच की जाना अभी बाकी है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!