Bhopal Crime News: कवर्ड कैंपस में ले रखी थी दो बच्चों के कातिल पिता ने पनाह

Share

Bhopal Crime News: लोगों को तंत्र—मंत्र का झांसा देकर रकम ऐंठने में माहिर, एसपी ने घोषित किया था पांच हजार रुपए का इनाम

Bhopal Crime News
दो बच्चों का कातिल पिता अशोक अहिरवार उर्फ नरेन्द्र राजपूत जो भोपाल के मिसरोद इलाके से नाटकीय अंदाज में गिरफ्तार हुआ

भोपाल। अपने ही दो मासूम बच्चों को मारने वाला पिता शहर की एक पॉश कॉलोनी में पनाह लेकर ठहरा हुआ था। घटना मध्य प्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) की है। उसने अपने दो बच्चों को जहर देकर मौत के घाट उतार (Vidisha Double Murder Case) दिया था। वह जादू—टोना करने में अपने आपको माहिर बताता था। इसी साधना का दावा करके उसने कई लोगों को झांसा दे रखा था। घटना मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की है। उसकी तलाश विदिशा (Vidisha Crime News) पुलिस को थी। पुलिस ने उस पर पांच हजार रुपए का इनाम भी रखा था। हालांकि अब वह सीखचों के पीछे हैं।

ऐसे चला लोगों को पता

मिसरोद स्थित निरुपम पाम सिटी (Nirupam Palm City News) को पॉश कॉलोनी कहा जाता है। इस कॉलोनी में कई रसूखदारों के बंगले भी है। कुछ बंगले आईएएस और आईपीएस अफसरों के भी है। इन्हीं में से एक बंगले में नरेन्द्र राजपूत (Narendra Rajput) नाम का एक व्यक्ति रहता था। उसके पास कार भी थी और वह बकायदा सारे शोक पूरे करता था। उसको देखकर कोई यकीन नहीं कर सकता था कि उसने दो बच्चों का कत्ल (Vidisha Children Murder Case) किया है। उसकी गिरफ्तारी पर विदिशा एसपी ने पांच हजार रुपए का इनाम भी घोषित किया था।

गिरफ्तारी को राज रखा गया

यह गिरफ्तारी विदिशा जिले के सिरोंज थाना पुलिस ने की थी। लेकिन, मदद भोपाल क्राइम ब्रांच (Bhopal Crime News) ने की। लेकिन, इस गिरफ्तारी को क्राइम ब्रांच ने आधिकारिक रुप से नहीं बताया। दरअसल, उसकी वजह नरेन्द्र राजपूत का घर था। जिसको लेकर पुलिस के अफसरों को भी सांप सूंघ गया था। इस मामले में सिरोंज थाना प्रभारी योगेन्द्र दांगी (Yogendra Dangi) ने बताया कि नरेन्द्र राजपूत को लगभग 12 दिन पहले गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तारी की सारी कार्रवाई भोपाल क्राइम ब्रांच ने की है। लेकिन, भोपाल क्राइम ब्रांच कोई ठोस जानकारी नहीं दे सकी।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Court News : 31 मामलों का आरोपी "जहरीला" बोला मुझे फंसाया

यह भी पढ़ें: राजधानी का कोचिंग संचालक जो भोपाल के एक निजी अस्पताल के संचालक को लाखों रुपए की चपत लगाकर भागा

नाम बदलकर रह रहा था

सिरोंज पुलिस (Sironj News) को जिस व्यक्ति की तलाश थी उसका नाम अशोक अहिरवार था। लेकिन, भोपाल (Bhopal Crime News) के मिसरोद इलाके में रहने वाला व्यक्ति नरेन्द्र राजपूत (Narendra Rajput) बनकर ठहरा हुआ था। अशोक अहिरवार (Ashok Ahirwar) ने अपने दो बच्चों 12 वर्षीय आकाश (Akash Killing) और 10 वर्षीय बेटी साक्षी (Sakshi Murder Case) की जहर देकर हत्या कर दी थी। इस हादसे में एक बच्चा बच गया था। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 302/307/309 (हत्या, हत्या के प्रयास और आत्महत्या) की कोशिश का मुकदमा (Vidisha Brutal Murder Case) दर्ज किया था। इस मामले में उसको अदालत से जमानत मिल गई थी। इसी जमानत के बाद वह फरार हो गया था।

कई लोगों की रकम हड़पी

अशो​क अहिरवार उर्फ नरेन्द्र राजपूत काफी शातिर है। उसकी पत्नी की मौत भी आज तक पहेली बनी हुई है। वह तंत्र—मंत्र (Vidisha Tantra Mantra Murder Case) का जानकार अपने आपको बताता था। वह यह कहकर ही लोगों को झांसे में लेता था। उसने कई लोगों से मोटी रकम भी ऐंठ ली थी। ऐसे ही एक व्यक्ति ने अपनी तरफ से वकील महेश सिंह दांगी (Advocate Mahesh Dangi) की मदद से जिला अदालत में अर्जी लगाई है। अर्जी में अशोक अहिरवार उर्फ नरेन्द्र राजपूत की जमानत का विरोध किया जा रहा है। उसने तंत्र—मंत्र का झांसा (Bhopal Cheating Case) देकर 70 हजार रुपए ऐंठ लिए थे। ऐसे ही कई लोगों को उसने फंसाया है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime News : बलि दे रहे थे तभी गर्म सब्जी फेंक दी

यह भी पढ़ें: भोपाल के एक बिल्डर के जेसीबी ड्रायवर ने पूरे घटनाक्रम को बदल दिया, सबूत मिटाने सीसीटीवी कैमरे भी तोड़े

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!