Bhopal Court News: हत्या के मामले में मां—बेटे दोषी करार

Share

Bhopal Court News: आजीवन कारावास की अदालत ने सुनाई सजा, पुलिस कांस्टेबल के भाई की अवधपुरी इलाके में हुई थी हत्या

Bhopal Court News
जिला एवं सत्र न्यायालय, भोपाल — फाइल फोटो

भोपाल। न्यायाधीश स्मृनता सिंह ठाकुर की अदालत ने हत्या और हत्या की कोशिश के एक मामले में अपना फैसला सुनाया है। यह घटना भोपाल (Bhopal Court News) सिटी के अवधपुरी थाना क्षेत्र की है। इसमें आरोपी मां—बेटे बनाए गए थे। जिनके खिलाफ दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद अदालत ने आजीवन कारावास की सजा का फैसला सुनाया।

यह दी गई है सजा

भोपाल जिला अदालत मीडिया प्रभारी अरविंद सिंह दांगी ने बताया कि न्यायालय दशवें अपर सत्र न्या्याधीश की अदालत में प्रकरण 208/21 चल रहा था। यह मामला थाना अवधपुरी थाने में दर्ज 441/20 का था। इसमें आरोपी विजय परमार और उसकी मां भगवती बाई हैं। दोनों को दोषी करार देते हुए अदालत ने धारा 302 में प्रत्येक को (Bhopal Court News) आजीवन कारावास और 500—500 रूपए अर्थदंड। इसी तरह धारा 307 में प्रत्येक को 10—10 वर्ष सश्रम कारावास और 500—500 रूपए अर्थदण्ड और धारा 323 में 6—6 माह का सश्रम कारावास एवं 200—200 रूपए का अर्थदंड की सजा दी गई है। राशि जमा न करने पर प्रत्येक को 03—03 माह का अतिरिक्त सजा भोगनी होगी। शासन की ओर से पैरवी राम कुमार खत्री ने की थी।

क्या था यह पूरा मामला

Bhopal Court News
थाने में गिरफ्तार अरोपी मां—बेटे- FilePhoto

अवधुपरी स्थित युगांतर कॉलोनी (Yugantar Colony Murder Case) निवासी शेखर भदौरिया की चाकू लगने से 1 अक्टूबर, 2020 को मौत हो गई थी। शेखर का बड़ा भाई विकास भदौरिया (Vikas Bhadouriya) पिपलानी थाने में कांस्टेबल हैं। उसको पिता के निधन के बाद अनुकंपा नियुक्ति मिली थी। शेखर और विकास की बहन की शादी युगांतर कॉलोनी में रहने वाले विजय परमार (Vijay Permar) के साथ हुई थी। वह घटना वाले दिन पत्नी को पीट रहा था। जिसकी खबर शेखर भदौरिया और उसकी मां मीरा भदौरिया (Meera Bhadouriya) को लगी थी। दोनों तुरंत ही बेटी के घर पहुंचे थे। यहां विजय परमार और उसकी मां भगवती बाई (Bhagvati Bai Permar) विवाद कर रहे थे। वह दोनों शेखर की बहन को भला बुरा कह रहे थे। शेखर उर्फ कमलेश भदौरिया ([email protected] Bhadouriya) के बहन की शादी जनवरी, 2020 में हुई थी। विजय परमार नशा करने के बाद पत्नी से झगड़ रहा था। वह अक्सर ऐसा करता था। विजय परमार के घर में सीसीटीवी कैमरे भी लगे थे। जिसमें यह बात साफ हो गई थी कि हत्या विजय परमार ने की है। उस वक्त मामले की जांच और कार्रवाई अवधपुरी थाने के तत्कालीन प्रभारी विजय त्रिपाठी (SI Vijay Tripathi ) की थी।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Brutal Murder: हिरासत में लिए राजा के कातिल

यूक्रेन में महिला हिंसा की वह दास्तां जो दुश्मनी की वजह से रूसी सैनिकों के निशाने पर आईं

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal Court News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!