Bhopal Cyber Crime: घोड़े की पेंटिंग बेचने के नाम पर फर्जीवाड़ा

Share

Bhopal Cyber Crime: ओएलएक्स पर अपलोड थी कीमती चित्र, रिवार्ड के नाम पर धोखाधड़ी

Bhopal Cyber Crime
सांकेतिक चित्र-साभार

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की ताजा न्यूज (Bhopal Cyber Crime) कमला नगर इलाके से मिल रही है। यहां थाने में सायबर क्राइम से जुड़े तीन मामले दर्ज किए गए है। एक मामले में घोड़े की कीमती पेंटिंग बेचने के नाम पर फर्जीवाड़ा किया गया। यह तस्वीर ओएलएक्स पर अपलोड की गई थी। इसके अलावा दो अन्य सायबर फ्रॉड के है। जिसमें एक परिवार पुलिस अफसर का भी है। तीनों मामलों में शातिर जालसाजों ने करीब 56 हजार रुपए ऐंठ लिए हैं।

लिंक क्लिक करते फोन हुआ हैंग

कमला नगर थाना पुलिस ने सायबर फ्रॉड से संबंधित तीन मुकदमे दर्ज किए हैं। पहली शिकायत सी—सेक्टर नेहरु नगर निवासी नीतेश खातकर पिता देवराज खातकर ने दर्ज कराई है। उसके खाते से करीब 15 हजार रुपए निकाल लिए गए। उसको एक कॉल आया था। जिसने फोनपे भारत का कर्मचारी बनकर बातचीत की थी। उसने कहा था कि एप रिवार्ड पाइंट पर उसको 2499 रुपए भेजे गए हैं। लिंक को क्लिक करने के बाद यूपीआई कोड डालने बोला गया। ऐसा करते ही नीतेश खातकर (Neetesh Khatkar) का मोबाइल हैंग हो गया। कॉल डिसकनेक्ट भी हो गया था। इसके बाद खाते से रकम निकल गई।

यह भी पढ़ें: यदि आपने दोस्त बनाने के लिए इस डेटिंग एप्प को डाउनलोड किया है तो उन चेहरों के बारे में जान लीजिए जो आपके लिए मुश्किलें खड़ी करेंगी

पुलिस अफसर का परिवार झांसे में आया

Bhopal Cyber Crime
थाना कमला नगर—फाइल फोटो

इसी तरह दूसरा मुकदमा आराधना नगर कोटरा सुल्तानाबाद निवासी विजय आसुदानी पिता रमेश आसुदानी ने शिकायत की थी। उन्होंने ओएलएक्स के जरिए काले घोड़े की मूर्ति खरीदने के लिए संपर्क किया था। मूर्ति बेचने वाले ने अपना परिचय केरल निवासी रानोला राजन बताया था। सौदा 30 हजार रुपए में तय हुआ था। इसमें से एडवांस में विजय आसुदानी (Vijay Asudani) ने 20 हजार रुपए दे दिए थे। उसने यह रकम एमपी नगर स्थित आईसीआईसीआई बैंक से ट्रांसफर किए थे। इसके अलावा जालसाजी का तीसरा मुकदमा पुलिस रेडियो कॉलोनी निवासी रितेश पांडे (Ritesh Pande) ने दर्ज कराई है। उसके खाते से साढ़े इक्कीस हजार रुपए निकाल लिए गए हैं। इस संबंध में थाना पुलिस कोई जानकारी नहीं दे सकी है। दरअसल, पीड़ित परिवार पुलिस विभाग के अफसर से जुड़ा है।

यह भी पढ़ें:   पुलिस थी बेखबर, जेल से छूटकर कर रहा था वारदात
Don`t copy text!