MP Political News: दमोह की दंगल में छिड़ी जुबानी जंग

Share

MP Political News: भाजपा मुख्यालय पहुंचा चुनाव हारने का मामला, संगठन ​स्तर पर होगी जांच, भीतरघात वालों की होगी तलाश

MP Political News
भोपाल में प्रदेश भाजपा मुख्यालय

भोपाल। मध्य प्रदेश (MP Political News) के दमोह में उप चुनाव के परिणाम से आहत भाजपा उम्मीदवार राहुल लोधी की खुलकर की गई बयानबाजी का मामला भाजपा मुख्यालय पहुंच गया है। वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Narrottam Mishra) ने इस पूरे मामले में बयान दिए हैं। इधर, खबर है कि भाजपा संगठन ने भी चुनाव हारने के मामले को गंभीरता से ले लिया है। पड़ताल के लिए एक आंतरिक जांच दल का गठन किया गया है। मामला केंद्रीय नेतृत्व के पाले में भी पहुंचाने की पूरी तैयारी चल रही है।

जयचंदों की होगी तलाश

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने अपने बयान में कहा कि दमोह चुनाव में भाजपा अपनी समीक्षा कर रही है। वह जयचंदों की तलाश कर रही है। इधर, राहुल लोधी (Rahul Lodhi) के बयान पर पूर्व मंत्री जयंत मलैया ने भी पलटवार किया है। उन्होंने कहा है कि राहुल लोधी जनता के बीच अपनी छवि नहीं बना सके। इसका ठीकरा वह सोची—समझी रणनीति के तहत दूसरे पर फोड़ना चाह रहे है। उन्होंने भी कहा कि वे संगठन और नेतृत्व को इस बारे में शिकायत करेंगे। मलैया ने कहा कि दमोह में तो केंद्रीय मंत्री का भी निवास है। इसलिए केवल उन्हें दोषी ठहराना एक सोची—समझी रणनीति है। इसका मैं विरोध करुंगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने इस बारे में बताया है। मामला हमारे संज्ञान में है। समीक्षा के बाद उचित कदम उठाए जाएंगे।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Court News: जालसाज गिरोह के दो साथियों को जेल भेजा

यह भी पढ़िएः जिस प्लांट के जरिए सरकार अपनी सांस को बचा रही है उसे बंद करने के लिए भाजपा की ही विधायक यह बोलकर बंद कराना चाहती है

भाजपा के भीतर बवंडर

MP Political News
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

दमोह चुनाव के असर दूसरे जिलों में देखने को मिल सकते हैं। दरअसल, कई जिलों में उपेक्षा को लेकर पहले ही विरोध के सुर गूंज रहे थे। कई मौकों पर पूर्व मंत्री अजय विश्नोई और नारायण त्रिपाठी बयान देकर भाजपा के लिए संकट खड़े करते आए है। अब ऐसे ही कई अन्य असंतुष्ट नेता लामबंद हो सकते हैं। इस असंतोष को रोकने के लिए दमोह के जयचंदों को चिन्हित करके संगठन सख्त संदेश देने की तैयारी कर रहा है। इसके लिए संगठन स्तर पर भीतर ही भीतर जांच करने की रणनीति पर काम चल रहा है। मंडल और बूथ स्तर पर तैनात कार्यकर्ताओं के संबंध में जानकारी जुटाई जा रही है। हालांकि भाजपा नेता इस बात को अपना आंतरिक विषय बता रहे हैं।

Don`t copy text!